कांग्रेस प्रवक्ता बोले- आजादी से पहले सावरकर और जिन्ना ने जो किया वो काम आज भागवत और ओवैसी कर रहे हैं, BJP प्रवक्ता ने कहा- जनता मुद्दे नहीं विकल्प देखती है

आगामी विधानसभा चुनावों से पहले महंगाई और जिन्ना का मुद्दा उत्तर प्रदेश में छाया हुआ है, सियासी रैलियों से लेकर टीवी चैनलों पर होने वाली डिबेट में इस पर विचार और विमर्श देखने को मिल जाता है।

Yogi Priyanka Gandhi
योगी आदित्यनाथ और प्रियंका गांधी (फाइल/इंडियन एक्सप्रेस)

आगामी विधानसभा चुनावों से पहले महंगाई और जिन्ना का मुद्दा उत्तर प्रदेश में छाया हुआ है, सियासी रैलियों से लेकर टीवी चैनलों पर होने वाली डिबेट में इस पर विचार और विमर्श देखने को मिल जाता है। समाचार चैनल आज तक के डिबेट शो ‘दंगल’ में एंकर सईद अंसारी ने कहा प्रियंका गांधी की अगुवाई में कांग्रेस उत्तर प्रदेश में अपनी जड़े मजबूत कर रही है तो क्या आप हिंदू मुसलमान के ट्रैप में फंसकर अपना नुकसान करेंगे या फिर जनता के मुद्दों को उठा पाने में कामयाब होंगे। इसका जवाब देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता संजीव सिंह ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में मुद्दों की राजनीति कर रहे हैं।

संजीव सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार मुद्दों की राजनीति कर रही है लेकिन बीजेपी लोगों का ध्यान भटकाने की साजिश करती है, उन्होंने सीएम योगी के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट हटाए जाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सीएम योगी ने जिस शख्स की तस्वीर लेखपाल में चयन होने को लेकर डाली थी, असल में उसने तो फॉर्म तक नहीं भरा था। उन्होंन आरोप लगाया कि राज्य की बीजेपी सरकार ने गायों के नाम 700 करोड़ रुपयों का घोटाला किया।

इसके बाद कांग्रेस प्रवक्ता ने हिंदू मुसलमानों पर की जाने वाली राजनीति के सवाल पर कहा कि क्या ये लोग अब हम पर सवाल करेंगे, जो श्यामा प्रसाद मुखर्जी और मुस्लिम लीग और जिन्ना के साथ मिलकर सरकार बनाते हैं, क्या वो बात करेंगे जिन्ना पर, उन्होंने कहा कि क्या जिन्ना के कसीदे पढ़ने के लिए लाल कृष्ण आडवाणी को माफ कर पाएंगे।

उन्होंने पूछा क्या जसवंत सिंह को जिन्ना पर किताब लिखने के लिए माफ कर पाएंगी। आखिर में उन्होंने कहा कि आजादी से पहले सावरकर और जिन्ना ने जो किया वो काम आज भागवत और ओवैसी कर रहे हैं।

वहीं इसके जवाब में जब एंकर ने भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता के के शर्मा से महंगाई पर सवाल किया तो जवाब में पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि चुनाव कई मुद्दों पर लड़े जाते हैं। उन मुद्दों के साथ जनता यह भी देखती है कि अगला विकल्प है, विकल्प का चरित्र क्या है। उनकी इस बात पर एंकर ने एक बार फिर महंगाई पर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि यह आपका विश्लेषण हो सकता है कि महंगाई बढ़ी है और उस अनुपात में लोगों की आय नहीं बढ़ी।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जनता के लिए महंगाई कोई मुद्दा नहीं है। वहीं बेरोजगारी को खारिज करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में 4.50 लाख लोगों को दी गई। जिसका डाटा मैं चर्चा के दौरान दूंगा।

बीजेपी प्रवक्ता ने दावा किया कि विपक्ष साजिश के तहत राज्य में धार्मिक मुद्दों को उछाल रहा है क्योंकि यहां पिछले 4.5 साल में एक दंगे नहीं हुए। अब वह भड़काउ बयान देकर कानून व्यवस्था को चुनौती दे रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट