ताज़ा खबर
 

VIDEO: पाकिस्तान में बोले मणिशंकर- अगर यहां से हटा दी गई गांधी की तस्वीर तो क्या करेंगे भारतीय

पाकिस्तान के लाहौर में एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के ताजा जिन्ना विवाद के जरिये पड़ोसी मुल्क से कथित तौर पर भारत सरकार पर निशाना साधा है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर।

पाकिस्तान के लाहौर में एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के ताजा जिन्ना विवाद के जरिये पड़ोसी मुल्क से कथित तौर पर भारत सरकार पर निशाना साधा है। अय्यर के विवादित बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर देखा जा रहा है। वीडियो में अय्यर पाकिस्तान के कायदे-आजम मोहम्मद अली जिन्ना की राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से तुलना करते हुए देखे रहे हैं। वह जिन्ना की तारीफ करते हुए देखे जा रहे हैं, लेकिन पाकिस्तान के गुलाब देवी अस्पताल का जिक्र करते हुए वह कहते हैं कि अगर यहां से महात्मा गांधी की तस्वीर हटाई जाए तो उनकी (भारतीयों) की प्रतिक्रिया क्या होगी? अय्यर ने कहा कि उन्होंने जिन्ना को कायदे आजम कहा तो भारत के कई एंकर उन पर सवाल खड़े करने लगे कि कोई भारतीय पाकिस्तान में जाकर ऐसा कैसे बोल सकता है? उन्होंने कहा कि वह ऐसे कई पाकिस्तानियों को जानते हैं जो मोहनदास करमचंद गांधी को महात्मा गांधी कहकर पुकारते हैं, तो इससे क्या वे सभी पाकिस्तानी देशद्रोही हो गए?

अय्यर ने देश के बंटवारे के लिए वीडी सावरकर पर इसकी पृष्ठभूमि तैयार करने का आरोप लगाते हुए जिन्ना को क्लीनचिट दी और इसी के साथ पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भारत की मौजूदा स्थिति वीडी सावरकर के द्वारा 1923 में खोजे गए ‘हिंदुत्व’ शब्द की देन हैं जो किसी भी धार्मिक किताब में नहीं मिलता है। उन्होंने सावरकर को इस शब्द को जरिए दो देशों के सिद्धांत का समर्थक और भारत की वर्तमान सरकार का गुरु बताया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अय्यर ने पाकिस्तान में 2014 के आम चुनाव में मोदी की जीत के पीछ की वजह भी बताई। उन्होंने कहा कि पिछले आम चुनाव में देश की 70 फीसदी जनता ने मोदी के खिलाफ वोट किया था, लेकिन उनके बंटे होने के कारण मोदी जीत गए। उन्होंने उम्मीद जताई कि वही 70 फीसदी जनता एकजुट होकर भारत को अराजकता के माहौल से मुक्ति दिलाएगी।

अय्यर के ताजा विवादित बयान से कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा है। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अय्यर पार्टी से निलंबित चल रहे हैं, इसलिए उनकी बातों तवज्जो नहीं देना चाहिए। कहा जा रहा है कि अय्यर का विवादित बयान ऐसे समय आया है जब कर्नाटक में चुनाव बेहद करीब है। गुजरात चुनाव से भी ठीक पहले प्रधानमंत्री के खिलाफ विवादित बयान देकर अय्यर पार्टी के कोपभाजन का शिकार बने थे। राजनीतिक पंडितों ने माना था कि अय्यर के विवादित बयान से कांग्रेस को नुकसान हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App