ताज़ा खबर
 

सीलबंद घर का ताला तोड़ते दिखे दिल्‍ली बीजेपी प्रमुख मनोज तिवारी, वीडियो पर बवाल

दिल्ली के भाजपा अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी द्वारा एक सीलबंद घर का ताला तोड़ने के बाद विवाद खड़ा हो गया है। अरविंद केजरीवाल ने इसे भाजपा द्वारा आम लोगों को बेवकूफ बनाने का काम बताया। वहीं, कांग्रेस ने इस्तीफे की मांग की।

मनोज तिवारी सीलबंद घरों का ताला तोड़ते दिखे। (Photo: Video grab)

दिल्ली के भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी द्वारा एक सीलबंद घर का ताला तोड़ने का वीडियो सामने आने के बाद विवाद खड़ा हो गया है। यह वीडियो दिल्ली के गोकलपुर का है। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने इस वीडियो को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। वीडियो को दिल्ली के भाजपा शासित नगर निगम से जोड़ दिया है। भाजपा सांसद के इस्तीफे की मांग की गई है। वहीं, मनोज तिवारी ने कहा कि, “यदि यहां 1000 घर हैं तो सिर्फ एक ही को सील क्यों किया गया। मैं इसका विरोध करता हूं।” दरअसल एक वीडियो सामने आया है जिसमें यह दिख रहा है भाजपा सांसद मनोज तिवारी दिल्ली के एक कॉलोनी में पहुंचे हैं, जहां एक घर को सील किया गया है। मनोज तिवारी के साथ काफी संख्या में उनके समर्थक और स्थानीय लोग भी मौजूद हैं। सबकी मौजूदगी में मनोज तिवारी ने सील को तोड़ दिया।

इस पूरे मामले पर आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि नोटबंदी और जीएसटी के बाद भाजपा ने सीलिंग कर के पूरी दिल्ली को बर्बाद कर दिया है। उन्होंने कहा, “वे (भाजपा) खुद ही सुबह सीलिंग करते हैं और खुद ही शाम को जाकर ताला तोड़ देते हैं। इन्हें क्या लगता है कि लोग बेवकूफ हैं।”

दिल्ली कांग्रेस, जो शहर में सीलिंग के मुद्दे पर ‘न्याय युद्ध’ चला रही है, ने मनोज तिवारी सहित दिल्ली के सभी भाजपा सांसदों के इस्तीफे की मांग की। आरोप लगाया कि ये लोग सीलिंग अभियान से प्रभावित होने वाले लोगों को बचाने में असफल रहे। ‘न्याय युद्ध’ अभियान के संयोजक और पूर्व कांग्रेस विधायक मुकेश शर्मा ने कहा, “रविवार को गोकलपुर इलाके में मनोज तिवारी द्वारा सील किए गए घर के ताले को तोड़ना एक ‘ड्रामा’ है। यदि बीजेपी इस मुद्दे पर गंभीर है, तो तिवारी समेत दिल्ली के सभी सांसदों को अपनी सरकार से सीलिंग के खिलाफ एक अध्यादेश लाने की मांग करनी चाहिए। आने वाले दिनों में कांग्रेस सीलिंग के खिलाफ अपने अभियान को तेज करेगी।”

वही, इस पूरे मामले पर सांसद मनोज तिवारी ने कहा, “तब कांग्रेस और अब अरविंद केजरीवाल अनाधिकृत को अधिकृत करने के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। अनाधिकृत कॉलोनी के एक घर को सील किया गया था, जबकि वहां 1000 घर हैं। सिर्फ एक को सील क्यों किया गया? मैं इसका विरोध करता हूं। इसलिए मैंने सील को तोड़ दिया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App