ताज़ा खबर
 

कांग्रेसी मंत्री शशिकुमार की माँ का आरोप- सीएम सिद्धारमैया ने डलवाई आईटी रेड

शिवकुमार की मां गौरम्मा ने मीडिया से कहा, "सिद्धारमैया ने मेरे बेटे का इस्तेमाल किया और बार-बार उसे धोखा दिया।"
बेंगलुरु में अपने बंगले में मौजूद कर्नाटक के मंत्री डीके शिवकुमार। (Source: PTI)

कर्नाटक की कांग्रेस सरकार में मंत्री डीके शिवकुमार के रिसॉर्ट समेत अन्य परिसंपत्तियों पर छापे के लिए केंद्र और राज्य के कांग्रेसी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और नरेंद्र मोदी सरकार को जिम्मेदार बता रहे हैं। लेकिन खुद शिवकुमार की मां की राय कांग्रेसियों से अलग है। शिवकुमार की मां गौरम्मा ने मीडिया से कहा है कि उनके बेटे शिवकुमार पर छापे के पीछे कांग्रेसी मुख्यमंत्री सिद्धारमैया हैं। गौरम्मा ने गुरुवार (तीन अगस्त) को पत्रकारों से कहा, “सिद्धारमैया मेरे बेटे के पीछे पड़े रहे हैं। इनकम टैक्स के छापे के पीछे उनका हाथ हो सकता है।” आयकर विभाग के अधिकारियों ने गौरम्मा के घर पर भी छापा मारा था।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार गौरम्मा ने मीडिया से कहा, “वो मेरे बेटे से जलते थे। वो उसे तकलीफ पहुंचाना चाहते थे। सिद्धारमैया ने मेरे बेटे का इस्तेमाल किया और बार-बार उसे धोखा दिया।” गौरम्मा का मानना है कि उनके बेटे के खिलाफ षडयंत्र किया जा रहा है। शिवकुमार पर छापे के बाद कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं समेत सिद्धारमैया ने भी इसकी आलोचना की। रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेसी नेताओं ने शिवकुमार की मां के बयान पर अभी तक टिप्पणी नहीं की है।

गौरम्मा ने मीडिया से कहा कि मेरे बेटों (शिवकुमार और डीके सुरेश) ने पार्टी बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है। गौरम्मा ने सिद्धारमैया के राजनीतिक विकास का श्रेय अपने बेटों को देते हुए कहा कि  “सिद्धारमैया अन्न भाग्य और खीर भाग्य जैसी योजनाएं घोषित कर रहे हैं? इसके लिए क्या उनके बाप के घर से पैसा आया है?” गौरम्मा ने कहा है कि उनके बेटे देश की सेवा करते हैं। हालांकि बाद मं गौरम्मा ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने राजनीतिक बदले के लिए उनके बेटे पर छापा मरवाया है।

राज्य सभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान से पहले गुजरात के छह कांग्रेसी विधायकों के पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने अपने 44 विधायकों को कर्नाटक के एक रिसॉर्ट में भेज दिया था। बुधवार (दो अगस्त) को बेंगलुरु के करीब स्थित इस रिसॉर्ट पर आयकर विभाग ने छापा मारा। कांग्रेस ने कहा है कि बीजेपी सरकार राजनीतिक बदले की भावना से ये कार्रवाई कर रही है। वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में कहा कि राज्य सभा चुनाव से इन छापों का कोई लेना-देना नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.