ताज़ा खबर
 

संकट में अभिव्यक्ति की आजादी, पर वे चाहते हैं देश मुंह रखे बंद- सोनिया गांधी का सरकार पर निशाना

सोनिया गांधी ने कहा कि पिछले कुछ समय से हमारे देश को पटरी से उतारने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा ‘‘हमारे लोकतंत्र के सामने नई चुनौतियां खड़ी हुई है। आज देश विरोधी, गरीब विरोधी तथा लोगों को एक दूसरे से लड़ा कर राज करने वाली ताकतें देश में नफरत और हिंसा का जहर घोल रही हैं।’

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा ‘‘दो वर्ष बाद हमारी आजादी को 75 वर्ष पूरे हो जाएंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, आधुनिक भारत के निर्माता पंडित जवाहरलाल नेहरू, संविधान रचयिता बाबा साहब अंबेडकर सहित हमारे सारे पूर्वजों ने यह कल्पना भी नहीं की होगी कि आजादी के 75 वर्ष बाद हम ऐसे कठिन दौर का सामना करेंगे जब हमारा लोकतंत्र और संविधान ही खतरे में पड़ जाएगा। (फाइल फोटो )

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि देश विरोधी, गरीब विरोधी तथा जनता को एक दूसरे से लड़ा कर राज करने वाली ताकतें देश में नफरत और हिंसा का जहर घोल रही हैं। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी संकट में है और वे चाहते हैं कि हमारे आदिवासी, महिलाएं, युवा और देश मुंह बंद रखे।गांधी ने शनिवार को नवा रायपुर अटल नगर में छत्तीसगढ़ के नए विधानसभा भवन के भूमिपूजन कार्यक्रम को वीडियो संदेश के माध्यम से संबोधित किया और राज्य की जनता को बधाई दी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा ‘‘छत्तीसगढ़ विधानसभा का गठन हुए 20 वर्ष हो रहे हैं लेकिन विधानसभा का नया भवन अब बनेगा। विधायिका हमारे लोकतंत्र का सबसे बड़ा तथा सबसे अहम स्तंभ है। संसद और विधानसभाएं हमारे लोकतंत्र के पवित्र मंदिर हैं और इन्हीं मंदिरों से हमारे संविधान की रक्षा होती है। लेकिन याद रखना होगा कि हमारा संविधान भवनों से नहीं, भावनाओं से बचेगा। इन भवनों में दूषित और गलत भावनाओं के प्रवेश को रोकना होगा तब ही हमारा संविधान बचेगा।’’ गांधी ने कहा ‘‘ हमने पिछले सात दशकों में बड़ी दूरी तय की है। लेकिन आजादी की लड़ाई के दौरान जो प्रण हमने किया था उसे पूरा करने के लिए अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है।’’

उन्होंने कहा कि पिछले कुछ समय से हमारे देश को पटरी से उतारने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा ‘‘हमारे लोकतंत्र के सामने नई चुनौतियां खड़ी हुई है। आज देश विरोधी, गरीब विरोधी तथा लोगों को एक दूसरे से लड़ा कर राज करने वाली ताकतें देश में नफरत और हिंसा का जहर घोल रही हैं।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा ‘‘दो वर्ष बाद हमारी आजादी को 75 वर्ष पूरे हो जाएंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, आधुनिक भारत के निर्माता पंडित जवाहरलाल नेहरू, संविधान रचयिता बाबा साहब अंबेडकर सहित हमारे सारे पूर्वजों ने यह कल्पना भी नहीं की होगी कि आजादी के 75 वर्ष बाद हम ऐसे कठिन दौर का सामना करेंगे जब हमारा लोकतंत्र और संविधान ही खतरे में पड़ जाएगा।’’

गांधी ने कहा कि आज हमारे लिए एक महत्वपूर्ण दिन है जब हम एक नए विधानसभा भवन की बुनियाद रख रहे हैं और यही वह दिन है कि हम अपने लोकतंत्र की बुनियाद को सुरक्षित रखने का शपथ लें।उन्होंने कहा ‘‘हम आज शपथ लें कि जब तक हमारे हाथ में सत्ता रहेगी, हम कतार के अंतिम व्यक्ति को भी ध्यान में रखकर फैसले लेंगे।’’छत्तीसगढ़ सरकार की सराहना करते हुए उन्होंने कहा ‘‘यह खुशी की बात है कि राज्य में समावेशी योजनाओं से लोगों के दिलों को जीता जा रहा है। यही सरकारों का कर्तव्य भी होता है।’’

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के नवीन भवन के निर्माण के लिए बटन दबाकर शिलापट का अनावरण किया। इस भूमिपूजन कार्यक्रम में सांसद राहुल गांधी और मोतीलाल वोरा भी ऑनलाइन जुड़े।नए विधानसभा भवन के लिए परियोजना सलाहकार वाप्कोस है जो भारत सरकार का उपक्रम है। इस भवन का डिजाइन रायपुर के वरिष्ठ आर्कीटेक्ट संदीप श्रीवास्तव ने तैयार किया है।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 मेघालयः COVID-19 पर था पूरा ध्यान, 4 महीने में 61 गर्भवती और 877 नवजातों की गई जान
2 पुलवामा हमले में NIA ने 23 साल की इंशा जन को बनाया है आरोपी, हाथों में इंसास रायफल थामे फोटो हुआ था जारी, जानें कौन है ये युवती?
3 दिल्ली दंगों में पुलिस की भूमिका पर एमनेस्टी इंटरनेशनल ने खड़े किए सवाल, MHA की शिथिलता पर भी उठाई उंगली
ये पढ़ा क्या?
X