ताज़ा खबर
 

कोरोना और लखनऊ: बीजेपी सांसद ने ही योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखकर खोल दी पोल

उत्तर प्रदेश से बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने सूबे की राजधानी लखनऊ में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोलते हुए सीएम योगी को एक शिकायती चिट्ठी लिखी है।

uttar pradeshउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। (Indian Express)।

उत्तर प्रदेश से बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने सूबे की राजधानी लखनऊ में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोलते हुए सीएम योगी को एक शिकायती चिट्ठी लिखी है। सांसद ने लिखा है कि किस तरह मरीज बिस्तर के बिना सड़क पर दम तोड़ रहे हैं। इस बाबत नेता ने मुख्यमंत्री से संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने की मांग की है।

सांसद ने लिखा है कि चिकित्सा संस्थान केजीएमयू के कुलपति 5 अप्रैल को कोविड-19 पॉजिटिव होने के चलते 17 अप्रैल तक नहीं आए और उसके बाद 8 मई तक के लिए लंबी छुट्टी पर दिल्ली चले गए हैं। सांसद ने शिकायती पत्र में लिखा है कि रेस्पिरेट्री मेडिसिन,पलमनरी, क्रिटिकल केयर मेडिसिन के प्रोफेसर कोविड वॉर्ड में ड्यूटी नहीं करते हैं और दिनभर मीडियाबाजी में व्यस्त रहते हैं। नेता ने लिखा कि रेस्पिरेट्री मेडिसिन में 100 से ऊपर ऑक्सीजन और आईसीयू बेड हैं लेकिन इन पर मरीजों की भर्ती नहीं की जा रही है। इस त्रासदी में भी सभी बेड खाली पड़े हैं।

सांसद ने लिखा है कि केजीएमयू पलमनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन आम जनता के स्थान पर सजायाफ्ता व अन्य मरीजों का आरामगाह बना हुआ है। इस विभाग में 2 टीचर हैं जिसमें से एक सलाहकार हैं एवं दूसरे मीडियाबाजी में व्यस्त रहते हैं और मरीजों को जूनियर डॉक्टरों के भरोसे छोड़ दिया जाता है।

सांसद ने मांग की है कि केजीएमयू की चौथी मंजिल सहित खाली पड़े बेड पर मरीजों को भर्ती कर राहत दी जाए। नेता ने लिखा है कि बलराम कोविड-19 अस्पताल में 20 वेंटिलेटर में से सिर्फ 5 ही काम करते हैं। जबकि हाल में सरकार ने करोड़ों का बजट जारी किया है।

सांसद ने मांग की है कि मरीजों का उपचार न कर, मीडिया में व्यस्त रहने वाले डॉक्टरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। बेड मरीजों को दिए जाएं जिससे कोई मरीज सड़क पर ऑक्सीजन के अभाव में दम ना तोड़े।

नेता ने मांग की है कि बेड खाली रहने के बाद भी अगर बिना बेड के कोविड-19 से मौत होती है तो संबंधित लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए।

Next Stories
1 कोरोना पॉजिटिव होने के बाद एम्स के डॉक्टर ने खुद को किया आइसोलेट-बोले- नहीं पता कि अस्पताल में बेड मिलेगा कि नहीं
2 दिल्ली दंगाः कोर्ट ने जांच में सीनियर अफसरों की निगरानी के अभाव पर DP को लगाई फटकार
3 सांसों संग रिश्ते भी तोड़ने लगा कोरोना! मां हुईं संक्रमित तो कानपुर में ‘कलयुगी बेटे’ ने घर से निकाला, मौत; FIR दर्ज
आज का राशिफल
X