ताज़ा खबर
 

राफेल: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी खुली परीक्षा की चुनौती, एडवांस में दिए सवाल

राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ ट्वीटर पर मोर्चा खोल दिया और कहा कि कल (3 जनवरी, 2018) प्रधानमंत्री 'ओपन बुक राफेल डील एक्जाम' का संसद में सामना करेंगे। इसके साथ ही राहुलने चार सवाल ट्वीट किए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो सोर्स: Indian Express)

राफेल मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ संसद से लेकर सड़क और ट्वीटर तक ताबड़तोड़ हमला जारी रखा है। बुधवार को लोकसभा में बोलने के बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सीधी बहस की चुनौती दी। इसके बाद राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ ट्वीटर पर मोर्चा खोल दिया और कहा कि कल (3 जनवरी, 2018) प्रधानमंत्री ‘ओपन बुक राफेल डील एक्जाम’ का संसद में सामना करेंगे। इसके साथ ही राहुलने चार सवाल ट्वीट किए।

राहुल ने ट्वीट में कहा, “कल संसद में प्रधानमंत्री ‘ओपन बुक राफेल डील एक्जाम’ का सामना करेंगे। यहां एडवांस में प्रश्नों को पेश किया जा रहा है. 1. एयरफोर्स को 126 विमानों की जरूर थी फिर 26 एयरक्राफ्ट क्यों? 2. प्रत्येक एयरक्राफ्ट की कीमत 560 करोड़ रुपये थी, फिर 1,600 करोड़ रुपये क्यों? 4. HAL (हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड) की जगह AA (अनिल अंबानी) क्यों? क्या वह इम्तहान के लिए खुद आएंगे या फिर किसी अन्य को भेजेंगे।”

इस ट्वीट में राहुल गांधी ने तीसरे नंबर के प्रश्न का जिक्र नहीं किया। जब लोगों ने पूछा तब राहुल ने कहा कि उन्होंने जानबूझ कर तीसरा प्रश्न रोक लिया था। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ” मैंने तीसरे नंबर का प्रश्न रोक लिया था, क्योंकि मैडम स्पीकर ने कहा था, ‘गोवा टेप के बारे में कोई बात नहीं होगी’। हालांकि, तीसरे नंबर का प्रश्न अब राफेल की तरह ही विवादित हो चुका है। इसलिए लोगों की मांग पर पूछता हूं।” राहुल ने तीसरे प्रश्न में पूछा, “मोदी जी, प्लीज हमें बताइए, पर्रिकर जी ने अपने बेडरूम में राफेल की फाइल क्यों रखी है और इसमें क्या है?”

राफेल मुद्दे पर पीएम मोदी पर सीधा हमला बोलने से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कोई भी मौका नहीं चूक रहे हैं। उन्होंने सदन में राफेल के लिए सीधे तौर पर पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराया। साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने प्रधानमंत्री को इस डील के संबंध में सीधी बहस की चुनौती दी। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री के साथ आमने-सामने 20 मिनट का वक्त दीजिए, फिर देखिए क्या होता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के पास इसके लिए साहस नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 क्रूज शिप चलाने पर भड़के बनारस के ‘गंगा पुत्र’, कहा- पेट पर लात मार रही है मोदी सरकार
2 स्तन कैंसर: बीमारी के बाद मानसिकता से जंग
3 सबरीमाला में महिलाओं के प्रवेश के समर्थन में आए बीजेपी सांसद, पूछा- औरतें अपवित्र कैसे?