ताज़ा खबर
 

पत्र लिखने वालों का समर्थन करते हुए बोले चिदंबरम- असंतोष ही बदलाव लाता है, सभी बीजेपी विरोधी; सोनिया गांधी बोलीं- घटनाक्रम से आहत हूं

पत्र लिखने वाले नेताओं ने CWC में कहा - संगठन की बेहतरी के लिए कुछ चिंताएं थीं, उन्हें बताने के लिए पत्र लिखा था। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में पूरा विश्वास रखें।

CWCनेतृत्व के मुद्दे पर कांग्रेस दो खेमे में बंटी नजर आ रही है। (ANI)

कांग्रेस के भीतर एक बार फिर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि जो हुआ उससे वह आहत जरूर हैं लेकिन, जो हुआ सो हुआ। उन्होंने सभी लोगों से मिलकर काम करने का आह्वान किया है। इस बीच सूत्रों के मुताबिक वर्किंग कमेटी की बैठक में तय हुआ है कि सोनिया गांधी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी। सात घंटे तक चली मैराथन बैठक के बाद तय हुआ कि फिलहाल सोनिया गांधी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी। इस घमासान को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने भी अपनी प्रतिकृया दी है। चिदंबरम ने कहा कि जिन लोगों ने पत्र लिखा है वे निश्चित रूप से भाजपा के विरोधी हैं जैसा कि मैं हूं या राहुल गांधी हैं। असंतोष हमेशा होता है और यही असंतोष बदलाव लाता है। जब तक असंतोष नहीं होगा, परिवर्तन नहीं होगा।

वही पार्टी नेतृत्व को लेकर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले नेताओं ने CWC में कहा – संगठन की बेहतरी के लिए कुछ चिंताएं थीं, उन्हें बताने के लिए पत्र लिखा था। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में पूरा विश्वास रखें। CWC में गुलाम नबी आज़ाद आज़ाद और आनंद शर्मा ने कहा कि उन्होंने सीमा में रहकर ही चिंताएं व्यक्त की अगर फिर भी किसी को लगता है कि हमने अनुशासन भंग किया है तो कार्रवाई की जा सकती है। वहीं मीटिंग में अंबिका सोनी ने कहा कि पार्टी के नेतृत्व को लेकर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वालों के खिलाफ पार्टी संविधान के तहत कार्रवाई की जा सकती है।

इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने राहुल गांधी की एक कथित टिप्पणी को लेकर उनपर निशाना साधने के कुछ देर बाद अपना बयान वापस ले लिया। कपिल सिब्बल ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने उन्हें खुद सूचित किया कि उनके हवाले से जो कहा गया है वो सही नहीं हैं और ऐसे में वह अपना पहले का ट्वीट वापस लेते हैं। सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘राहुल गांधी ने व्यक्तिगत तौर पर मुझे सूचित किया कि उन्होंने वो कभी नहीं कहा था जो उनके हवाले से बताया गया है। ऐसे में मैं अपना पहले का ट्वीट वापस लेता हूं।’

इससे पहले सिब्बल ने कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में राहुल गांधी की एक कथित टिप्पणी को लेकर उनपर कटाक्ष करते हुए कहा था कि उन्होंने पिछले 30 वर्षों में भाजपा के पक्ष में कोई बयान नहीं दिया, इसके बावजूद ‘हम भाजपा के साथ साठगांठ कर रहे हैं।’ उन्होंने बतौर वकील कांग्रेस को सेवा देने का उल्लेख करते हुए ट्वीट किया, ‘राहुल गांधी का कहना है कि ‘हम भाजपा के साथ साठगांठ कर रहे हैं’। राजस्थान उच्च न्यायालय में कांग्रेस पार्टी का पक्ष रखते हुए सफल हुआ। मणिपुर में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने करने के लिए पार्टी का पक्ष रखा।’

इस बीच मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी मीडिया में दिखाए जा रहे उनके बयानों का खंडन किया है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम रहे आजाद नहीं कहा कि CWC की बैठक में उन्होंने पार्टी छोड़ने की बात नहीं कही थी।

Coronavirus Vaccine Live Updates

 

Live Blog

Highlights

    06:12 (IST)25 Aug 2020
    घटनाक्रम से आहत हूं, लेकिन अब सब मिलकर काम करें: सोनिया गांधी

    कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि घटनाक्रम से आहत हूं, लेकिन पत्र लिखने वाले भी हमारे अपने हैं। जो हुआ सो हुआ, अब सब लोग मिलकर पार्टी को मजबूत करने में जुटें। हमें सबके साथ मिल बैठकर एकजुटता से काम करना होगा। 

    05:40 (IST)25 Aug 2020
    सही बात करने वाला कांग्रेस में गद्दार है और तलवे चाटने वाले कांग्रेस में वफादार : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस को सही दिशा में लाने की बात करें तो उन पर आरोप लगा दिया जाता है कि ये नेता तो BJP से मिले हुए हैं। कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद जैसे नेता जिन्होंने पूर्णकालिक अध्यक्ष की बात कही। अब उन्हीं पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वो BJP से मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि सही बात करने वाला कांग्रेस में गद्दार है और तलवे चाटने वाले कांग्रेस में वफादार हैं और जब पार्टी की ये स्थिति हो जाए तो उसे कोई नहीं बचा सकता।

    04:26 (IST)25 Aug 2020
    सोनिया गांधी को पार्टी के समक्ष आ रही चुनौतियों से निपटने के लिए संगठन स्तर पर जरूरी बदलाव करने के लिए अधिकृत किया गया

    नेताओं ने सीडब्ल्यूसी में पारित प्रस्ताव पर चर्चा की जिसमें सोनिया गांधी को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (एआईसीसी) का सत्र होने तक अंतरिम अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभाने और पार्टी के समक्ष आ रही चुनौतियों से निपटने के लिए संगठन स्तर पर जरूरी बदलाव करने के लिए अधिकृत किया गया है।

    03:15 (IST)25 Aug 2020
    मनमोहन सिंह और एंटनी ने भी चिट्ठी लिखने वालों की आलोचना की

    पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और वरिष्‍ठ कांग्रेसी एके एंटनी ने चिट्ठी लिखने के कदम की आलोचना की। दोनों नेताओं ने कहा कि सोनिया गांधी को नया पार्टी अध्यक्ष चुने जाने तक अंतरिम अध्यक्ष के पद पर बने रहना चाहिए। उन्‍होंने नेतृत्‍व में बदलाव की मांग रखने वाले नेताओं को फटकार भी लगाई।

    02:10 (IST)25 Aug 2020
    अगला कांग्रेस अधिवेशन जल्द से जल्द बुलाया जाएगा: पुनिया

    कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) सदस्य पी.एल. पुनिया ने कहा "कांग्रेस वर्किंग कमेटी की आज लंबी बैठक हुई। सभी ने सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी में संपूर्ण आस्था व्यक्त की और सोनिया गांधी जी को कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष बने रहने का अनुरोध किया। जो उन्होंने स्वीकार किया। पुनिया ने कहा "अगला कांग्रेस अधिवेशन जल्द से जल्द बुलाया जाएगा। 6 महीने के अंदर भी हो सकता है। तब तक सोनिया गांधी जी अंतरिम अध्यक्ष के रूप में काम करती रहेंगी। उन्होंने अपनी सहमति दी है।"

    00:41 (IST)25 Aug 2020
    राहुल गांधी ने सांठगांठ के आरोप वाली कोई टिप्पणी नहीं की: रणदीप सुरजेवाला

    कपिल सिब्बल के ट्वीट पर विवाद खड़ा होने के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने सांठगांठ के आरोप वाली कोई टिप्पणी नहीं की। उन्होंने सिब्बल के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, ‘कृपया, फर्जी विमर्श अथवा गलत सूचना फैलाए जाने से गुमराह मत होइए। परंतु हमें एक दूसरे से लड़ने एवं कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने के बजाय अधिनायकवादी मोदी सरकार से लड़ने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है।’

    22:36 (IST)24 Aug 2020
    पत्र लिखने पर चिदंबरम ने यह कहा

    चिदंबरम ने कहा कि जिन लोगों ने पत्र लिखा है वे निश्चित रूप से भाजपा के विरोधी हैं जैसा कि मैं हूं या राहुल गांधी हैं। असंतोष हमेशा होता है और यही असंतोष बदलाव लाता है। जब तक असंतोष नहीं होगा, परिवर्तन नहीं होगा।

    21:32 (IST)24 Aug 2020
    राहुल गांधी ने भाजपा के खिलाफ लड़ाई का दृढ़ता से प्रतिनिधित्व किया

    रणदीप सुरजेवाला ने कहा राहुल गांधी ने भाजपा के खिलाफ लड़ाई का दृढ़ता से प्रतिनिधित्व किया। सीडब्लूसी की राय है कि इस समय पर पार्टी के नेतृत्व को कमजोर करने की अनुमति किसी को नहीं दी जाएगी। 

    20:25 (IST)24 Aug 2020
    कांग्रेस बड़ा परिवार है और परिवार में वैचारिक असहमति हो सकती है

    रणदीप सुरजेवाला ने बताया सोनिया गांधी ने बैठक में कहा कि कांग्रेस बड़ा परिवार है और परिवार में वैचारिक असहमति हो सकती है, लेकिन आखिर में हम एक होंगे. सोनिया गांधी ने कहा कि इन समय 130 करोड़ लोगों की लड़ाई लड़ना है जिस पर मोदी सरकार ने कुत्सित हमला किया है. इसके खिलाफ हमें एकजुट होकर लड़ना है। सोनिया गांधी ने कहा कि उन्होंने किसी भी साथी के प्रति विद्वेष कभी भी नहीं रखा। 

    19:44 (IST)24 Aug 2020
    सुरजेवाला ने कहा अध्यक्ष बने रहने के लिए सभी ने एकमत से सोनिया गांधी से निवेदन किया है

    कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि CWC (कांग्रेस वर्किंग कमेटी) ने एकमत से सोनिया गांधी से निवेदन किया है कि कोरोना काल में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अगले अधिवेशन के बुलाए जाने तक वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्षा के गरिमामय पद पर नेतृत्व करें।

    19:01 (IST)24 Aug 2020
    पी.एल. पुनिया ने कहा सोनिया बनी रहेंगी अध्यक्ष

    कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) सदस्य पी.एल. पुनिया ने कहा "कांग्रेस वर्किंग कमेटी की आज लंबी बैठक हुई। सभी ने सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी जी में संपूर्ण आस्था व्यक्त की और सोनिया गांधी जी को कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष बने रहने का अनुरोध किया। जो उन्होंने स्वीकार किया। पुनिया ने कहा "अगला कांग्रेस अधिवेशन जल्द से जल्द बुलाया जाएगा। 6 महीने के अंदर भी हो सकता है। तब तक सोनिया गांधी जी अंतरिम अध्यक्ष के रूप में काम करती रहेंगी। उन्होंने अपनी सहमति दी है।"

    18:24 (IST)24 Aug 2020
    स्वास्थ्य के चलते पद छोड़ना हो तो राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाएं सोनिया: सिद्धारमैया

    कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने सोमवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से आग्रह किया कि यदि वे स्वास्थ्य कारणों से अध्यक्ष पद छोड़ना चाहती हैं तो उन्हें राहुल गांधी को इस पद के लिए मनाना चाहिए। सिद्धारमैया ने सोनिया गांधी से अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष बने रहने का अनुरोध किया। सोनिया गांधी को लिखे पत्र में सिद्धारमैया ने कहा, “यदि आपको लगता है कि स्वास्थ्य कारणों से आप पूरी तरह समर्पित होकर काम नहीं कर सकेंगी तो मैं आग्रह करता हूं कि आप श्री राहुल गांधी को अध्यक्ष बनने के लिए मनाएं।” पार्टी इस समय नेतृत्व के मसले पर बंटी हुई है। एक गुट सामूहिक नेतृत्व की मांग कर रहा है तो दूसरा गांधी परिवार में आस्था प्रदर्शित कर रहा है।

    17:45 (IST)24 Aug 2020
    मनमोहन-एंटनी ने भी फटकारा

    पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और वरिष्‍ठ कांग्रेसी एके एंटनी ने चिट्ठी लिखने के कदम की आलोचना की। दोनों नेताओं ने कहा कि सोनिया गांधी को नया पार्टी अध्यक्ष चुने जाने तक अंतरिम अध्यक्ष के पद पर बने रहना चाहिए। उन्‍होंने नेतृत्‍व में बदलाव की मांग रखने वाले नेताओं को फटकार भी लगाई।

    17:02 (IST)24 Aug 2020
    राहुल ने पत्र की टाइमिंग पर सवाल खड़े किए

    राहुल गांधी ने उन नेताओं के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है, जिन्होंने चिट्ठी लिखकर कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल खड़े किए थे। राहुल ने कहा था कि सोनिया गांधी के अस्पताल में भर्ती होने के समय ही पार्टी नेतृत्व को लेकर पत्र क्यों भेजा गया था? तहूल ने पत्र की टाइमिंग पर सवाल खड़े करते हुए पूछा कि जब पार्टी राजस्थान में संकट का सामना कर रही थी। तब पत्र क्यों लिखा गया। राहुल ने कहा "पत्र में जो लिखा गया था उस पर चर्चा करने का सही स्थान सीडब्ल्यूसी की बैठक है, मीडिया नहीं।"

    16:27 (IST)24 Aug 2020
    गुलाम नबी आज़ाद मुझपर और मेरी पार्टी पर इल्जाम लगाते कि आप भाजपा का साथ दे रहे हैं

    AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा "गुलाम नबी आज़ाद जब कभी हैदराबाद आते मुझपर और मेरी पार्टी पर इल्जाम लगाते कि आप भाजपा का साथ दे रहे हैं भाजपा की 'बी' टीम हैं। आज उनकी पार्टी के राहुल गांधी ने उन्हें कहा है कि आपने पार्टी लेटर पर साइन कर भाजपा का साथ दिया।"

    16:13 (IST)24 Aug 2020
    राहुल गांधी और सोनिया गांधी से कोई दिक्कत नहीं

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि उन्हें राहुल गांधी और सोनिया गांधी से कोई दिक्कत नहीं है और उन्होंने उनकी वजह से इस्तीफे की पेशकश नहीं की थी।,नबी आज़ाद ने कहा कि उन्होंने बैठक में कुछ कांग्रेस नेताओं के बयान पर इस्तीफे की पेशकश की थी और उन्हें राहुल-सोनिया से कोई दिक्कत नहीं है।

    15:36 (IST)24 Aug 2020
    कांग्रेस प्रवक्ता का ट्वीट- फर्जी सूचना से गुमराह मत होइए

    कपिल सिब्बल के ट्वीट पर विवाद खड़ा होने के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ने सांठगांठ के आरोप वाली कोई टिप्पणी नहीं की। उन्होंने सिब्बल के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, ‘कृपया, फर्जी विमर्श अथवा गलत सूचना फैलाए जाने से गुमराह मत होइए। परंतु हमें एक दूसरे से लड़ने एवं कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने के बजाय अधिनायकवादी मोदी सरकार से लड़ने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है।’

    15:01 (IST)24 Aug 2020
    लोकसभा में कांग्रेस नेता ने चिट्ठी लिखने वाले कांग्रेसियों पर साधा निशाना

    लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने पत्र लिखने वाले 23 कांग्रेसी नेताओं पर कहा कि वो कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) में अपनी चिंता जाहिर कर सकते थे। द इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक साक्षात्कार में कांग्रेसी सांसदों पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के इतिहास में, गैर-गांधीवादियों ने भी पार्टी अध्यक्ष का पद संभाला है और पार्टी ने हमेशा इसे प्रोत्साहित किया है। पीवी नरसिम्हा राव और सीताराम केसरी इसके उदाहरण हैं। वास्तव में, (गांधी) परिवार के सदस्य के अलावा किसी ने भी कोई महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल नहीं की है। हालांकि राव के बाद जब तक सोनिया गांधी ने बागडोर संभाली तब तक कांग्रेस खोई हुई जमीन को पाने में सफल नहीं हो सकी। हम इस वास्तविकता से इनकार नहीं कर सकते हैं। इसे समझने की जरुरत हैं।' साथ ही उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी में क्षमता है और वो भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय गठबंधन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं। गांधी परिवार के बाहर का कोई भी अध्यक्ष कांग्रेस के 'अच्छे दिन' नहीं ला सकता है।

    14:40 (IST)24 Aug 2020
    सीएम शिवराज ने कांग्रेस पर साधा निशाना

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस को सही दिशा में लाने की बात करें तो उन पर आरोप लगा दिया जाता है कि ये नेता तो BJP से मिले हुए हैं। कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद जैसे नेता जिन्होंने पूर्णकालिक अध्यक्ष की बात कही। अब उन्हीं पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वो BJP से मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि सही बात करने वाला कांग्रेस में गद्दार है और तलवे चाटने वाले कांग्रेस में वफादार हैं और जब पार्टी की ये स्थिति हो जाए तो उसे कोई नहीं बचा सकता।

    14:17 (IST)24 Aug 2020
    सीडब्ल्यूसी बैठक में चर्चा हो ना की मीडिया में: राहुल गांधी

    राहुल गांधी ने पार्टी संबंधित मुद्दों को सार्वजनिक करने के लिए नेताओं की आलोचना की और कहा कि इनपर चर्चा सीडब्ल्यूसी में होनी चाहिए न कि मीडिया में।

    13:45 (IST)24 Aug 2020
    राहुल गांधी ने पत्र लिखने वाले नेताओं पर निशाना साधा, बोले- सोनिया अस्वस्थ थीं, ऐसा पत्र क्यों लिखा

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी में नेतृत्व के मुद्दे पर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले नेताओं पर निशाना साधा और कहा कि जब पार्टी राजस्थान एवं मध्य प्रदेश में विरोधी ताकतों से लड़ रही थी और सोनिया गांधी अस्वस्थ थीं तो उस समय ऐसा पत्र क्यों लिखा गया। सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में कहा कि जब हम राजस्थान एवं मध्य प्रदेश में विरोधी ताकतों से लड़ रहे थे और सोनिया अस्वस्थ थीं तो उस समय यह पत्र क्यों लिखा गया? नेतृत्व के मुद्दे पर कांग्रेस के दो खेमों में नजर आने की स्थिति बनने के बीच पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई सीडब्ल्यूसी की बैठक वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से हो रही है।

    13:07 (IST)24 Aug 2020
    गांधी परिवार के बाहर का अध्यक्ष मंजूर नहीं: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा

    नेतृत्व के मुद्दे पर कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की डिजिटल बैठक आरंभ होने के साथ पार्टी मुख्यालय के बाहर कई कार्यकर्ता जमा हो गए और उन्होंने कहा कि उन्हें गांधी परिवार के बाहर का अध्यक्ष स्वीकार नहीं है। इन कार्यकर्ताओं का हाथों में तख्ती लेकर नारेबाजी करना इस बात का संकेत है कि नेतृत्व के मुद्दे पर कांग्रेस के भीतर टकराव बढ़ रहा है। इन कार्यकर्ताओं ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, पार्टी नेताओं राहुल गांधी, प्रियंका गांधी के समर्थन में नारेबाजी की। एक कार्यकर्ता ने तख्ती ली हुई थी, जिस पर लिखा हुआ था कि ‘अगर गांधी परिवार के बाहर का अध्यक्ष बना तो पार्टी टूट जाएगी।’ कार्यकर्ताओं ने ‘‘गांधी परिवार के बाहर का अध्यक्ष मंजूर नहीं’’ के नारे भी लगाए।

    12:48 (IST)24 Aug 2020
    नेतृत्व बदलाव की मांग कर रहे नेताओं पर बरसे पूर्व पीएम

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और ए के एंटनी ने नेतृत्व में बदलाव की मांग को लेकर कुछ नेताओं द्वारा लिखे गए पत्र की आलोचना की। इधर बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी मौजूद हैं। बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से हो रही है।

    12:43 (IST)24 Aug 2020
    सोनिया गांधी ने की पद छोड़ने की पेशकश, कहा- नया अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया शुरू हो

    कांग्रेस में नेतृत्व और संगठन में बदलाव के मुद्दे पर पार्टी के दो खेमे में नजर आने की स्थिति बनने के बीच पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक शुरू हो गई है। सूत्रों ने बताया कि बैठक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पद छोड़ने की पेशकश की है। इसके मुताबिक सोनिया गांधी ने पार्टी का नया अध्यक्ष चुनने के लिए प्रक्रिया शुरू करने का आह्वान किया है। सोनिया गांधी ने पद छोड़ने की पेशकश करते वक्त गुलाम नबी आजाद, अन्य द्वारा लिखे गए पत्र का हवाला दिया।

    12:17 (IST)24 Aug 2020
    मनमोहन ने की पद पर बने रहने की अपील

    सोनिया गांधी ने कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) से उन्हें पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष के पद से मुक्त करने को कहा, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उनसे पद पर बने रहने की अपील की।

    11:59 (IST)24 Aug 2020
    CWC मीटिंग में सोनिया गांधी भी मौजूद

    कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए जुड़ी हुई हैं। बैठक में अन्य नेताओं के अलावा कांग्रेस नेता अरुण यादव, रोहन गुप्ता, केसी वेणुगोपाल भी मौजूद हैं।

    11:49 (IST)24 Aug 2020
    23 नेताओं ने की थी पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग

    राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद समेत 23 नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी में सामूहिक नेतृत्व की जरूरत पर जोर देते हुए कहा है कि कांग्रेस को पूर्णकालिक अध्यक्ष मिलना चाहिए जो जमीन पर सक्रिय हो तथा कांग्रेस मुख्यालय एवं प्रदेश कांग्रेस कमिटियों के मुख्यालय में भी उपलब्ध हो।

    09:46 (IST)24 Aug 2020
    सियासी बवंडर के बीच आज होगी सीडब्ल्यूसी की बैठक

    कांग्रेस में नेतृत्व और संगठन में बदलाव के मुद्दे पर पार्टी के दो खेमे में नजर आने की स्थिति बनने के बीच पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक आज होगी जिसके हंगामेदार रहने के आसार हैं। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी। सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले रविवार को पार्टी में उस वक्त नया सियासी बवंडर खड़ा हो गया जब पूर्णकालिक एवं जमीनी स्तर पर सक्रिय अध्यक्ष बनाने और संगठन में ऊपर से लेकर नीचे तक बदलाव की मांग को लेकर सोनिया गांधी को 23 वरिष्ठ नेताओं की ओर से पत्र लिखे जाने की जानकारी सामने आई।

    09:24 (IST)24 Aug 2020
    सोनिया गांधी के इस्तीफे पर कांग्रेस ने कही ये बात

    कांग्रेस की कई प्रदेश इकाइयों ने खुलकर सोनिया और राहुल गांधी के नेतृत्व में विश्वास जताया है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि सोनिया वर्किंग कमेटी की बैठक में अंतरिम अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे सकती हैं। हालांकि, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इससे इनकार कर दिया।

    Next Stories
    1 नरेंद्र मोदी ने 11 जुलाई को लॉंच किया था जॉब पोर्टल, 69 लाख रजिस्ट्रेशन, 7700 को मिला काम
    2 दिल्ली मेरी दिल्ली
    3 कोविड-19 का असर: रेलवे ने पांच महीने में 1.78 करोड़ टिकट रद्द किए, पहली तिमाही में एक हजार करोड़ से ज्यादा का राजस्व घटा
    ये पढ़ा क्या?
    X