ताज़ा खबर
 

ज्योतिरादित्य को एयर इंडिया से जोड़ कांग्रेस का तंज- आइए महाराज हम दोनों बिकाऊ; भाजपा ने दिया जवाब

मध्य प्रदेश कांग्रेस की तरफ से शेयर किए गए मीम पर यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने भी सिंधिया पर तंज कसा।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: July 9, 2021 9:11 PM
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुक्रवार को नागरिक उड्डयन मंत्री के तौर पर पद संभाला। (फोटो- Twitter/JM_Scindia)

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को मोदी कैबिनेट के फेरबदल में बड़ा इनाम मिला है। उन्हें नागरिक उड्डयन मंत्रालय सौंपा गया है। यह पद उन्हें मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ की सरकार गिराने और भाजपा को राज्य में सत्ता में वापस लाने के करीब सवा साल बाद दिया गया है। हालांकि, कांग्रेस ने उनके कैबिनेट मंत्री पद संभालते ही तंज कसा है। पार्टी की युवा इकाई के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने उनकी तुलना एयर इंडिया से की और एक मीम शेयर किया, जिसमें दर्शाया गया है कि ‘एयर इंडिया और सिंधिया दोनों बिकाऊ’

यूथ कांग्रेस नेता के ट्वीट में क्या?: बताया गया है कि यह मीम सबसे पहले कांग्रेस की मध्य प्रदेश इकाई के ट्विटर अकाउंट से साझा किया गया था, हालांकि युवा कांग्रेस के अध्यक्ष की ओर से इसे साझा किए जाने के बाद सोशल मीडिया पर इसको लेकर बहस छिड़ गई। श्रीनिवास ने जो मीम साझा किया गया है, उसमें एयर इंडिया के विमान और सिंधिया की तस्वीरों के साथ लिखा गया है, ‘‘आइए महाराज, हम दोनों बिकाऊ हैं।’’ युवा कांग्रेस के अध्यक्ष ने इसे साझा करते हुए कहा कटाक्ष किया, ‘रब ने बना दी जोड़ी।’

उधर इस मीम के वायरल होने के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। पार्टी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि यह कांग्रेस की हताशा को दिखाता है। उन्होंने कहा कि सिंधिया जैसे एक युवा नेता को निशाना बनाने के लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल करना विपक्षी पार्टी की हताशा को दिखाता है। ‘बिकाऊ’ शब्द का इस्तेमाल करने के लिए कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए भाटिया ने कहा कि यह उन लोगों की ओर से कहा जा रहा है, जो भ्रष्टाचार के मामले में जमानत पर हैं।

सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद से ही नाराज हैं कांग्रेस नेता: कभी कांग्रेस के कद्दावार नेता रहे सिंधिया ने 10 मार्च 2020 को कांग्रेस छोड़ी थी और 11 मार्च 2020 को भाजपा में शामिल हुए थे। उनके साथ ही 22 कांग्रेस विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया था, जिससे मध्यप्रदेश में कमलनाथ के नेतृत्व वाली 15 महीने पुरानी कांग्रेस सरकार गिर गई थी और 23 मार्च 2020 को भाजपा के शिवराज सिंह चौहान चौथी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।

तत्कालीन कमलनाथ सरकार गिरने के कुछ दिन पहले टीकमगढ़ में एक सभा में सिंधिया ने चेतावनी दी थी कि यदि कमलनाथ के नेतृत्व वाली तत्कालीन सरकार ने पार्टी के घोषणा पत्र के वादे पूरे नहीं किये तो वह ‘सड़क पर उतर जायेगें’। इस चेतावनी पर कमलनाथ ने कहा था, ‘‘तो उतर जायें सड़क पर।’’ इसके बाद सिंधिया कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गये और 22 बागी कांग्रेस विधायकों के जरिए कमलनाथ की सरकार गिरवा दी।

इसके बाद सिंधिया मध्यप्रदेश की राज्यसभा सीट से भाजपा की टिकट पर सांसद बने और अब सवा साल बाद भाजपा नीत केंद्रीय सरकार में मंत्री बन गए हैं। उन्होंने शुक्रवार को अपने मंत्रालय का कार्यभार संभाल लिया।

Next Stories
1 भाजपा पर बोले राकेश टिकैत- बहुत धार्मिक पार्टी है, इससे बड़ा कर्मकांड कोई नहीं कर सकता
2 चिराग पासवान को दिल्ली हाई कोर्ट से झटका, खारिज हो गई चाचा पशुपति के खिलाफ याचिका
3 यूपी में हुए सियासी बवाल पर बोले पूर्व डीजीपी, अधमरा सांप छोड़ना ठीक नहीं, खोदकर ज़मीन में गाड़ दें
ये पढ़ा क्या?
X