ताज़ा खबर
 

Congress प्रवक्ता ने BJP के गौरव भाटिया से कहा, आपके अहंकार को देख रहा पूरा देश, भाजपा नेता बोले- 5जी के दौर में लैंडलाइन चाहती है कांग्रेस

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलन को 15 दिन हो गए हैं, किसानों को मनाने के लिए 6 राउंड बातचीत के बाद सरकार की लिखित कोशिश भी नाकाम हो चुकी है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | December 10, 2020 12:14 PM
bihar elections bihar elections 2020भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया और कांग्रेस प्रवक्ता रोहन गुप्ता। (फोटो सोर्स वीडियो स्क्रीनशॉट)

कृषि कानूनों को लेकर किसान संगठनों का दिल्ली में विरोध प्रदर्शन जारी है। जहां किसानों ने सरकार की तरफ से लाए गए तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग रखी है, वहीं केंद्र ने भी सख्ती दिखाते हुए नए प्रावधानों से पीछे हटने से इनकार किया है। हालांकि, सरकार ने बातचीत के जरिए विवाद सुलझाने की पेशकश की है। इस बीच किसानों के समर्थन में उतरे विपक्ष ने भाजपा पर हमलावर रुख अपनाया है। एक टीवी डिबेट में तो कांग्रेस प्रवक्ता ने भाजपा को अहंकारी बताते हुए कहा कि पूरा देश आपको देख रहा है।

दरअसल, किसान आंदोलन पर बहस के दौरान भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कांग्रेस प्रवक्ता रोहन गुप्ता पर निशाना साधते हुए कहा था कि मुझे लगता था कि राहुल गांधी ही बिना पढ़े-लिखे बात करते हैं। पर प्रवक्ता भी वही करने लगें, तो चिंता होती है पार्टी की। इस पर कांग्रेस प्रवक्ता भड़क गए। उन्होंने कहा, “आपका अहंकार किसान काटेंगे। आपकी भाषा पूरा देश देख रहा है। आपको मालूम चलेगा कि अन्नदाता के साथ पंगा लेने का क्या मतलब होता है। डिबेट को बरगलाने से काम नहीं चलेगा।”

इसके बाद भाजपा किसान मोर्चा के प्रकाश शर्मा और किसान नेता रमन रंधावा के बीच भी आंदोलन को लेकर बहस हो गई। जहां रंधावा ने कहा कि किसान की शंका उसको उसका भविष्य दिखा रही है। उसको दिख रहा है कि उसके बच्चे आने वाले समय में बधुआ मजदूर बन कर रह जाएंगे। वह इस देश के भविष्य के लिए लड़ रहा है। इस पर प्रकाश शर्मा ने कहा कि रंधावा जी आप चाहते हैं कि हम 5जी के दौर में अपने घरों में लैंडलाइन लगवा लें। शर्मा ने कहा कि तकनीक के माध्यम से ज्यादा पारदर्शिता आएगी, लोगों को ज्यादा पता चलेगा। आपके यहां जो प्रोडक्टिविटी है, वह बिहार की नहीं है।नई तकनीक से यह और बढ़ेगी।

बता दें कि नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलन को 15 दिन हो गए हैं। किसानों को मनाने के लिए 6 राउंड बातचीत के बाद सरकार की लिखित कोशिश भी बुधवार को नाकाम हो गई। इसके बाद किसानों ने आंदोलन तेज करने का ऐलान कर दिया। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गृह मंत्री अमित शाह से लेकर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल किसानों को मनाने की कोशिश में जुटे हैं।

Next Stories
1 बीजेपी प्रवक्ता बोले- सरकार किसानों के विरोध में तो राजस्थान में क्यों दिया वोट? कांग्रेस के अखिलेश बोले- किसी को पता नहीं किसानों की दिक्कत…
2 पूर्व IPS ने अपनी किताब में बताया, वोट बैंक साधने के लिए ठीक से नहीं की गई राजीव गांधी की हत्या की जांच
3 दिल्ली दंगों पर CPM की रिपोर्ट- हिंसा भड़काने में अमित शाह का मंत्रालय जिम्मेदार, हिंदुओं ने किया हमला, बचाव में लगा रहा दूसरा पक्ष
यह पढ़ा क्या?
X