scorecardresearch

दिल्ली में कोरोना के मामले और संक्रमण दर में वृद्धि, चौबीस घंटे में 13,785 मरीज, संक्रमण दर 23.86 फीसद

राजधानी में मंगलवार की तुलना में बुधवार को कोरोना संक्रमण के नए मामलों के अलावा संक्रमण दर में बढ़ोतरी दिखी है।

Corona, 1300% jump, UP Voting, PM Modi, Review Meeting
प्रतीकात्मक तस्वीर(फोटो सोर्स: PTI/फाइल)।

राजधानी में मंगलवार की तुलना में बुधवार को कोरोना संक्रमण के नए मामलों के अलावा संक्रमण दर में बढ़ोतरी दिखी है। बुधवार को कोरोना के 13,785 नए मामले आए और संक्रमण दर 23.86 फीसद रही। चौबीस घंटे में 35 और लोगों की मौत दर्ज की गई है। मंगलवार को 11,684 नए मामले आए थे। संक्रमण दर 27.99 फीसद थी और 38 मरीजों की मौत हुई थी जो पहले की तुलना में 12 ज्यादा है। सोमवार को 24 मरीजों की मौत हुई थी।

कोविड-19 के 12,527 नए मामले सामने आए थे और संक्रमण दर 27.99 फीसद दर्ज हुई थी। रविवार को इससे ज्यादा मामले सामने आए थे। रविवार को 18,286 मामले आए थे और संक्रमण दर 27.87 फीसद थी, महामारी से इस दिन 28 मरीजों की मौत हुई थी। दिल्ली सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार को 57,776 लोगों की जांच हुई। मंगलवार को 52,002 लोगों की कोरोना जांच हुई थी जिसमें 11,684 लोग कोरोना संक्रमित मिले। सोमवार को 44,762 और रविवार को 65,621 लोगों की कोरोना जांच हुई थी। संक्रमण दर शनिवार के 30.64 फीसद से घटकर रविवार को 27.87 फीसद हो गई थी।

दिल्ली में शनिवार को संक्रमण के 20,718 मामले सामने आए थे तथा 30 और मरीजों की मौत हुई थी। दिल्ली के अस्पतालों में इस समय कुल 2,734 कोविड मरीज भर्ती हैं जिनमें से 147 वेंटिलेटर पर हैं। स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी दी कि दिल्ली में वर्तमान में 75,282 उपचाराधीन मामले हैं, जिनमें से 58501 मरीज गृह एकांतवास में हैं।

ओमीक्रान का खतरा बढ़ा, बजने लगी सहायता केंद्र की घंटी

ओमीक्रान के बढ़ते मामलों ने दिल्ली वालों को डरा दिया है। दिल्ली सरकार की ओर से किसी भी प्रकार की मदद के लिए शुरू किए गिए काल सेंटर में लोग फोन करके सबसे ज्यादा आमीक्रान के असर और इसकी पहचान के बारे में पूछ रहे हैं। कोरोना के नए बहुरूप ओमीक्रान के मामले सामने आने के बाद ऐसे फोन काल की संख्या बढ़ी है। इनमें बूस्टर डोज लगवाने के लिए भी लोग जानकारी ले रहे हैं।

दिल्लीवालों को कोरोनाकाल में मदद पहुंचाने के लिए दिल्ली सरकार ने काल सेंटर 1031 व 1800111031 की शुरुआत की थी। दूसरी लहर में इस पर स्वास्थ्य संबंधित व अन्य जानकारियां लेने वाली की संख्या अधिक थी। हालांकि मामलों में आई कमी के बाद फोन की घंटी घनघनानी भी कम हो गई थी। लेकिन ओमीक्रान आने के बाद एक बार फिर से इससे संबंधित जानकारियां लेने वालों की संख्या बढ़ी है। यह केंद्र हर दिन करीब 350 से 450 के बीच काल का जवाब दे रहा था। जो 31 जनवरी, 2022 से बढ़कर औसतन 1500 तक पहुंच गया है।

उत्तर पूर्व जिला दंडाधिकारी (डीएम) गीतिका शर्मा बताती हैं कि काल सेंटर के माध्यम से घर में एकांतवास कर रहे मरीजों को सबसे अधिक राहत हुई है। काल सेंटर की मदद से 65 चिकित्सक जोड़े गए हैं जोकि बतौर विशेषज्ञ मरीजों को जानकारी उपलब्ध करवा रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट