ताज़ा खबर
 

रॉबर्ट वाड्रा बोले- इसी देश में हूं…कुछ गलत किया तो मैं इसका सामना करने को तैयार हूं…

प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा से जब पूछा गया कि बीजेपी हथियारों के सौदागर संजय भंडारी का नाम लेकर उनको इस मुद्दे में खींचने की कोशिश कर रही है। इस पर वाड्रा ने कहा, "वे लोग किसी भी कारण को लेकर मुझे बीच में खींचने की कोशिश करेंगे।"

रॉबर्ट वाड्रा (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने कहा है कि उन्होंने अपनी व्यावसायिक गतिविधियों में कोई गलती नहीं की है इसलिए कोई भी जांच एजेंसियां उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पा रही है। राफेल डील पर जब रॉबर्ट वाड्रा से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वे इस वक्त राजनीति में नहीं हैं इसलिए इन सवालों का जवाब नहीं देंगे। वाड्रा ने कहा कि जब वो एक बार राजनीति में आएंगे तो ऐसे सवालों का जवाब दिया करेंगे। रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, “जिस दिन मैं राजनीति में आऊंगा इन बातों पर अपनी राय रखूंगा, ये राहुल का क्षेत्र है…राहुल इस पर अपनी बात रख रहे हैं…राहुल अपने विचारों को लेकर बहुत स्पष्ट हैं, राहुल ये सुनिश्चित करेंगे कि देश को पता चले कि क्या सही है और क्या गलत…और जब चुनाव आएगा तो ये लोगों के सामने तय करने के लिए होगा…उनके पास वोट देने का अधिकार होगा तो लोग तय करेंगे…राहुल देश को सही संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं।”

प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा से जब पूछा गया कि बीजेपी हथियारों के सौदागर संजय भंडारी का नाम लेकर उनको इस मुद्दे में खींचने की कोशिश कर रही है। इस पर वाड्रा ने कहा, “वे लोग किसी भी कारण को लेकर मुझे बीच में खींचने की कोशिश करेंगे, मैं इस देश में हूं…ऐसा नहीं है कि मैं दुनिया के किसी और हिस्से में हूं…उनको मेरे पते की जानकारी है…उन्हें पता है कि मैं कहां रहता हूं…वे लोग नये मुद्दे लाते रह सकते हैं…और यदि मैंने कुछ गलत किया है…तो मैं इसका सामना करने को तैयार हूं…और यदि मैंने कुछ गलत नहीं किया है…तो वे ऐसे नये मुद्दे लाते रह सकते हैं…।”

इधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को याद दिलाते हुए कहा कि राफेल विमान सौदे की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) के गठन में छह घंटे से भी कम का समय रह गया है। कांग्रेस प्रमुख ने बुधवार को जेटली पर तब निशाना साधा, जब उन्होंने अपने एक ब्लॉगपोस्ट में राफेल सौदे पर कांग्रेस के आरोपों को ‘पूरी तरह से झूठ’ बताया था। इस पर राहुल ने कहा था कि ‘ग्रेट राफेल रॉबरी’ की जांच के लिए केंद्र जेपीसी का गठन करे। उन्होंने जेटली को चौबीस घंटे में इस मुद्दे को देखकर इसका जवाब देने (चेक एंड रिवर्ट) को कहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App