ताज़ा खबर
 

वरिष्ठ कांग्रेसी बोले- सोनिया, राहुल से आसानी से नहीं मिल पातें हैं पार्टी के नेता

अनिल शास्त्री ने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी का कोई वरिष्ठ नेता जैसे सोनिया गांधी और राहुल गांधी पार्टी नेताओं के साथ बैठक करना शुरू कर दें तो आधी समस्याएं ही खत्म हो जाएंगी।

sonia gandhi rahul gandhi congressकांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी और पार्टी नेता राहुल गांधी। (पीटीआई)

कांग्रेस पार्टी में चिट्ठी को लेकर शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अनिल शास्त्री ने कहा है कि ‘पार्टी के नेता शीर्ष नेतृत्व से आसानी से नहीं मिल पाते हैं।’ अनिल शास्त्री ने कहा कि कुछ चीजें हैं, जो कांग्रेस नेतृत्व की कमी हैं। सबसे अहम ये है कि पार्टी नेताओं के बीच बैठकें नहीं होती हैं। यदि कोई नेता दूसरे राज्य से दिल्ली आता है तो उसका पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मिलना आसान नहीं होता है।

अनिल शास्त्री ने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी का कोई वरिष्ठ नेता जैसे सोनिया गांधी और राहुल गांधी पार्टी नेताओं के साथ बैठक करना शुरू कर दें तो आधी समस्याएं ही खत्म हो जाएंगी। बता दें कि अनिल शास्त्री पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के बेटे हैं।

बता दें कि सोमवार को 7 घंटे तक चली कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में तय हुआ है कि फिलहाल पार्टी की कमान अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ही संभालेंगी। सोनिया गांधी AICC के अगले अधिवेशन तक इस पद पर बनी रहेंगी। कांग्रेस के 23 वरिष्ठ नेताओं द्वारा पार्टी में बदलाव और पूर्णकालिक अध्यक्ष की मांग को लेकर सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी गई थी। इस चिट्ठी के सार्वजनिक होने के बाद सीडब्लूसी की बैठक बुलायी गई थी।

बैठक के दौरान इस पत्र को लेकर काफी हंगामा हुआ और राहुल गांधी ने इसे लेकर नाराजगी जाहिर की। राहुल गांधी ने बैठक के दौरान कहा कि अंतरिम अध्यक्ष के सहयोग के लिए एक व्यवस्था बनायी जानी चाहिए, जिसे लेकर पार्टी के अधिवेशन में चर्चा हो सकती है। इससे पहले सोनिया गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ने की पेशकश भी की थी। हालांकि बाद में मनमोहन सिंह और एके एंटनी की अपील पर वह पद पर बने रहने के लिए मान गई।

कांग्रेस में पूर्णकालिक अध्यक्ष एवं सामूहिक नेतृत्व की पैरवी करते हुए सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले नेताओं में शामिल कपिल सिब्बल ने मंगलवार को कहा कि यह किसी पद के लिए नहीं, बल्कि देश के लिए है जो उनके लिए सबसे ज्यादा मायने रखता है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘यह पद के लिए नहीं है। यह मेरे देश के लिए है, जो सबसे ज्यादा महत्व रखता है।’’

गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिब्बल ने यह टिप्पणी उस वक्त की है कि जब एक दिन पहले ही कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में राहुल गांधी की एक कथित टिप्पणी और फिर उन पर सिब्बल की तरफ से निशाना साधे जाने के बाद विवाद हो गया था। बाद में सिब्बल ने कहा कि खुद राहुल गांधी ने उन्हें सूचित किया कि उनके हवाले से जो कहा गया है वो सही नहीं हैं और ऐसे में वह अपना पहले का ट्वीट वापस लेते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस बनाम कांग्रेस: शशि थरूर की डिनर पार्टी में हुई थी सोनिया को ख़त लिखने की बात?
2 कांग्रेस बनाम कांग्रेस: सोनिया को चिट्ठी लिखने वाले नौ नेताओं ने अलग से की बैठक, कहा- सार्वजनिक करें हमारा पत्र
3 चुनाव वाले बिहार में PM Cares Fund से बनेंगे दो कोविड अस्पताल, महाराष्ट्र में हुई हैं सबसे ज़्यादा मौतें
IPL 2020 LIVE
X