ताज़ा खबर
 

कांग्रेस ने ललित से सुषमा की ‘निकटता’ को लेकर साधा पीएम मोदी पर निशाना

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 'दागी' पूर्व प्रमुख ललित मोदी को यात्रा के लिए दस्तावेज उपलब्ध कराने में मदद को लेकर विवादों में फंसीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बहाने कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर...

Author June 16, 2015 8:41 AM
कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा, “ललित मोदी के अकेले सुषमा स्वराज से ही रिश्ते नहीं थे, बल्कि नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष के साथ भी उनके रिश्ते हैं।”

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के ‘दागी’ पूर्व प्रमुख ललित मोदी को यात्रा के लिए दस्तावेज उपलब्ध कराने में मदद को लेकर विवादों में फंसीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बहाने कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा।

पार्टी ने कहा कि ललित मोदी की मदद किए जाने के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पहले से जानकारी रही होगी।

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यहां एक प्रेसवार्ता में कहा, “हमारे लिए यह मानना मुश्किल है कि प्रधानमंत्री जो अकेले ही विदेश मंत्रालय चलाते हैं उन्हें इस संबंध में कोई जानकारी नहीं थी कि ललित मोदी को सक्रिय रूप से मदद दी जा रही है।”

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, “ललित मोदी के अकेले सुषमा स्वराज से ही रिश्ते नहीं थे, बल्कि नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष के साथ भी उनके रिश्ते हैं।”

सुरजेवाला ने सरकार से 11 सवालों के जवाब मांगे हैं। इन 11 सवालों में से एक सवाल में कांग्रेस ने पूछा है कि प्रधानमंत्री और अमित शाह का ललित मोदी से क्या रिश्ता है?

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15398 MRP ₹ 17999 -14%
    ₹0 Cashback

उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज ने यह स्वीकार्य किया है कि वह न केवल ललित मोदी को जानती हैं, बल्कि उनसे फोन पर भी बातचीत करती हैं।

उन्होंने कहा, “संभवत: यही कारण है कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार द्वारा ललित मोदी के खिलाफ लिए गए फैसले को विदेश मंत्री ने पलट दिया।”

वहीं कांग्रेस के प्रवक्ता पी.एल. पुनिया ने कहा कि सुषमा को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। पुनिया ने यहां संवाददाताओं से कहा, “सुषमा ने इस मामले में जिस तरह से ललित मोदी की सहायता की है, वह राष्ट्रहित में नहीं है। उनकी सफाई बिल्कुल बनावटी है और यह तथ्यों पर खरी नहीं उतरती। पुर्तगाल के कानून के अनुसार किसी भी सर्जरी के लिए पति के हस्ताक्षर लेना जरूरी नहीं है।”

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता पुनिया ने आरोप लगाया कि यह मदद सुषमा और मोदी के बीच ‘एक दूसरे को लाभ पहुंचाने’ का मामला है। ललित मोदी 2010 से लंदन में रह रहे हैं।

पुनिया ने कहा, “सुषमा स्वराज और ललित मोदी के बीच परिस्थितियों के आधार पर संपर्क स्थापित हुआ। एक दूसरे को लाभ पहुंचाने की प्रक्रिया के स्वरूप सुषमा ने ऐसे दागी व्यक्ति का समर्थन किया जो मनी लांड्रिंग और 700 करोड़ रुपये की कर चोरी समेत कई अन्य मामलों में आरोपी है।”

उन्होंने कहा कि तत्कालीन भारत सरकार (मनमोहन के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार) ने ब्रिटेन से कहा था कि मोदी को विदेश जाने की अनुमति न दी जाए।

कांग्रेस के प्रवक्ता पुनिया ने यह भी आरोप लगाया कि सुषमा का परिवार लंबे समय से ललित मोदी से जुड़ा हुआ है।

उधर, आप ने सोमवार को आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी को मदद करने के मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से स्पष्टीकरण की मांग की है। मामला पिछले साल जुलाई में ललित मोदी की कैंसर पीड़ित पत्नी के इलाज के लिए पुर्तगाल जाने में उनकी मदद करने से जुड़ा है।

आप नेता कुमार विश्वास ने कहा, “हम उनके इस्तीफे की मांग नहीं कर रहे, लेकिन उन्हें इस पर सार्वजनिक रूप से स्पष्टीकरण देना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि ऐसे निर्णय प्रधानमंत्री कार्यालय से सलाह मशविरा किए बिना नहीं लिए जा सकते, “यदि ऐसा नहीं है, तो उन्हें इसपर सफाई देनी चाहिए।”

यह विवाद तब शुरू हुआ, जब ब्रिटिश अखबार ‘संडे टाइम्स’ ने एक रिपोर्ट में कहा कि ब्रिटेन में भारतीय मूल के सबसे लंबे समय से सांसद कीथ वाज और ब्रिटेन की वीजा तथा आव्रजन अधिकारी सारा रैपसन के बीच हुए ईमेल आदान-प्रदान में ललित मोदी को यात्रा दस्तावेज उपलब्ध करवाने में स्वराज के नाम का इस्तेमाल किया गया था।

सुषमा ने रविवार को कहा था कि उन्होंने मानवीय आधार पर मोदी की मदद की थी।

युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता सोमवार को सुषमा के सफदरजंग लेन स्थित आवास पर प्रदर्शन करने जा रहे थे। लेकिन सुरक्षा कर्मियों ने उनके आवास की ओर जा रही सड़क पर बाड़ लगा दी थी, जिस कारण प्रदर्शनकारियों को उनके घर के पास ही प्रदर्शन करना पड़ा। हालांकि इस दौरान सुषमा घर पर मौजूद नहीं थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App