ताज़ा खबर
 

‘BJP ने ली लोकतंत्र की सुपारी, Amit Shah के ‘हिटमैन’ साबित हुए राज्यपाल’; महाराष्ट्र की राजनीति पर यूं भड़की कांग्रेस

Maharashtra Govt Formation, BJP-NCP, Congress, Shiv Sena: महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस के सीएम पद की शपथ लेने के बाद कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सत्ता की हवस सिद्धांत व भ्रष्टाचार धो देती है।

गृहमंत्री अमित शाह, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला

Maharashtra Govt Formation, BJP-NCP, Congress, Shiv Sena: महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर हुआ है। शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे के सरकार बनाने के अरमानों पर पानी फेरते हुए बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस ने सीएम पद की शपथ ले ली। उनके साथ एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली है। इस तेजी से बदले घटनाक्रम के बाद सियासी बयानबाजी का दौर अपने चरम पर पहुंच गया है। कांग्रेस नेता और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने लिखा, :अब ये साबित हो गया कि बीजेपी देश के लोकतंत्र की सुपारी ले चुकी है। राज्यपाल एक बार फिर शाह के ‘हिटमैन’ साबित हुए हैं।”

क्या बोले कांग्रेस नेता सुरजेवाला: रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा- अब ये साबित हो गया कि भाजपा देश के लोकतंत्र की सुपारी ले चुकी है। राज्यपाल एक बार फिर शाह के ‘हिटमैन’ साबित हुए हैं। उन्होंने आगे लिखकर पूछा राष्ट्रपति शासन कब हटा, रातोंरात कब दावा पेश किया, कब विधायकों की सूची पेश की, कब विधायक राज्यपाल के समक्ष पेश हुए, चोरों की तरह शपथ क्यों दिलाई?

Maharashtra Government Formation Live: BJP-NCP ने मिलकर बनाई सरकार, Shiv Sena कोे सबसे बड़ा झटका

शायरी कर कसा तंज: सुरजेवाला ने आगे लिखा- मुझे मत देखो यूं उजाले में लाकर। सियासत हूं  मैं, कपड़े नहीं पहनती। इसका मतलब समझते हुए उन्होंने कहा कि इसे कहते हैं- जनादेश से विश्वासघात, लोकतंत्र की सुपारी। बकौल सुरजेवाला सत्ता की हवस सिद्धांत व भ्रष्टाचार धो देती है।


फडणवीस ने ली शपथ:
राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सुबह करीब साढ़े सात बजे एक समारोह में दोनों (देवेंद्र फडणवीस-अजित पवार) को शपथ दिलायी। बता दें कि शिवसेना पर पिछले महीने विधानसभा चुनाव में लोगों के जनादेश का अपमान करने का आरोप लगाते हुए फड़णवीस ने कहा था, ‘‘लोगों ने हमें स्पष्ट जनादेश दिया था लेकिन शिवसेना ने नतीजों के बाद अन्य दलों के साथ गठबंधन करने की कोशिश की जिसके बाद राष्ट्रपति शासन लगा। महाराष्ट्र को स्थायी सरकार की जरूरत है न कि ‘खिचड़ी’ सरकार की।’’

Next Stories
1 Electoral Bonds पर सरकार ने पीछे खींचे कदम, राजनीतिक दलों और आम लोगों की अब नहीं ली जाएगी राय
2 अब AIIMS की फीस बढ़ाने की तैयारी! केंद्र सरकार ने दिया यह निर्देश
3 BJP को अजित पवार के समर्थन पर शिवसेना ने दी पहली प्रतिक्रिया, Sanjay Raut बोले- रात के अंधेरे में पाप हुआ, यह जेल जाने से बचने की जुगत
ये पढ़ा क्या?
X