ताज़ा खबर
 

सीमा पर लगातार चौथे दिन पाक की भारी गोलाबारी

पाकिस्तानी गोलीबारी में गुरुवार को बीएसएफ का एक जवान और एक किशोरी मारी गई थी, जबकि शुक्रवार को चार लोग मारे गए और 40 से अधिक लोग घायल हो गए।

Author जम्मू | January 22, 2018 03:56 am
भारतीय सेना के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर।

पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू कश्मीर के नौशेरा, राजौरी और अखनूर सेक्टरों में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारी गोलाबारी कर रविवार को लगातार चौथे दिन संघर्षविराम का उल्लंघन किया। इसबीच, पाकिस्तानी गोलाबारी में घायल हुए थल सेना के एक जवान की शनिवार रात मौत हो गई, जिससे सीमा पर गुरुवार से मारे जाने वालों की संख्या बढ़ कर 11 हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी।  राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान ने राजौरी जिले के भवानी, कराली, सैद, नुंब और शेर मकरी इलाकों में रविवार शाम भारी गोलाबारी की। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुंछ जिले के मनकोट सेक्टर में एक अग्रिम चौकी पर तैनात सिपाही सीके रॉय पाकिस्तानी गोलीबारी में घायल हो गए और शनिवार रात एक सैन्य अस्पताल में उनकी मौत हो गई। उनकी मौत के साथ नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जम्मू, कठुआ, सांबा, पुंछ और राजौरी जिलों में गुरुवार से पाकिस्तानी गोलीबारी में मारे जाने वालों की संख्या बढ़ कर 11 हो गई है।

पाकिस्तानी गोलीबारी में गुरुवार को बीएसएफ का एक जवान और एक किशोरी मारी गई थी, जबकि शुक्रवार को चार लोग मारे गए और 40 से अधिक लोग घायल हो गए। मृतकों में दो नागरिक, एक बीएसएफ का जवान और एक थल सेना का एक जवान शामिल है। घायलों में बीएसएफ के दो कर्मी भी शामिल हैं। शनिवार को पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम उल्लंघन की घटनाओं में तीन नागरिक और थल सेना का एक जवान मारे गए, जबकि 16 अन्य घायल हो गए। बीएसएफ और पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान की ओर बाकी पेज 8 पर से शनिवार रात जम्मू, कठुआ और सांबा जिलों में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गोलीबारी की कोई रिपोर्ट नहीं है। बीएसएफ प्रवक्ता ने बताया कि अर्निया सेक्टर में शनिवार रात सीमा पार से कुछ गोलाबारी होने को छोड़ कर लगभग शांति रही है। उन्होंने बताया कि सांबा और कठुआ जिलों में दोपहर में सीमापार से गोलीबारी बंद हो गई लेकिन जम्मू जिले के कुछ इलाकों में यह बीच – बीच में जारी रही। उन्होंने बताया कि मोर्टार के आखिरी कुछ गोले शनिवार रात 10 बजे अर्निया सेक्टर में गिरे लेकिन इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ । बीती रात कहीं से भी पाकिस्तानी गोलीबारी की कोई रिपोर्ट नहीं है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शाहपुर सेक्टर को छोड़ कर पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा पर भी शांति रही क्योंकि शनिवार शाम से लेकर रविवार शाम तक पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम का कोई बड़ा उल्लंघन नहीं किया गया। हालांकि, उन्होंने बताया कि पुंछ के शाहपुर सेक्टर में सुबह चार बजे तक कुछ घंटे सीमा पार से छोटे हथियारों से गोलीबारी की गई लेकिन इसमें किसी के हताहत होने की रिपोर्ट नहीं है। उन्होंने बताया कि अधिकारी हालात पर करीबी नजर रखे हुए हैं लोगों को फौरन सहायता सुनिश्चित करने के लिए पुलिस की टीमें मौके पर भेजी गर्इं। उन्होंने बताया कि लोगों से अपने घरों के अंदर ही रहने को कहा गया है। उन्हें किसी संदिग्ध वस्तु को नहीं छूने को कहा गया है। गोलीबारी के चलते हजारों लोगों को अपना घर बार छोड़ कर पलायन करने और राहत शिविरों या अपने रिश्तेदारों के यहां शरण लेने के लिए मजबूर होना पड़ा है। इस बीच, जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा ने पाकिस्तानी फायरिंग और गोलाबारी में बेकसूर लोगों के मारे जाने पर गहरा दुख जताया है। राज्यपाल ने संघर्षविराम उल्लंघन में मारे गए नागरिकों और सुरक्षाकर्मियों के शोकाकुल परिजनों के प्रति सहानुभूति जताई है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की। इस बीच, राज्य के लोक स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री एस लाल चौधरी ने जान माल और मवेशियों को हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए रविवार को सुचेतगढ़ और आरएस पुरा का दौरा किया। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि मंत्री ने कुछ गांवों का भी दौरा किया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App