ताज़ा खबर
 

कोर्ट से नहीं म‍िली राहत, खुलेंगी सोन‍िया-राहुल की पुरानी टैक्‍स फाइलेें

इस फैसले ने आयकर विभाग के लिए वित्तीय वर्ष 2011-12 के लिए गांधी परिवार के सदस्यों और आॅस्कर फर्नांडीज का कर निर्धारण दोबारा करने का रास्ता तैयार कर दिया है।

सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी। Express Photo by Renuka Puri.

दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी की याचिका को खारिज कर दिया। सोनिया और राहुल गांधी ने अपनी याचिका में नेशनल हेराल्ड का करनिर्धारण दोबारा करवाने के फैसले को चुनौती दी थी। इस फैसले ने आयकर विभाग के लिए वित्तीय वर्ष 2011-12 के लिए गांधी परिवार के सदस्यों और आॅस्कर फर्नांडीज का कर निर्धारण दोबारा करने का रास्ता तैयार कर दिया है।

कोर्ट ने सोनिया और राहुल गांधी से कहा कि वह इस मामले में आयकर अधिकारियों के सामने अपनी आपत्तियां पेश करें। पीटीआई के मुताबिक, जस्टिस एस रविन्द्र भट और एके चावला की बेंच ने कहा, ” ये याचिका खारिज की जाती है।” इसके साथ ही बेंच ने कांग्रेस नेता आॅस्कर फर्नांडिस की याचिका को भी खारिज कर दिया। फर्नांडिस ने भी साल 2011-12 के कर पुर्ननिर्धारण को चुनौती दी थी।

इस मामले की कोर्ट में सुनवाई के दौरान, पिछले महीने, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया था कि यंग इंडिया कंपनी का 90 करोड़ रुपये का कर्ज, जब इक्विटी में बदला गया, इससे कोई भी ऐसी आय नहीं हुई, जिस पर टैक्स देय हो। वहीं यंग इंडिया, जिसकी कुल संपत्ति 50 लाख रुपये की थी, उसका अधिग्रहण नवंबर 2010 में एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) में हो गया था। एजेएल ही वह कंपनी थी जिसके पास नेशनल हेराल्ड समाचार पत्र का मालिकान था।

इस प्रक्रिया के दौरान, यंग इंडिया ने एजेएल के 90 करोड़ रुपये के कर्ज का भी अधिग्रहण किया था। आयकर विभाग उस शिकायत के आधार पर अपनी जांच कर रही है, जिसमें ये कहा गया है कि गांधी परिवार ने एजेएल की संपत्तियों का गबन नई बनी यंग इंडिया कंपनी को हस्तांतरित करने के दौरान किया था। भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का आरोप है कि गांधी परिवार हेराल्ड की संपत्तियों का गलत ढंग से इस्तेमाल कर रहा है। स्वामी इस आरोप को लेकर 2012 में कोर्ट गए थे। इसके बाद लंबी सुनवाई के बाद 26 जून 2014 को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी के अलावा मोतीलाल वोरा, सुमन दूबे और सैम पित्रोदा को समन जारी कर पेश होने के आदेश जारी किए थे, तब से यह मामला कोर्ट में चल रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App