Election Exit Poll Results 2021: एग्जिट पोल पर बोलीं कांग्रेस प्रवक्ता- ये समय चुनावी समीकरण साधने का नहीं, आम आदमी दम तोड़ रहा, उस पर करो बात

Election Exit Poll Results 2021: कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत का कहना था कि आम आदमी दवाओं के अभाव में दम तोड़ रहा है। लोगों को इलाज नहीं मिल रहा है। ऑक्सीजन की कमी से लोग यहां वहां मर रहे हैं। लेकिन आप लोग उनकी सुध लेने के बजाए एग्जिट पोल पर मजमा लगाए बैठे हैं।

suprya shrinate, congress, madhyapradeshकांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि आज देश में कोरोना पूरी तरह से बेकाबू हो चुका है, देश में वैक्सीन की कमी हो गई है। इसलिए ध्यान भटकाने के लिए आम आदमी के सिर को फोड़ा जा रहा है। (एक्सप्रेस फोटो / अनिल शर्मा)

Election Exit Poll Results 2021: पांच राज्यों के नतीजों का अनुमान लगाने के लिए आज तक पर विशेषज्ञों का जमावड़ लगा तो कांग्रेस प्रवक्ता ने एंकर को तीखी झाड़ लगाई। दरअसल एंकर ने असम के अनुमानित नतीजों पर उनकी राय पूछी थी। कांग्रेस प्रवक्ता का कहना था कि ये समय चुनावी समीकरण साधने का नहीं है। आम आदमी को दर्द दिखाओ।

कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने टीवी चैनल पर जोरदार हमला बोला। उनका कहना था कि आम आदमी दवाओं के अभाव में दम तोड़ रहा है। लोगों को इलाज नहीं मिल रहा है। ऑक्सीजन की कमी से लोग यहां वहां मर रहे हैं। लेकिन आप लोग उनकी सुध लेने के बजाए एग्जिट पोल पर मजमा लगाए बैठे हैं। क्या ये समय इसके लिए है।

पश्चिम बंगाल चुनाव का एग्जिट पोल यहां देखें

पांच राज्यों के चुनाव का एग्जिट पोल यहां देखें

एंकर चित्रा त्रिपाठी ने पलटवार करते हुए कहा कि चैनल की संवेदनाएं आम आदमी के साथ हैं। सुबह से जो खबरें दिखाई जा रही हैं वो आम आदमी और सरकारों के फेल सिस्टम की हैं। उन्होंने कहा- हमें कांग्रेस की नसीहत की कोई जरूरत नहीं है। हमें अपने काम के बारे में अच्छी तरह पता है। आजतक के रिपोर्टर सारे यूपी में जगह-जगह पर लोगों की हर संभव सहायता कर रहे हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता का कहना था कि ये संवेदनहीनता की पराकाष्ठा है। उन्होंने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लोगों को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। लोग इलाज के बगैर मर रहे हैं। अस्पतालों को तो और बुरा हाल है। आए दिन मरीजों की ऑक्सीजन के अभाव में दम तोड़ने की खबरें आ रही हैं। दूसरी तरफ योगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का डर दिखा लोगों को डरा रहे हैं।

उनका कहना था कि इस समय देश में सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार 3 लाख 80 हजार से ज्यादा केस हैं। तीन हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। ये समय चुनावी चर्चा का तो नहीं होना चाहिए। इस समय चैनल को अपने सारे समय कोशिश करनी चाहिए कि आम लोगों को कैसे रात मिले। लोगों को मरने की रफ्तार पर कैसे लगाम कसे।

प्रोग्राम में वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला, शशि शेखऱ और सर्वे कंपनी के प्रदीप गुप्ता भी मौजूद थे। इन सभी लोगों ने पांच राज्यों के चुनावों पर अपने-अपने विचार रखे और बताया कि कौन से समीकरणों के चलते बीजेपी असम और बंगाल में धमाकेदार सीटें हासिल कर रही है।

Next Stories
1 Exit Poll के लिए राजी होकर आईं डिबेट में, अब कह रही हैं चर्चा न करूंगी- जब कांग्रेसी अल्का लांबा पर बिफरे ऐंकर
2 कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई में अजीम प्रेमजी ने प्रतिदिन के हिसाब से दिए थे 22 करोड़ रुपए! लोगों ने किया सलाम; ऐसी रही है दानवीर की कहानी
3 वैक्सीन्स बनाने के अलावा हार्स रेसिंग में भी रहा है पूनावाला परिवार का दखल, SII सीईओ अदार के पिता ने दिए 40 साल; पर ‘मनमाफिक रिटर्न’ न दे पाया ये कारोबार
यह पढ़ा क्या?
X