scorecardresearch

कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र से जुड़े एंकर के सवाल पर वरिष्ठ पत्रकार बोले- मनीष तिवारी अगर चुनाव लड़ें तो पता नहीं चलेगा कि किस कोने में होंगे

टीवी डिबेट में पैनलिस्ट ने कहा कि शशि थरूर अगर सचमुच ठीक से चुनाव लड़ें तो भी 20 फीसद से ज्यादा वोट नहीं ले जा सकते।

कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र से जुड़े एंकर के सवाल पर वरिष्ठ पत्रकार बोले- मनीष तिवारी अगर चुनाव लड़ें तो पता नहीं चलेगा कि किस कोने में होंगे
कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी (सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस आर्काइव)

कांग्रेस में अध्यक्ष पद का चुनाव नजदीक है। इस बीच अध्यक्ष पद के उम्मीदवार के तौर पर कई नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं। इनमें मनीष तिवारी का भी नाम उम्मीदवार के तौर पर चर्चाओं में है। इस पर हो रही एक टीवी डिबेट में एंकर ने सवाल किया कि क्या ज्यादा उम्मीदवार होने से लगेगा कि कांग्रेस में लोकतंत्र है और निष्पक्ष चुनाव हुआ है। इस पर पैनलिस्ट ने कहा कि कांग्रेस में हो कुछ और रहा है और दिख कुछ और रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर मनीष तिवारी चुनाव लड़ते हैं, तो पता नहीं किस कोने में होंगे।

पैनलिस्ट वरिष्ठ पत्रकार अकु श्रीवास्तव ने कहा कि अध्यक्ष की रेस में सिर्फ दो कैंडिडेट हैं शशि थरूर और अशोक गहलोत। उन्होंने कहा, “थरूर के ऊपर अगर आलाकमान का आशीर्वाद नहीं है तो वह कुछ वोट जरूर ले जा सकते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि अगर वो सचमुच ठीक से चुनाव लड़ें तो भी 20 फीसद से ज्यादा वोट नहीं ले जा सकते।”

गहलोत को लेकर पत्रकार ने कहा, “सबसे पहली और प्रमुख बात यह है कि क्या वह मन से चुनाव लड़ेंगे? क्या वह मन से अध्यक्ष बनना चाहेंगे? कुर्बानी जिसे आप कह रहे हैं उसके लिए वह तैयार हुए हैं?” उन्होंने कहा कि 1975 के आस-पास कांग्रेस के अध्यक्ष रहे डीके बरुआ का नाम लेकर गहलोत ने अपने साथियों से कहा कि उन्हें अब कौन जानता है। उनका ऐसा मानना है कि जब जब गांधी परिवार से कोई कांग्रेस का अध्यक्ष रहा तो उसका प्रभाव रहा है वरना तो काम चलाऊ स्थितियां रही हैं।

बता दें कि कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर काफी हलचल है। राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी लेने से इनकार कर दिया है। हालांकि, सात राज्यों ने एक प्रस्ताव जारी कर फिर से राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग की थी, लेकिन राहुल ने पार्टी की कमान संभालने से इनकार कर दिया है।

इस बीच माना जा रहा है कि अध्यक्ष पद कr रेस में शशि थरूर और अशोक गहलोत के बीच मुकाबला होने वाला है। थरूर ने सोनिया गांधी से मुलाकात कर खुद अध्यक्ष पद के चुनाव की बात कही थी। पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष ने शशि थरूर से कहा था कि यह चुनाव निष्पक्ष होगा और जो भी चाहे वह अध्यक्ष पद के चुनाव में शामिल हो सकता है। वहीं, राहुल गांधी ने संकेत दिए हैं कि अगर अशोक गहलोत अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें राजस्थान का मुख्यमंत्री का पद छोड़ना होगा।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 24-09-2022 at 10:14:51 pm
अपडेट