ताज़ा खबर
 

कांग्रेस का मार्च: दिहाड़ी मजदूरों को मेकअप करके ‘बापू’ बनाया, खत्म होते ही वापस ले लिया धोती, चश्मे और बाकी सामान

'लखनऊ कॉन्फिडेंशल' में द इंडियन एक्सप्रेस ने छापा है कि 2 अक्टूबर की पदयात्रा के बाद कांग्रेस नेताओं ने उन तमाम दिहाड़ी मजदूरों से कपड़े और धोती ले लिए, जिन्हें पहनाकर उन्हें महात्मा गांधी का रूप दिया गया था।

Author Updated: October 7, 2019 9:35 AM
2 अक्टूबर को प्रियंका गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने लखनऊ की सड़क पर मौन पदयात्रा निकाली थी। (फोटो क्रेडिट/ यूपी कांग्रेस ईस्ट ट्विटर हैंडल)

महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पार्टी की एक बड़े पदयात्रा का नेतृत्व कीं। इस दौरान भारी संख्या में कांग्रेस के नेता एवं कार्यकर्ता सड़क पर उतरे और 3 किलोमीटर तक मार्च निकाला। लेकिन, इस दौरान सभी लोगों का ध्यान महात्मा गांधी का वेश धारण किए लोगों ने खींचा। धोती, गमझा और लाठी लिए ये लोग नंगे पैर सड़क पर मार्च करते दिखाई दिए। लेकिन, खबर है कि जिन लोगों को गांधी की वेश-भूषा में सड़क पर उतारा गया, बाद में उनसे तमाम कपड़े वापस ले लिए गए।

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के कॉलम ‘लखनऊ कॉन्फिडेंशल’ में छपा है कि पदयात्रा के दौरान महात्मा गांधी के रूप में 100 से अधिक लोगों को तैयार किया गया था। गौर करने वाली बात यह है कि इन्हें पड़ोसी जिलों से लाया गया था और ये दिहाड़ी मजदूर थे। कांग्रेस के नेताओं ने उन्हें महात्मा गांधी के अवतार में उतारने के लिए विशेष मेकअप और पोशाक का प्रबंध किया गया था। जिसमें गोल चश्मा, एक लाठी, उनके सिर को ढंकने के लिए एक कपड़ा, एक सफेद धोती और एक सफेद दुपट्टा शामिल था। इन लोगों ने हुजूम के साथ शहीद स्मारक से जीपीओ पार्क तक पूरे 3 किलोमीटर नंगे पांव पदयात्रा की। हालांकि, सूत्रों ने बताया कि पदयात्रा के समापन के बाद, उन्हें कपड़े और अन्य प्रॉप्स जमा करने के लिए कहा गया था। क्योंकि, वे लखनऊ की एक दुकान से किराए पर लिए गए थे।

पदयात्रा को लेकर कांग्रेस काफी उत्साहित दिखाई दे रही थी। हालांकि, उस दौरान पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने सार्वजनिक रूप से कुछ नहीं कहा, लेकिन उन्होंने मीडिया से बातचीत में चिन्मयानंद प्रकरण को जरूर उठाया था। उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा था कि बीजेपी पहले बापू के बताए सत्य के पथ पर चले, फिर बात करे।

उन्होंने कहा था कि यूपी में कानून-व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। अपराधी प्रदेश सरकार की शरण में हैं और सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया करा रही है। गौरतलब है कि कांग्रेस यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र बीजेपी को टक्कर देने की कोशिश में जुटी है। लिहाजा, प्रदेश में अपना खोया हुआ जनाधार हासिल करने के लिए प्रियंका लगातार यूपी का दौरा कर रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 INDIAN RAILWAYS: हम डिजर्व करते हैं तेजस जैसी ट्रेनें? चलने के अगले ही दिन पत्थरबाजी, टूट गए शीशे
2 जब्त होगी कैराना के विधायक नाहिद हसन की संपत्ति! मर्डर की कोशिश से लेकर रंगदारी तक का आरोप, ‘भगोड़े’ घोषित
3 मोदी की मेजबानी में बांग्लादेशी पीएम हसीना के लिए परोसे गए शाकाहारी व्यंजन, मेहमानों ने सुने ‘होठों से छू लो तुम’ और बंगाली गाने
जस्‍ट नाउ
X