ऑक्सीजन की कमी से मौतः कांग्रेस शासित छत्तीसगढ़ ने ऐसी मृत्यु पर ऑडिट के दिए आदेश, कहा- झूठ बोल रही मोदी सरकार

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि केंद्र सरकार ने उनसे कभी ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का आंकड़ा नहीं पूछा।

oxygen crisis
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के पास भी अबतक ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं है। लेकिन हम इसे ठीक करने का प्रयास कर रहे हैं। (एक्सप्रेस फोटो)

पिछले दिनों राज्यसभा में केंद्र सरकार ने कहा था कि कोरोना महामारी के दौरान देशभर में किसी भी व्यक्ति की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है। केंद्र सरकार के इस दावे को झूठा बताते हुए छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने राज्यभर में कोरोना से हुई मौतों के ऑडिट करने के आदेश दिए हैं ताकि यह पता किया जा सके कि कितने लोगों की मौत ऑक्सीजन की कमी की वजह से हुई है।

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि केंद्र सरकार ने उनसे कभी ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का आंकड़ा नहीं पूछा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ से सिर्फ प्रतिदिन होने वाली मौतों और दूसरे अन्य आंकड़ों को बताने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार जानबूझ कर इस मामले में झूठ बोल रही है।

समाचार चैनल एनडीटीवी से बातचीत के दौरान स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के पास भी अबतक ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं है।  लेकिन हम इसके आंकड़े को ठीक करने का प्रयास कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हम पहले से ही कोरोना से हुई मौतों का ऑडिट कर रहे हैं। हम इस मामले में सबकुछ पारदर्शी रखना चाहते हैं और कुछ भी छिपाना नहीं चाहते हैं।

टीएस सिंह देव ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना से हुई मौतों को लेकर एक ऑडिट शुरू भी कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री ने एनजीओ, सामाजिक संस्थाओं और राज्य की जनता से अपील की है कि अगर किसी के पास कोरोना महामारी के दौरान ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों की जानकारी है तो उसे स्वास्थ्य विभाग के साझा करें। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी दावा किया है कि उनके राज्य में ऑक्सीजन सरप्लस था। राज्य की ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 388.87 मीट्रिक टन थी और अधिकतम खपत 180 मीट्रिक टन थी।  

बता दें कि पिछले दिनों स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने राज्यसभा में एक प्रश्न के जवाब में कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई। उन्होंने कहा था कि सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश नियमित रूप से केंद्र सरकार को कोरोना के मामले और इसकी वजह से हुई मौत की संख्या के बारे में जानकारी देते हैं। लेकिन किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ने ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी व्यक्ति के मौत की जानकारी नहीं दी है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।