वाराणसी हिंसा में कांग्रेस विधायक अजय राय गिरफ्तार

कांग्रेस विधायक अजय राय को गंगा में गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन पर प्रतिबंध के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ साधु संतों एवं अन्य..

Varanasi Violence, Ajay Rai, Congress MLA, varanasi curfew, Ajay Rai Arrested, varanasi news, वाराणसी हिंसा, अजय राय, कांग्रेस विधायक, गणेश विसर्जन
अजय राय को गंगा में गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन पर प्रतिबंध के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ साधु संतों एवं अन्य स्थानीय नेताओं के मार्च के दौरान हुई हिंसा एवं आगजनी की घटना में उनकी कथित भूमिका के लिए गिरफ्तार कर लिया गया। (फोटो-पीटीआई)

कांग्रेस विधायक अजय राय को गंगा में गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन पर प्रतिबंध के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ साधु संतों एवं अन्य स्थानीय नेताओं के मार्च के दौरान हुई हिंसा एवं आगजनी की घटना में उनकी कथित भूमिका के लिए आज गिरफ्तार कर लिया गया।

राय को शाम करीब साढ़े पांच बजे यहां बाबतपुर स्थित लाल बहादुर शास्त्री हवाई अड्डे पर उतरने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। राय को नयी दिल्ली से यहां पहुंचने पर गिरफ्तार किया गया। वाराणसी के जिलाधिकारी राजमणि यादव ने कहा कि विधायक अजय राय को सोमवार की हिंसा में उनकी कथित भूमिका के लिए गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तारी का विरोध करते हुए कांग्रेस जिला इकाई के अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा ने कहा, ‘‘पुलिस उन्हें (राय को) किसी गुप्त स्थान पर लेकर गई है…हम वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मुलाकात करके उनसे यह जानने का प्रयास कर रहे हैं कि उन्हें कहां रखा गया है।’’

राय उत्तर प्रदेश विधानसभा में पिंडरा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ा था लेकिन हार गए थे।

इस बीच एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि 105 व्यक्तियों के खिलाफ दशाश्वमेध पुलिस थाने में नामजद रिपोर्ट दर्ज की गई है और उनमें से 50 से अधिक व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गोदौलिया में हुई हिंसा में कथित संलिप्तता के लिए सभी को गिरफ्तार करने के प्रयास जारी हैं।

एसएसपी ने कहा कि पुलिस प्रभावित क्षेत्रों में गश्त कर रही है और स्थिति नियंत्रण में और शांतिपूर्ण है। प्रदर्शनकारियों के हिंसक होने, पथराव करने और पुलिस के चार वाहनों, बूथ, आधा दर्जन मोटरसाइकिल और कुछ दुकानों में आग लगाने के कारण आठ पुलिसकर्मियों सहित 25 लोग घायल हो गए। प्रदर्शनकारियों ने देसी बम भी फेंके।

प्रदर्शनकारी उन प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई के खिलाफ थे जो गंगा नदी में गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के सपा सरकार के प्रतिबंध को वापस लेने की मांग कर रहे थे।

Next Story
सीबीआइ निदेशक रंजीत सिंह मुश्किल में
अपडेट