ताज़ा खबर
 

राफेल मुद्दा: पीएम मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्‍ताव लाएगी कांग्रेस

राज्यसभा में कांग्रेस के सदस्य आनंद शर्मा ने कहा, 'जैसा कि यह सब कुछ लोकसभा में हुआ, इसलिए सदन के सदस्यों द्वारा विशेषाधिकार हनन के संबंध में उचित कार्रवाई की जाएगी।' एंटनी ने यह भी कहा कि संविधान में कहा गया है कि डील के दाम/कीमत के बारे में कैग (नियंत्रक और महालेखा परीक्षक) और पब्लिक एकाउंट्स कमेटी को बताया जाना चाहिए।

Author Updated: July 23, 2018 6:40 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कांग्रेस ने राफेल मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने का फैसला किया है। कांग्रेस का कहना है कि रक्षा मंत्री ने राफेल फाइटर जेट डील के मामले में लोकसभा को गुमहार करने की कोशिश की है। पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी का कहना है कि रक्षा सौदे में ऐसा कुछ भी नहीं होता है जो सरकार को सौदे की कीमत का खुलासा करने से रोके। एंटनी ने दावा किया कि उन्होंने बहुत से रक्षा सौदों की कीमत का खुलासा किया था, जिसमें फ्रांस में बने मिराज एयरक्राफ्ट का सौदा भी शामिल है।

राज्यसभा में कांग्रेस के सदस्य आनंद शर्मा ने कहा, ‘जैसा कि यह सब कुछ लोकसभा में हुआ, इसलिए सदन के सदस्यों द्वारा विशेषाधिकार हनन के संबंध में उचित कार्रवाई की जाएगी।’ एंटनी ने यह भी कहा कि संविधान में कहा गया है कि डील के दाम/कीमत के बारे में कैग (नियंत्रक और महालेखा परीक्षक) और पब्लिक एकाउंट्स कमेटी को बताया जाना चाहिए। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि पार्टी विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लेकर जरूर आएगी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि उनको राफेल सौदे में घोटाले की आशंका है। उन्होंने कहा कि संसद में जब लड़ाकू विमान के दाम को लेकर सवाल उठाए गए तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घबरा गए। राहुल ने ट्वीट के माध्यम से कहा, “राफेल की कीमत के बारे में पूछने पर प्रधानमंत्री घबरा जाते हैं और मुझसे आंख नहीं मिला पाते हैं। इससे निश्चित तौर पर घोटाले की आशंका होती है।” उन्होंने रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की भी आलोचना की और उन पर राफेल सौदे का ब्यौरा पेश करने से मुकरने का आरोप लगाया। लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान बहस के दौरान गांधी ने कहा था कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने उन्हें व्यक्तिगत रूप से बताया था कि दोनों देशों की सरकारों के बीच कोई गोपनीयता समझौता नहीं हुआ है, जबकि सीतारमण ने कहा कि ऐसा हुआ है।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ बीजेपी के कुछ सदस्यों ने विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव का नोटिस दिया है जिस पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने आज कहा कि वह इसे देखेंगी। भाजपा सदस्यों निशिकांत दुबे, अनुराग ठाकुर, दुष्यंत सिंह और प्रहलाद जोशी ने राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव का नोटिस दिया है। भाजपा सांसदों ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को सदन में अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ झूठे आरोप लगाकर संसद को गुमराह किया। लोकसभा में आज प्रश्नकाल पूरा होते ही दुबे ने कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव का नोटिस दिया हुआ है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी जब भी बोलते हैं, इससे भाजपा के वोट बढ़ने में ही मदद मिलती है। कांग्रेस के सदस्यों ने इस पर विरोध दर्ज कराया। लोकसभाध्यक्ष ने कहा, ‘‘मैं इस विषय को देखूंगी।’’ गांधी के खिलाफ आरोप शुक्रवार को सदन में सरकार के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राफेल लड़ाकू विमान समझौते को लेकर की गयी टिप्पणियों से संबंधित हैं।

(एजेंसी के इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एयरसेल-मैक्सिस मामला: पी चिदंबरम को अदालत से बड़ी राहत
2 मॉब लिंचिंग पर बोले स्‍वामी अग्‍निवेश- मैंने तो जिंदा रहने की उम्‍मीद ही छोड़ दी थी, चुप क्‍यों हैं पीएम मोदी
3 पूर्व पीएम बोले- जुमलों से नहीं, 14% कृषि विकास दर से होगी किसानों की आय दोगुनी
जस्‍ट नाउ
X