अजय मिश्रा के घर पर बुल्डोजर क्यों नहीं चलवाते योगी? कांग्रेस नेता ने पूछा, प्रियंका बोलीं- पहले मंत्री को हटाओ, तभी होगी निष्पक्ष जांच

लखीमपुर हिंसा में मामले यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने सवाल किया कि, छोटे अपराधियों के घरों पर बुलडोजर चलवाने वाली योगी सरकार, अजय मिश्रा के घर पर कब बुलडोजर चलवाएग

CM Yogi And Priyanka Gandhi
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग की है(फाइल/फोटो सोर्स: PTI)।

लखीमपुर हिंसा मामले में कांग्रेस पूरी तरह से सक्रिय नजर आ रही है। बता दें कि पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने कहा कि हम किसानों के परिवारों से मिले, वो न्याय चाहते हैं। बता दें कि हिंसा में जान गंवाने वाले किसान से प्रियंका गांधी ने बुधवार को मुलाकात की थी।

वहीं गुरुवार को प्रियंका गांधी ने कहा कि, इस देश में लोगों को न्याय का अधिकार है, और अभी तक न्याय नहीं मिला है। जो गृह राज्य मंत्री हैं, उनके बेटे को सभी ने सामने आए वीडियो में पहचाना है। अगर वो अपने पद से बर्खास्त नहीं होंगे तो निष्पक्ष जांच कैसे होगी। उन्होंने कहा कि, “हम कल तीनों पीड़ित परिवारों से मिले, उनकी यही मांग है कि, मंत्री बर्खास्त हों, उन्हें मुआवजा नहीं चाहिए, इंसाफ चाहिए। दोषी कोई भी हो, उसे गिरफ्तार किया जाए।”

अजय कुमार लल्लू ने क्या कहा: प्रियंका गांधी के अलावा उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, “छोटे अपराधियों के घरों पर बुलडोजर चलवा देते हैं, मेरा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सवाल है कि अजय मिश्रा टेनी के घर पर बुलडोजर कब चलाएंगे? प्रियंका गांधी मृतक भाजपा कार्यकर्ताओं से भी मिलना चाहती थीं लेकिन पुलिस ने मिलने से रोक दिया।”

बता दें कि लखीमपुर हिंसा मामले में राजनीति तेज हो गई है। बुधवार को राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पीड़ित परिवारों के घर जाकर मुलाकात की थी।

योगी सरकार ने किया आयोग का गठन: वहीं योगी सरकार ने इस मामले में एक सदस्यीय आयोग का गठन किया है। इसको लेकर गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि, यूपी सरकार की तरफ से लखीमपुर हिंसा की जांच के लिए आयोग के गठन की अधिसूचना जारी कर दी गई है। आयोग को मामले की जांच के लिए दो महीने का समय दिया गया है।” बता दें कि इस जांच कमीशन में इलाहाबाद हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज प्रदीप प्रदीप कुमार श्रीवास्तव शामिल हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट