ताज़ा खबर
 

संसद में कामकाज रोकने की रणनीति बना रही कांग्रेस: अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीन देशों की अपनी सफल यात्रा के साथ भारत का कद बढ़ाने के लिए सराहना की। साथ ही, उन्होंने कांग्रेस पर सरकार में रहते हुए और अब विपक्षी पार्टी के रूप में भी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा […]

जेटली ने कांग्रेस पर सरकार में रहते हुए और अब विपक्षी पार्टी के रूप में भी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीन देशों की अपनी सफल यात्रा के साथ भारत का कद बढ़ाने के लिए सराहना की। साथ ही, उन्होंने कांग्रेस पर सरकार में रहते हुए और अब विपक्षी पार्टी के रूप में भी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि वे सारदा चिट फंड घोटाले में अपनी पार्टी के कुछ नेताओं से पूछताछ और गिरफ्तारी पर तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी की ओर से जताई गई प्रतिक्रिया से अत्यंत निराश हैं।

जेटली ने फेसबुक पर अपनी ताजा टिप्पणी में कहा कि मोदी की म्यांमा, ऑस्ट्रेलिया और फिजी की यात्रा के बाद विश्व के राष्ट्रों के बीच भारत का कद बढ़ता दिखा है। ब्रिसबेन में जी-20 शिखर सम्मेलन में भारत और हमारे प्रधानमंत्री दोनों ही केंद्र में थे। भारत के बढ़े हुए कद की इससे ज्यादा मान्यता और क्या हो सकती है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा हमारे गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने पर सहमत हो गए हैं।

जेटली ने इस बीच कांग्रेस पर निशाना साधा और सवाल किया कि आखिर सार्वजनिक क्षेत्र के एक बैंक द्वारा एक खास व्यापारिक समूह को कर्ज देना सार्वजनिक बहस का मुद्दा क्यों बनना चाहिए था। कांग्रेस पर अपना हमला जारी रखते हुए जेटली ने कहा कि प्रासंगिक अधिसूचना को पढ़े बगैर पार्टी ने यह समझ लिया कि किसान विकास पत्र (केवीपी) कालेधन के लिए वरदान सबित होगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि केवीपी की अधिसूचना में यह स्पष्ट है कि किसान विकास पत्र की खरीद के समय पहचान का खुलासा करना आवश्यक है। अगर पचास हजार रुपए से ज्यादा का किसान विकास पत्र खरीदा जाता है तो पैन नंबर देने की अनिवार्यता है। ऐसा लगता है कि कांग्रेस ने अधिसूचना को पढ़े बगैर प्रतिक्रिया दी थी। जेटली ने आरोप लगाया कि कांग्रेस संसद में सरकारी कामकाज और विधेयकों को रोकने की रणनीति तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाया है और विपक्ष में रहते हुए भी उसी विनाशकारी दिशा को जारी रखना चाहती है।

सारदा घोटाले के सिलसिले में तृणमूल कांग्रेस के कुछ नेताओं की पूछताछ और गिरफ्तारी के संदर्भ में जेटली ने कहा कि इसको लेकर पश्चिम बंग्‘ााल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रतिक्रिया ने उन्हें बेहद निराश किया है। उन्होंने कहा- वामदलों को सत्ता से बाहर करने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों ने तृणमूल का साथ दिया। तृणमूल से जुड़े कुछ व्यक्ति पोंजी स्कीमों के जरिए आसानी से धन बनाने में लगे थे। ऐसी योजनाओं ने छोटे निवेशकों को लूटा है। एक नए राजनीतिक दल के रूप में किसी जिम्मेदार नेता का यह कर्तव्य था कि वह ऐसे नेताओं से पार्टी को बचाए। पर अफसोस की बात है कि ममता बनर्जी ने ऐसा करने की बजाय खुद को ही उन नेताओं से जोड़ लिया। बर्दवान विस्फोट मामले की चर्चा करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि एनआइए ने साजिश में शामिल कई लोगों को गिरफ्तार किया है।

जेटली ने राजग मंत्रिमंडल के अनेक सहयोगियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जब विदेश यात्रा पर थे तो मंत्रिमंडल के उनके सहयोगी उनकी और जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने के लिए ओवर टाइम काम कर रहे थे। रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) द्वारा शनिवार को तोप हासिल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दिए जाने का उल्लेख करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर रक्षा खरीद प्रक्रिया को तेज कर राजग सरकार के एजंडे को आगे बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कोयला और बिजली क्षेत्र में विभिन्न सुधारों के जरिए मंत्रालय को नई दिशा दी है। जेटली ने वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण की बाली समझौते के विषयवस्तु की त्रुटियों को सुधारने के लिए अमेरिका के साथ की गई सफल वार्ता का भी जिक्र किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App