ताज़ा खबर
 

कांग्रेस ने शुरू की 2019 की तैयारी, राहुल गांधी ने बनाई तीन कमेटी, कोर ग्रुप भी गठित

इसके अलावा कांग्रेस ने 19 सदस्यीय मेनिफेस्टो कमेटी का भी गठन किया है। इस कमेटी का मुख्य उद्देश्य आगामी चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र तैयार करना है। इसके साथ ही राहुल गांधी ने 13 सदस्यीय पब्लिसिटी कमेटी का भी गठन किया है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो सोर्स- REUTERS)

देश में अगले साल लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं। पूरे देश में इन चुनावों को लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। राजनीतिक गलियारों में भी 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर हलचलें तेज होती जा रही हैं। बीजेपी और कांग्रेस समेत अन्य राजनीतिक दल मिशन 2019 की तैयारियों में बिजी होते जा रहे हैं। कांग्रेस पार्टी भी मिशन 2019 की तैयारियों में जोरशोर से जुट गई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मिशन 2019 को ध्यान में रखते हुए 25 अगस्त को 9 सदस्यीय कोर ग्रुप कमेटी का गठन किया है। उन्होंने 2019 चुनावों के लिए तीन समितियों का गठन किया है, जिनमें कोर ग्रुप कमेटी काफी महत्वपूर्ण है।

पीटीआई के मुताबिक कांग्रेस ने जिन तीन महत्वपूर्ण समितियों का गठन किया है, उनका मुख्य काम चुनाव संबंधी समन्वय, घोषणापत्र और प्रचार संबंधित मामलों पर ध्यान देना है। राहुल गांधी द्वारा गठित की गई 9 सदस्यीय कोर ग्रुप कमेटी में एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, पी चिदंबरम, अशोक गहलोत, मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल, जयराम रमेश, रणदीप सुरजेवाला और केसी वेणुगोपाल को शामिल किया गया है।

इसके अलावा कांग्रेस ने 19 सदस्यीय मेनिफेस्टो कमेटी का भी गठन किया है। इस कमेटी का मुख्य उद्देश्य आगामी चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र तैयार करना है। इसके साथ ही राहुल गांधी ने 13 सदस्यीय पब्लिसिटी कमेटी का भी गठन किया है। इस कमेटी में पार्टी के वरिष्ठ ने वरिष्ठ नेताओं को शामिल किया गया है। यह कमेटी चुनाव के दौरान पार्टी के प्रचार-प्रसार का जिम्मा संभालेगी। पार्टी के महासचिव अशोक गहलोत ने पार्टी द्वारा गठित की गई तीन समितियों का ऐलान करते हुए कहा कि इनके गठन के साथ ही कांग्रेस अब इलेक्शन मोड में प्रवेश करने जा रही है। गहलोत ने कहा कि अब कांग्रेस पार्टी घोषणापत्र तैयार करने, प्रचार और समन्वय के लिए रणनीति तैयार करने का काम शुरू करने जा रही है। बता दें कि अगले साल लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं। इसे लेकर सभी पार्टियों ने कमर कस ली है। कांग्रेस जहां इस चुनाव में केंद्र में वापसी की तैयारी के साथ मैदान में उतरेगी तो वहीं बीजेपी एक बार फिर जनता का विश्वास हासिल करते हुए सत्ता पर कब्जा करने की कोशिश करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App