ताज़ा खबर
 

र‍िलायंस ग्रुप ने भेजा नोट‍िस तो कांग्रेस नेता ने कागज का जहाज द‍िखा कर कहा- आप से अच्‍छा व‍िमान बना सकता हूं

पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने राफेल सौदा विवाद को लेकर रिलायंस ग्रुप से मिले एक कानूनी नोटिस के बाद ट्वीट कर अनिल अंबानी को निशाने पर लिया है। सुनील जाखड़ ने अपनी एक तस्वीर ट्वीट की है, जिसमें वह कागज का एक जहाज दिखा रहे हैं।

कांग्रेस नेता सुनील जाखड़। (Image Source: Twitter/@sunilkjakhar)

पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने राफेल सौदा विवाद को लेकर रिलायंस ग्रुप से मिले एक कानूनी नोटिस के बाद ट्वीट कर अनिल अंबानी को निशाने पर लिया है। सुनील जाखड़ ने अपनी एक तस्वीर ट्वीट की है, जिसमें वह कागज का एक जहाज दिखा रहे हैं। इस तस्वीर के साथ जाखड़ ने लिखा, ”राफेल सौदे को लेकर रिलायंस ग्रुप की तरफ से ‘सीज एंड डेसिस्ट’ का कानूनी नोटिस मिला है। मिस्टर अनिल अंबानी मैं बार-बार दोहराता हूं कि मैं आपसे अच्छा विमान बना सकता हूं।” सुनील जाखड़ राफेल सौदे को लेकर एक बार लोकसभा में भी ऐसा ही कागज का नमूना दिखा चुके हैं। बता दें कि कांग्रेस लगातार राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को घेर रही है। राफेल डील को लेकर कांग्रेस मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही है, जिसकी आंच अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस पर भी आ रही है। अनिल अंबानी का कहना है रिलायंस ग्रुप का इस डील के साथ कुछ भी लेना देना नहीं है लेकिन कांग्रेस जानबूझकर उन्हें बदनाम कर रही हैं।

अनिल अंबानी दो बार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र भी लिख चुके हैं, साथ ही कुछ कांग्रेसी नेताओं को ‘सीज एंड डेसिस्ट’ का कानूनी नोटिस भेज चुके हैं। इस बार उन्होंने सुनील जाखड़ और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता जयवीर शेरगिल को यह नोटिस भेजा है। नोटिस में कहा गया है कि कांग्रेस नेता राफेल सौदे पर असत्यापित, तुच्छ और बदनाम करने वाले अपने बयानों से बचें। नोटिस में अनिल अंबानी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला, अशोक चव्हाण, संजय निरुपम, अभिषेक मनु सिंघवी और अन्य नेता उनके और उनके समूह के बारे में गलत, तुच्छ और भ्रामक बयान देते आ रहे हैं। इन नेताओं को कानूनी नोटिस भेजे गए लेकिन उनके जवाब नहीं आए।

अनिल अंबानी ने कहा है कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस कॉरपोरेट प्रतिद्वंदियों की शह पर जानबूझकर रिलायंस ग्रुप की प्रतिष्ठा को मैला करने के लिए कलंक लगाने का अभियान चला रही है। रिलायंस डिफेंस ने पहले भेजे गए कानूनी नोटिस के जवाब नहीं मिलने पर सुरजेवाला, चव्हाण और अन्य के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज करा दिया है। राहुल गांधी को भेजे एक पत्र में अनिल अंबानी ने दावा किया था कि रिलायंस डिफेंस और राफेल के बीच सौदे में कोई अनियमितता नहीं बरती गई। दूसरे पत्र में अंबानी ने कहा कि राफेल जेट फाइटर रिलायंस या दसॉल्ट रिलायंस ज्वाइंट वेंचर के द्वारा नहीं बनाए जा रहे हैं। सभी 36 विमान सौ फीसदी फ्रांस में निर्मित होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App