ताज़ा खबर
 

पटना एम्स में फूटा कोरोना बमः अस्पताल के 384 डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ हुए कोरोना पॉजिटिव

बिहार में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के बीच एम्स पटना के 384 डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

hospitalतस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Pixabay)।

बिहार में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के बीच एम्स पटना के 384 डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (NMCH) में लगभग 70 कर्मचारी संक्रमित हैं। पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (PMCH) में भी लगभग 130 कर्मचारी वायरस से पीड़ित हैं। राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था 500 डॉक्टरों, नर्सों, लैब तकनीशियनों और अन्य कर्मचारियों के कोरोनो वायरस से संक्रमित होने के चलते प्रभावित हुई है। यही नहीं, 200 से अधिक पुलिसकर्मी भी कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं।

गौरतलब है कि मंगलवार को कोरोना से 51 मौतें दर्ज की गईं। जिसमें बिहार की राजधानी पटना में सबसे ज्यादा मौत हुईं। इसके बाद कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 1841 पर पहुंच गया है। राज्य में कोरोना के 10,455 नए मामले दर्ज किए गए। राज्य में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 3,42,059 हो गई है। ताजा मौतों में, पटना और गया में 11-11 लोगों की मौत हुई, जबकि भागलपुर में 5 लोगों की मौत हुई, जबकि 4-4 लोगों की मौत जहानाबाद और पश्चिम चंपारण में हुई। औरंगाबाद, मुंगेर में तीन-तीन लोगों ने जान गंवाई। दरभंगा और मुजफ्फरपुर में दो-दो लोग मारे गए। अरवल, बांका, भोजपुर, लखीसराय, मधेपुरा और नवादा में एक-एक मौत दर्ज की गईं। बिहार में इस समय लगभग 50 हजार से ज्यादा एक्टिव COVID-19 मामले हैं और पिछले 15 दिनों में लगभग 150 मौतें दर्ज की गई हैं। अकेले राजधानी पटना में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ और पिछले 24 घंटों में 2186 मामले और 11 मौतें दर्ज की गईं।

कोरोनो वायरस प्रभावित जिलों में गया (1081), मुजफ्फरपुर (544), सारण (530), भागलपुर (449) नालंदा (375), औरंगाबाद (350), बेगूसराय (346) शामिल हैं। राज्य में हर दिन 1 लाख से अधिक सैंपल का टेस्ट किया जा रहा है।

इस बीच बढ़ते मामलों के कारण, राज्य में पंचायत चुनाव भी स्थगित कर दिए गए हैं। इससे पहले, बिहार की विपक्षी पार्टियों ने राज्य में आसन्न पंचायत चुनावों को स्थगित करने का आह्वान किया था, क्योंकि राज्य और देश भर में कोविड -19 मामलों में तेजी से उछाल आया है।

इस बीच, टीकाकरण के मोर्चे पर, 93,164 नागरिकों को मंगलवार को टीका लगाया गया, जबकि अब तक कुल 61,68,593 टीका लगाए गए हैं। नीतीश कुमार सरकार ने रविवार रात से ही राज्य भर में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लगा दिया था।

Next Stories
1 नहीं मिली ऑक्सीजन तो HC पहुंचा मैक्स, कोर्ट की केंद्र को फटकार, कहा- तत्काल हो गैस की आपूर्ति
2 संबित की बातों पर बोले एंकर- भविष्य छोड़ आज की बात करें, लोग मर रहे चीत्कार कर रहे, क्या आपको नहीं दिखता
3 कोविड संकट पर पप्पू यादव ने कसा मोदी पर तंज तो बीच में कूदे अर्णब, बोले- आप लक्ष्मण रेखा पार कर रहे, मिला करारा जवाब
यह पढ़ा क्या?
X