ताज़ा खबर
 

बीजेपी के कब्जे वाले नगर निगम में “जन-गण-मन” गाते-गाते पार्षद बीच में गाने लगे “वंदे मातरम”, विवाद गहराया

विपक्षी पार्षदों ने नगर निगम के सम्मेलन में हुई चूक को राष्ट्रगान के अपमान का मामला करार देते हुए दोषी लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है।

Author इंदौर | June 12, 2019 10:04 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (Express photo by Vishal Srivastav)

मध्य प्रदेश के इंदौर नगर निगम के बजट सम्मेलन के दौरान कुछ लोगों की गफलत के कारण बुधवार को विवाद खड़ा हो गया, जब राष्ट्रगान “जन-गण-मन” का गायन बीच में रोककर अचानक राष्ट्रगीत “वंदे मातरम” गाना शुरू कर दिया। इस वाकये का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसके एक दृश्य में महापौर और स्थानीय भाजपा विधायक मालिनी लक्ष्मण सिंह गौड़ भी दिखायी दे रही हैं। इंदौर नगर निगम पर भाजपा का कब्जा है।

चश्मदीद सूत्रों ने बताया कि नगर निगम के बजट सम्मेलन की शुरुआत के दौरान पार्षदों और अन्य लोगों ने राष्ट्रगान (जन-गण-मन) गाना शुरू कर दिया। वहां उपस्थित अन्य लोगों ने भी इसका समवेत स्वर में अनुसरण शुरू कर दिया। लेकिन गलती का अहसास होते ही निर्वाचित जन प्रतिनिधियों के सम्मेलन में कुछ ही सेकंड बाद “जन-गण-मन” को अधूरा छोड़ दिया गया और अचानक “वंदे मातरम” का गायन शुरू कर दिया गया। फिर इस राष्ट्रगीत को पूरा गाया गया।

बहरहाल, कुछ विपक्षी पार्षदों ने नगर निगम के सम्मेलन में हुई चूक को राष्ट्रगान के अपमान का मामला करार देते हुए दोषी लोगों की पहचान कर उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है। इस बारे में पूछे जाने पर नगर निगम के सभापति अजय सिंह नरूका ने “पीटीआई-भाषा” से कहा, “यह चूक संभवत: किसी पार्षद की जुबान फिसलने से हुई। हालांकि, इस चूक के पीछे मुझे किसी की कोई दुर्भावना प्रतीत नहीं होती। लिहाजा इस मामले को बेवजह तूल नहीं दिया जाना चाहिये।” उन्होंने कहा कि यह पुरानी परंपरा है कि नगर निगम के सत्र की शुरूआत में राष्ट्रगीत “वंदे मातरम” गाया जाता है, जबकि राष्ट्रगान “जन-गण-मन” के गायन के साथ सदन का सत्रावसान होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X