ताज़ा खबर
 

देश की संपत्ति बेचना ठीक नहीं, सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा, राहुल गांधी का मुहावरा वार

कांग्रेस अध्‍यक्ष ने लिखा कि भारतीय अर्थव्यवस्था पर संकट की शुरुआत 8 नवंबर, 2016 की रात को हुई थी। डॉक्टर मनमोहन सिंह ने दूरदर्शिता के साथ संसद में कहा था कि नोटबंदी से देश की जीडीपी में 2% की गिरावट होगी, लेकिन उनकी सलाह को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पूरी तरह नकार दिया।

Sonia Gandhi, Congress, Prime Minister Narendra Modi, Demonetization, GST, Indian Economyसोनिया गांधी ने मोदी सरकार को आगाह किया है कि नोटबंदी और जीएसटी का फैसला जल्‍दबाजी में लिया गया था। (express file photo)

कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने भारत की गिरती अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। सोनिया गांधी ने मोदी सरकार को आगाह किया है कि जिस तरह से नोटबंदी और जीएसटी का फैसला जल्‍दबाजी में लिया गया था। उसी तरह से अब सरकारी संपत्तियों को बेचने का कदम उठाया जा रहा है। सरकार को ऐसी जल्दबाजी से बचना चाहिए।

सोनिया गांधी ने एक आर्टिकल लिखते हुए मोदी सरकार को चेताया है। कांग्रेस अध्‍यक्ष ने लिखा “भारतीय अर्थव्यवस्था पर संकट की शुरुआत 8 नवंबर, 2016 की रात को हुई थी। डॉक्टर मनमोहन सिंह ने दूरदर्शिता के साथ संसद में कहा था कि नोटबंदी से देश की जीडीपी में 2% की गिरावट होगी, लेकिन उनकी सलाह को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पूरी तरह नकार दिया। आज नतीजा पूरा देश झेल रहा है। इसी तरह जीएसटी ने भी अर्थव्यवस्था को चौपट करने का काम किया है। जीएसटी की वजह से अर्थव्यवस्था गर्त में जा रही है।”

सोनिया गांधी ने लिखा कि सरकार दशकों की मेहनत से खड़ी की गई सरकारी कंपनियों और जनता की संपत्ति को जल्दबाजी में बेचकर खजाना भरना चाहती है। सरकार ने ‘विनिवेश’ के बजाय ‘निजीकरण’ की नीति अपनाई है। सोनिया ने लिखा “क्या एलआईसी और इसके प्रस्तावित आईपीओ के जरिए सरकार की हिस्सेदारी बेचना भारत में बीमा क्षेत्र की इस शीर्ष कंपनी को निजी हाथों में सौंपने की तरफ कदम बढ़ाने का संकेत है? इन्हें प्राइवेटाइज करने पर ऐतिहासिक रूप से समाज के हाशिए पर खड़े वर्गों के लिए आरक्षण और मौके खत्म हो जाएंगे।’

एनपीए को लेकर भी कांग्रेस अध्‍यक्ष ने मोदी सरकार को घेरा है। सोनिया गांधी ने लिखा “इस सरकार के कार्यकाल में देश का पैसा लेकर भागने वाले भगोड़ों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है। यह सरकार पब्लिक सेक्टर के बैंकों का निजीकरण करना चाहती है।”

वहीं राहुल गांधी मोदी सरकार किसानों के प्रदर्शन और महंगाई के मुद्दे को लेकर कटाक्ष कर रहे हैं। उन्होंने किसानों का समर्थन करने वाले अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू पर हुई आईटी के रेड को लेकर सरकार को घेरा है। राहुल ने तीन मुहावरे ट्वीट किए हैं। उन्होने लिखा “कुछ मुहावरे: उँगलियों पर नचाना- केंद्र सरकार IT Dept-ED-CBI के साथ ये करती है। भीगी बिल्ली बनना- केंद्र सरकार के सामने मित्र मीडिया। खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे- जैसे केंद्र सरकार किसान-समर्थकों पर रेड कराती है।”

Next Stories
1 अरविंद केजरीवाल ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, बोले- डरने की ज़रूरत नहीं, सब लोग लगवाएं
2 हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला,निजी क्षेत्र की 75% नौकरियां राज्य के युवाओं के लिए आरक्षित, CII ने जताई चिंता
3 ताजमहल को बम से उड़ाने की धमकी, पर्यटकों को बाहर निकाल बंद किए गए दरवाजे, पकड़ा गया आरोपी
ये पढ़ा क्या?
X