ताज़ा खबर
 

MP: ‘कहां छिपे हो आपलोग? यहां नफरत फैलाया जा रहा और आप चुपचाप पड़े हो’, कांग्रेस विधायक ने अपनी ही पार्टी नेताओं को ललकारा

इस सांप्रदायिक हिंसा को लेकर मध्य प्रदेश से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने अपनी ही पार्टी के नेताओं पर हमला बोला है। मसूद ने इसपर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि 'कहां छिपे हो आपलोग? यहां नफरत फैलाया जा रहा और आप चुपचाप पड़े हो।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: February 29, 2020 10:55 AM
रतलाम के मध्य प्रदेश से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद। (pc-ani)

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा में जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। इस हिंसा में अबतक 48 लोगों के मारे जाने की खबर आई है। वहीं करीब 200 से ज्यादा घायलों का इलाज चल रहा है। इस सांप्रदायिक हिंसा को लेकर मध्य प्रदेश से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने अपनी ही पार्टी के नेताओं पर हमला बोला है। मसूद ने इसपर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ‘कहां छिपे हो आपलोग? यहां नफरत फैलाया जा रहा और आप चुपचाप पड़े हो।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, रतलाम के विधायक आरिफ मसूद ने कहा- “मैं अपने कांग्रेस नेताओं से यह पूछना चाहता हूं कि आप लोग कहां हैं? क्यों आप छिप रहे हैं? जब अन्य लोगों की तरफ से घृणा फैलाई जा रही है और आप चुप हैं तो आपको भी वही कहा जाएगा।” कुछ भाजपा नेताओं पर इन दंगों को उकसाने का आरोप भी लगा है।

इस हिंसा को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्र की मोदी सरकार से सवाल किया किसीएए में क्या है, वह बात छोड़िये। लेकिन मैं यह प्रश्न पूछना चाहता हूं कि क्या कोई युद्ध चल रहा है या देश में बड़ी संख्या में शरणार्थी आ रहे हैं जो केंद्र सरकार ने सीएए का चक्कर चला दिया। यह कानून बनाने की आखिर क्या आवश्यकता थी? ऐसी कौन सी आफत आन पड़ी थी। इस कानून का आखिर क्या लक्ष्य है?

दिल्ली दंगों के बारे में पूछे जाने पर कमलनाथ ने यहां संवाददाताओं से कहा, “ये घटनाएं बड़े दु:ख और चिंता की बात है क्योंकि हमारे देश की संस्कृति लोगों के दिल जोड़ने की संस्कृति है।”

बता दें दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा के मुताबिक दिल्ली हिंसा में अब तक 123 एएफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। 630 लोगों को गिरफ्तार या फिर हिरासत में लिया गया है। उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगा पीड़ितों की मदद के लिए दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को एक और बड़ा कदम उठाने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार शाम को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 4 सब डिविजन हैं। आम तौर पर यहां 4 एसडीएम होते थे, लेकिन अब हमने यहां 18 एसडीएम नियुक्त किए हैं। सीएम केजरीवाल ने कहा कि जिन लोगों के घर पूरी तरह से या काफी हद तक जल गए हैं, उन्हें कल दोपहर 25,000 रुपये नकद दिए जाएंगे।

दिल्ली हिंसा से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Next Stories
1 Delhi Violence, CAA Protest Updates: दंगाग्रस्त उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सामान्य हो रही स्थिति, सड़कों पर दिखी चहल-पहल
2 पीएम की तारीफ करने वाले जज ने सुप्रीम कोर्ट में चुटकी लेकर कसा आलोचकों पर तंज, कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी कर रहे थे बहस
3 चार दिन में लोगों ने किए 13,200 कॉल, पर दिल्ली पुलिस ने समय पर नहीं लिया एक्शन, इंतजार करते रहे लोग, जलती रही दिल्ली
ये पढ़ा क्या?
X