ताज़ा खबर
 

“मोदी है तो महंगाई है” कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर किया देशभर में विरोध प्रदर्शन

पेट्रोल - डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी को लेकर कांग्रेस ने राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली के अलग अलग इलाकों में विभिन्न पेट्रोल पम्प के पास कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सांकेतिक प्रदर्शन किया। कई जगह पर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने "मोदी है तो महंगाई है" की तख्ती के साथ प्रदर्शन किया।

महंगाई और तेल के बढ़ते दाम को लेकर यूपी के प्रयागराज में शुक्रवार को यह तख्ती लेकर प्रदर्शन करता कांग्रेस कार्यकर्ता। (फोटोः पीटीआई)

पेट्रोल – डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी को लेकर कांग्रेस ने राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली के अलग अलग इलाकों में विभिन्न पेट्रोल पम्प के पास कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सांकेतिक प्रदर्शन किया। कई जगह पर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने “मोदी है तो महंगाई है” की तख्ती के साथ प्रदर्शन किया।

घोड़ा-गाड़ी पर सवार होकर फिरोज शाह कोटला स्टेडियम के निकट पेट्रोल पंप के पास पहुंचे दिल्ली में पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस की अगुवाई वाली तत्कालीन संप्रग सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल और डीजल पर केंद्रीय कर 9.20 रुपये था, लेकिन नरेद्र मोदी सरकार में इसके बढ़ाकर 32 रुपये कर दिया गया है।

कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि, दुनिया भर में कच्चा तेल सस्ता होने के बावजूद हमारे देश के नागरिकों से जो लूट चल रही है। इसको लेकर हम एक सांकेतिक प्रदर्शन कर रहे हैं और ये पूछना चाहते हैं कि आप क्या कर रहे हैं ? वही कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने भी राजेंद्र नगर और जनपथ में पेट्रोप पंपों के पास अपने कार्यकर्ताओं के साथ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया।

मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस ने पेट्रोल व डीजल व रसोई गैस की बढ़ती कीमतों पर नाराजगी जताते हुए विरोध प्रदर्शन किया। भोपाल में हो रहे प्रदर्शन में शामिल दिग्विजय सिंह ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा किमोदी सरकार यानी महंगाई की सरकार। कांग्रेस ने मांग की कि सेंट्रल डयूटी वापस से 9 रुपए की जाए। दावा किया गया कि ऐसा हो जाए तो डीजल-पेट्रोल पर प्रति लीटर 25-25 रुपए कम हो जाएंगे।

वहीं गुजरात के अहमदाबाद में पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस के लगभग 100 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। जानकारी के अनुसार प्रदर्शनकारी बिना अनुमति के विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। गांधीनगर में गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा ने प्रदर्शन का नेतृत्व किया। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भरतसिंह सोलंकी ने वड़ोदरा में प्रदर्शन का नेतृत्व किया। जहां उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं के साथ अनोखा प्रदर्शन करते हुए रस्सी के सहारे एक कार को खींचा।

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा किउत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार द्वारा अलग-अलग टैक्सेस लगाकर आम जनता को लूटा जा रहा है। वही लगातार बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के दामों से किसानों को अब खेती करने में भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सीएम और पीएम से इस्तीफे की मांग की।

कांग्रेस द्वारा देशभर में हो रहे इस प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर कर वसूले : पूरे 2.74 लाख करोड़ रुपये। इस पैसे से पूरे भारत को टीका (67000 करोड़ रुपये), 718 जिलों में ऑक्सीजन संयंत्र, 29 राज्यों में एम्स की स्थापना और 25 करोड़ गरीबों को छह – छह हजार रूपये की मदद मिल सकती थी। मगर मिला कुछ भी नहीं।

Next Stories
1 शोले की मौसी के अंदाज में संबित पात्रा ने पूछा राहुल गांधी की उपलब्धि, चुप होकर मुस्कुराने लगे कांग्रेस प्रवक्ता
2 मौके पर चौका मारने को तैयार टीएमसी, बंगाल में भाजपा को रोकने के लिए बना रही रणनीति
3 बिहारः मांझी जी का मन डोल रहा है, तो RJD का गेट खुला है, आ जाएं…HAM चीफ को लेकर बोले तेज प्रताप
ये  पढ़ा क्या?
X