ताज़ा खबर
 

देखते हैं मुकुल के घर कब पहुंचेगी सीबीआई, कांग्रेसी आचार्य का भाजपा पर तंज

भाजपा को निशाने पर लेते हुए आचार्य प्रमोद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि देखते हैं “CBI” मुकुल के घर “कब” पहुंचेगी।

मुकुल रॉय फिर से तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। (फोटो – पीटीआई)

शुक्रवार को बीजेपी नेता मुकुल रॉय अपने बेटे शुभ्रांशु रॉय के साथ दोबारा से तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी की मौजूदगी में मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस का दामन थामा। मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने पर कांग्रेस आचार्य प्रमोद कृष्णन ने भाजपा पर तंज कसा। प्रमोद कृष्णन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि देखते हैं कि सीबीआई मुकुल के घर कब पहुंचेगी।

मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद कांग्रेस समर्थक आचार्य प्रमोद कृष्णन ने ट्विटर के जरिए भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा। भाजपा को निशाने पर लेते हुए आचार्य प्रमोद ने 3 ट्वीट किए। ट्वीट करते हुए आचार्य प्रमोद ने लिखा कि देखते हैं “CBI” मुकुल के घर “कब” पहुंचेगी। आचार्य प्रमोद कृष्णन का इशारा पिछले दिनों सीबीआई द्वारा तृणमूल नेताओं से किए गए पूछताछ को लेकर था। पिछले दिनों सीबीआई ने नारदा केस में तृणमूल कांग्रेस के चार नेताओं को गिरफ्तार कर लिया था। 

इसके अलावा आचार्य प्रमोद कृष्णन ने दो और ट्वीट किया। अपने ट्वीट में आचार्य प्रमोद कृष्णन ने लिखा कि मुकुल राय की “वापसी” का दुःख भाजपा से ज़्यादा “मीडिया” को हो रहा है,निष्पक्षता की ऐसी मिसाल दुनिया में कहीं नहीं मिलेगी। साथ ही उन्होंने जितिन प्रसाद के भाजपा में जाने को लेकर भी एक ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि जितिन का जाना “गांधी” परिवार की कमज़ोरी था मगर “मुकुल” का जाना किसकी कमज़ोरी है, कोई एंकर बोलेगा? 

शुक्रवार को मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में वापस लौटने पर ममता बनर्जी ने उनका जमकर स्वागत किया। ममता बनर्जी ने उन्हें घर का लड़का बताया। साथ ही ममता बनर्जी ने उनकी नई भूमिका का अनौपचारिक ऐलान भी कर दिया। ममता बनर्जी ने कहा कि वे महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे, पहले वे जो भूमिका निभाते थे, भविष्य में भी वे वही भूमिका निभाएंगे।    

बता दें कि साल 2017 के नवंबर में टीएमसी से मोहभंग और ममता बनर्जी से अनबन होने के कारण भाजपा में चले गए थे। इस साल हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं को भाजपा में शामिल कराने में अहम भूमिका निभाई थी। हालांकि बाद में कोरोना संक्रमित होने के बाद बीजेपी नेताओं के द्वारा कोई खोज खबर ना लेने के कारण मुकुल बीते कई दिनों से नाराज चल रहे थे। बाद में अभिषेक बनर्जी ने अस्पताल जाकर मुकुल रॉय और उनकी पत्नी से मुलाक़ात की थी। उसके बाद से ही मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में जाने की अटकलें लगाईं जा रही थी।

Next Stories
1 मोदी के मंत्रिमंडल में भी होगा फेरबदल? पीएम मोदी कर रहे दो साल के काम की समीक्षा!
2 भाजपा छोड़ टीएमसी में पहुंचे मुकुल रॉय बोले- जो स्थिति है, भाजपा में कोई नहीं रहेगा, क्या और लोग भी छोड़ेंगे साथ?
3 तीन-तीन चुनाव हारने वाले जितिन प्रसाद को विधान परिषद भेजने की अटकल, यूपी बीजेपी में गुटबाज़ी बढ़ने का डर
ये पढ़ा क्या?
X