ताज़ा खबर
 

कांग्रेस बनाम कांग्रेस: शशि थरूर की डिनर पार्टी में हुई थी सोनिया को ख़त लिखने की बात?

शशि थरूर की उस डिनर पार्टी में पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी.चिदंबरम, उनके बेटे कार्ति चिदंबरम, सचिन पायलट, अभिषेक मनु सिंघवी और मणिशंकर अय्यर जैसे नेता शामिल हुए थे लेकिन उन्होंने चिट्टी पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं।

Sashi Tharoor, congress cwc sonia gandhiशशि थरूर की डिनर पार्टी में कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शामिल हुए थे। (पीटीआई/फाइल फोटो)

कांग्रेस पार्टी में बदलाव की मांग को लेकर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखी गई चिट्ठी को लेकर हंगामा हो गया है। अब एक रिपोर्ट के हवाले से बताया गया है कि इस चिट्ठी की पटकथा पांच माह पहले कांग्रेस सांसद शशि थरूर द्वारा दी गई डिनर पार्टी में लिखी गई हो सकती है। बता दें कि शशि थरूर की डिनर पार्टी मार्च में हुई थी और इसमें कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए थे।

गौरतलब है कि शशि थरूर की डिनर पार्टी में शामिल होने वाले कई नेताओं ने इस चिट्ठी पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, शशि थरूर की उस डिनर पार्टी में पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी.चिदंबरम, उनके बेटे कार्ति चिदंबरम, सचिन पायलट, अभिषेक मनु सिंघवी और मणिशंकर अय्यर जैसे नेता शामिल हुए थे लेकिन उन्होंने चिट्टी पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं।

हालांकि शशि थरूर की डिनर पार्टी में शामिल होने वाले कई नेताओं ने पार्टी में पत्र को लेकर औपचारिक बातचीत होने से इंकार किया है। अभिषेक मनु सिंघवी ने बताया कि मुझे शशि थरूर द्वारा पार्टी में आमंत्रित किया गया था। इस पार्टी में पार्टी के भीतर सुधार को लेकर अनौपचारिक बातचीत हुई थी। हालांकि मुझे किसी पत्र के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई थी।

वहीं पार्टी में शामिल होने वाले नेताओं में शामिल मणिशंकर अय्यर ने कहा कि ‘मैंने पत्र पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं और ना ही मुझे उसके बारे में कुछ बताया गया। मुझसे किसी ने हस्ताक्षर करने के लिए कहा भी नहीं। अय्यर ने भी कहा कि पार्टी में सुधार के मुद्दे पर सामान्य बातचीत हुई थी। इस दौरान पत्र लिखने को लेकर सलाह दी गई थी, जिसका किसी ने विरोध नहीं किया था लेकिन डिनर के दौरान मुझसे किसी ने कुछ नहीं कहा’

वहीं पहचान ना जाहिर करने की शर्त पर एक सांसद ने बताया कि वह भी शशि थरूर की उस पार्टी में मौजूद थे और उन्होंने चिट्ठी पर हस्ताक्षर भी किए थे क्योंकि उन्हें लगता है कि कांग्रेस को तुरंत बदलाव की जरूरत है। बता दें कि फिलहाल कांग्रेस में यथास्थिति बहाल रखी गई है और सोनिया गांधी फिलहाल अंतरिम अध्यक्ष का पद संभालती रहेंगी।

बता दें कि सोमवार को हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के 23 वरिष्ठ नेताओं द्वारा लिखी गई चिट्ठी की खूब चर्चा हुई और इसे लेकर बैठक के दौरान जमकर हंगामा भी हुआ। हालांकि पी.चिदंबरम ने चिट्ठी लिखने वाले नेताओं का समर्थन किया है और कहा है कि असंतोष ही बदलाव लाता है।

चिट्ठी लिखने वाले 23 नेताओं में गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, मुकुल वासनिक, जितिन प्रसाद, कपिल सिब्बल, मनीष तिवारी और शशि थरूर का नाम शामिल है। द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक चिट्ठी लिखने वाले 9 नेताओं ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद गुलाम नबी आजाद के आवास पर बैठक भी की थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस बनाम कांग्रेस: सोनिया को चिट्ठी लिखने वाले नौ नेताओं ने अलग से की बैठक, कहा- सार्वजनिक करें हमारा पत्र
2 चुनाव वाले बिहार में PM Cares Fund से बनेंगे दो कोविड अस्पताल, महाराष्ट्र में हुई हैं सबसे ज़्यादा मौतें
3 Coronavirus India HIGHLIGHTS: महाराष्ट्र में कोरोना के एक दिन के रिकॉर्ड 14,888 नए केस मिले, उद्धव सरकार ने राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षाएं टालीं
ये पढ़ा क्या?
X