मानसरोवर की निर्मलता देख राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर मारा ताना- ‘यहां नफरत नहीं’

राहुल की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर देश में राजनीति जारी है। बीजेपी का आरोप है कि राहुल गांधी पाखंड कर रहे हैं जबकि कांग्रेस उन्हें शिव भक्त कह रही है।

Rahul Gandhi,kailash Mansarovar,Kailash Yatra,Lord Shiva
आपको बता दें कि राहुल गांधी के कैलास मानसरोवर यात्रा लगातार विवादों में हैं। नेपाल के एक स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक, इस यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने नॉनवेज खाया। इसके बाद ये खबर सोशल मीडिया पर वायरल भी हुई। हालांकि, जिस होटल में राहुल गांधी ठहरे थे वहां के प्रबंधन ने बताया कि राहुल गांधी ने शाकाहारी खाना खाया है। होटल ने कहा, 'हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि उन्होंने मेन्यू में से शुद्ध शाकाहारी भोजन ऑर्डर किया था। नॉनवेज खाने की खबर पूरी तरह से अफवाह है।'

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार (05 सितंबर) को कैलाश मानसरोवर के दर्शन किए। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर निशाना साधते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि इस पवित्र स्थान पर किसी प्रकार की नफरत नहीं है। कैलाश मानसरोवर यात्रा पर गए गांधी ने ट्वीट किया, “मानसरोवर झील का पानी बहुत ही निर्मल, स्थिर और शांत है। वह सब कुछ देता है और कुछ भी नहीं लेता। कोई भी उसे पी सकता है। उसमें कोई नफरत नहीं होती। इसलिए हम भारत में इस पावन जल की पूजा करते हैं।” उन्होंने इसके साथ ही मानसरोवर झील और कैलाश पर्वत की तस्वीरें भी शेयर की हैं।

एक अन्य ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा, “एक व्यक्ति कैलाश तब जाता है, जब उसे वहां से बुलावा आता है। यह अवसर पाकर मैं बहुत खुश हूं और इस सुंदर सफर में जो मैं देख पा रहा हूं, उसे आपके साथ साझा कर रहा हूं।” बता दें कि राहुल गांधी 31 अगस्त को इस तीर्थस्थल के लिए रवाना हुए थे। उनकी यह यात्रा 12 दिनों की है। बता दें कि कर्नाटक विधान सभा चुनावों के दौरान राहुल ने कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जाने की घोषणा की थी। राहुल ने तब कहा था कि उनका विमान अचानक तकनीकी खराबी की वजह से 8000 फीट नीचे आ गया था, तब उन्हें बुरे ख्यालात आए थे। उसी समय उन्होंने भगवान शिव को याद किया और मन ही मन में ठाना कि कैलाश मानसरोवर यात्रा पर जाना है। उन्होंने बाद में कहा कि कर्नाटक चुनाव खत्म होने के बाद वो ये यात्रा करेंगे।

इधर, राहुल की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर देश में राजनीति जारी है। बीजेपी का आरोप है कि राहुल गांधी पाखंड कर रहे हैं जबकि कांग्रेस उन्हें शिव भक्त कह रही है। यह भी आरोप लगे कि उन्होंने पवित्र यात्रा के दौरान नेपाल में नॉनवेज खाया है। बाद में नेपाल के होटल ने सफाई दी कि राहुल ने सिर्फ शाकाहारी भोजन किया था। बता दें कि राहुल गांधी अक्सर बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नफरत की राजनीति करने का आरोप लगाते रहे हैं। उन्होंने लोकसभा में विश्वास मत परीक्षण के दौरान भी इसका जिक्र किया था और उनकी सीट पर जाकर उन्हें गले लगाया था।

(एजेंसी इनपुट्स के साथ)

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

X