ताज़ा खबर
 

चुनावी साल में डेटा पर राहुल गांधी का फोकस, 300 सीटों पर ‘शक्ति’ एप से फीडबैक

राहुल गांधी पार्टी कार्यकर्ताओं से सीधे जुड़ना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने शक्ति एप बनवाया। राहुल गांधी की इस पहल से अब तक 60 लाख समर्थक जुड़ चुके हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो सोर्स : Indian Express)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी को आगामी लोकसभा चुनाव के बाद पुरानी साख वापस दिलाने की तैयारी में लगे हैं। राहुल गांधी ने कांग्रेस को फिर से पावर में लाने के लिए दो बातों पर सबसे ज्यादा ध्यान दे रही है। डेटा और शक्ति एप के सहारे चुनावी लड़ाई को अमली जामा पहनाने का काम शुरू किया जा चुका है। डेटा की जानकारी इकट्ठा कर कांग्रेस लोकसभा की 300 सीटों पर नजरें गड़ाए है। बताया जा रहा है कि फोकस उन सीटों पर है जहां 2004-14 के बीच हुए आम चुनाव में कांग्रेस जीती हो।

एनबीटी की खबर के मुताबिक, कांग्रेस की तैयार की गई रणनीति में बीजेपी को फंसाना आसान नहीं। कांग्रेस ने जिन 300 सीटों को हाथ में लेने की योजना बनाई है, उनमें 250 सीट पर तो बीजेपी सीधा टक्कर दे रही है। अन्य जगहों पर क्षेत्रीय दलों का भी दबदबा है। हालांकि कांग्रेस इन सब को दरकिनार कर आगे बढ़ रही है। बताया जा रहा है कि पार्टी ने सीटों के बाद इन पर उतारे जाने वाले कैंडीडेट की तलाश भी शुरू हो चुकी है। बताया जा रहा है कि अब तक पार्टी इन 300 में से 100 सीट पर कैडीडेट फाइनल भी कर चुकी है।

कांग्रेस के लिए डेटा जुटाने की जिम्मेदारी प्रवीण चक्रवर्ती की है। वह पार्टी के डेटा इकाई के मुखिया हैं। प्रवीण चक्रवर्ती इंवेस्टमेंट बैंक के सीईओ भी रहे हैं। राहुल गांधी पार्टी कार्यकर्ताओं से सीधे जुड़ना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने शक्ति एप बनवाया। राहुल गांधी की इस पहल से अब तक 60 लाख कार्यकर्ता जुड़ चुके हैं। शक्ति एप से जुडे लोगों के फीडबैक के आधार पर ही कांग्रेस कैंडीडेट फाइनल कर रही है। गुजरात में तो करीब 20 चेहरे तय भी कर लिए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App