ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी का हमला- गुरु आडवाणी की इज्‍जत तक नहीं करते नरेंद्र मोदी, कांग्रेस देती है ज्‍यादा सम्‍मान

राहुल इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के बुजुर्ग नेता अटल बिहारी वाजपेयी को सबसे पहले वही देखने एम्स पहुंचे थे।

6 मार्च 2018 को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी (Express Photo by Renuka Puri)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार (12 जून) को मुंबई की एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है और कहा है कि वो अपने राजनीतिक गुरू और संरक्षक लालकृष्ण आडवाणी की इज्जत नहीं करते हैं जबकि कांग्रेस पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को ज्यादा सम्मान देती है। उन्होंने कहा कि कई मौकों पर देखा गया है कि पीएम मोदी आडवाणी जी की सार्वजनिक तौर पर भी इज्जत नहीं करते। उन्होंने कहा कि आडवाणी जी की इस हालत को देखकर उन्हें दुख होता है। राहुल इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री और बीजेपी के बुजुर्ग नेता अटल बिहारी वाजपेयी को सबसे पहले वही देखने एम्स पहुंचे थे।

बता दें कि सोमवार को पूर्व पीएम वाजपेयी को किडनी और सांस संबंधी दिक्कतों की वजह से एम्स में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उन्हें देखने के लिए सबसे पहले राहुल गांधी एम्स पहुंचे थे। राहुल के बाद ही पीएम नरेंद्र मोदी और अन्य केंद्रीय मंत्री एम्स पहुंच सके। पीएम मोदी सोमवार की शाम करीब 7 बजकर 45 मिनट पर पहुंचे। पीएम वहां करीब 50 मिनट तक रहे। इस दौरान उन्होंने वाजपेयी का इलाज कर रहे डॉक्टरों से बातचीत की और उनका हाल जाना। एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया खुद वाजपेयी का इलाज करने वाले डॉक्टर की टीम में शामिल हैं।

एम्स प्रबंधन ने मेडिकल बुलेटिन जारी कर 93 साल के वाजपेयी की हालत स्थिर बताई है। डॉक्टरों ने बताया कि सोमवार को उनका डायलिसिस किया गया था। फिलहाल वो ठीक हैं और चिंता की कोई बात नहीं है। गिरते स्वास्थ्य की वजह से पूर्व पीएम साल 2008 से राजनीतिक सक्रियता से दूर हैं। बता दें कि वाजपेयी देश के पहले गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री रहे हैं जिन्होंने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया है। वो तीन बार देश के प्रधानमंत्री रहे हैं। 1996 में वाजपेयी सरकार 13 दिन चली थी। इसके बाद 1998 में 13 महीने सरकार चल सकी थी। बाद में 1999 से लेकर 2004 तक उन्होंने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया था। वो देश के सबसे ज्यादा उम्र के पूर्व प्रधानमंत्री हैं। एच डी देवगौड़ा और मनमोहन सिंह दो ऐसे पूर्व प्रधानमंत्री हैं जो वाजपेयी से कम उम्र के हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App