ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी को बताया ‘बिग बॉस’, कहा- उन्‍हें भारतीयों की जासूसी करना अच्‍छा लगता है

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "मोदी का नमो एप सीक्रेट तरीके से ऑडिया, वीडियो, आपके दोस्तों और परिवार का कॉन्टैक्ट रिकॉर्ड करता है, यहां तक कि यह जीपीएस के द्वारा आपके लोकेशन को भी ट्रैक करता है।"

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (FILE PHOTO)

डाटा चोरी के आरोपों से घिरे बीजेपी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक और हमला बोला है। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिग बॉस बताया है और कहा है कि उन्हें लोगों की जासूसी करना पसंद है। बिग बॉस भारत का एक पॉपुलर रियलिटी शो है। इस शो के प्रतिभागी 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रहते हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि मोदी का नमो एप गुपचुप तरीके से आपके ऑडियो, वीडियो को रिकॉर्ड करता है। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “मोदी का नमो एप सीक्रेट तरीके से ऑडिया, वीडियो, आपके दोस्तों और परिवार का कॉन्टैक्ट रिकॉर्ड करता है, यहां तक कि यह जीपीएस के द्वारा आपके लोकेशन को भी ट्रैक करता है, वह बिग बॉस जिसे भारतीयों की जासूसी करना पसंद है, अब वह हमारे बच्चों पर डेटा चाहते हैं, एनसीसी के 13 लाख कैडेट्स को एप को डाउनलोड करने के लिए मजबूर किया गया है।”

बता दें कि 23 मार्च को इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि एनसीसी के लगभग 13 लाख कैडेट्स की व्यक्तिगत डाटा को इकट्ठा किया गया था ताकि प्रधानमंत्री उनके साथ संवाद स्थापित कर सके। 23 फरवरी को एनसीसी के महासचिव ने राज्य निदेशालयों को भेजे गये एक पत्र में कहा था कैडेट्स के एप में नरेंद्र मोदी एप डाउनलोड करने के बाद डाटा कलेक्शन से पीएम द्वारा संवाद में सुविधा होगी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने रविवार (25 मार्च) को भी पीएम मोदी पर डाटा चोरी के लिए हमला बोला था। राहुल गांधी ने तंज कसते हुए एक ट्वीट किया था, “हाइ! मेरा नाम नरेंद्र मोदी है। मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं। जब आप मेरे आधिकारिक एप के लिए साइन अप करते हैं, तो मैं आपके सभी डाटा को अमेरिकी कंपनियों के अपने दोस्तों को देता हूं।” राहुल गांधी एक मीडिया रिपोर्ट का जिक्र कर रहे थे, जिसमें एक फ्रांसीसी निगरानी हैकर ने अपने श्रृंखलाबद्ध ट्वीटों में आरोप लगाया कि मोदी मोबाइल एप के उपभोक्ताओं की ईमेल आईडी, तस्वीरें, लिंग और नाम सहित निजी डाटा उनकी सहमति के बिना एक तीसरे पक्ष के डोमेन पर भेजी जा रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App