छठ से पहले यमुना नदी में पानी का छिड़काव, कांग्रेस नेता बोले- केजरीवाल की निंजा टेक्निक

यमुना नदी के जहरीले पानी को लेकर विपक्ष ने दिल्ली सरकार पर लोगों की आस्था से खिलवाड़ करने का भी आरोप लगाया है। इन सब सियासी और धार्मिक उठापटक के बीच यमुना नदी का जो हाल सामने आया है, वह सोच में डाल देता है।

Delhi Chhath pooja, Yamuna River
यमुना नदी के जहरीले पानी में लोग स्नान करने के लिए मजबूर हैं(फोटो सोर्स: ANI)।

छठ पूजा के मौके पर दिल्ली में यमुना नदी में जहरीले झागों को लेकर आम आदमी पार्टी की सरकार लोगों के निशाने पर हैं। वहीं विपक्ष भी जमकर केजरीवाल सरकार पर हमलावर है। बता दें कि जहरीले झागों में खत्म करने के लिए दिल्ली जल बोर्ड की तरफ से झागों पर पानी का छिड़काव किया जा रहा है। जिससे झागों को हटाया जा सके।

इसको लेकर यूथ कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने एक ट्वीट में लिखा, “केजरीवाल की नई निंजा तकनीक।” इसके अलावा शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने तंज कसते हुए लिखा, “विकल्प के तौर पर पंखे भी आजमा सकते हैं, या गो फोम गो का जाप कर सकते हैं। अगर यह स्थिति गंभीर रूप से जहरीली स्थिति नहीं होती तो यह मजाकिया होता।”

बता दें कि महापर्व छठ को देखते हुए यमुना नदी का पानी जहरीले स्तर पर है। ऐसे में लोग दिल्ली सरकार पर निशाना साध रहे हैं। वहीं इस स्थिति से त्वरित निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने नदीं में आए झागों पर पानी छिड़काव कराया, जिससे झाग खत्म किये जा सके। इसके अलावा नदी में जहरीले झाग को घाट की ओर आने से रोकने के लिए बैरिकेड्स भी लगाए जा गये हैं।

गौरतलब है कि जहरीले झागों को लेकर केजरीवाल सरकार पर एक दिन पहले भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने सवाल करते हुए कहा था कि केजरीवाल ने यमुना जी को मैली कर दी और खुद दूसरे प्रदेशों में घूम रहे हैं। वायु प्रदूषण के साथ ज़हरीली झाग में आस्था की डुबकी लग रही है। उन्होंने लिखा कि हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, सब जगह नदी घाट पर छठ पूजा मनाई जा रही है। लेकिन दिल्ली में ऐसा नहीं है क्योंकि हर साल आप सरकार झूठ बोलती है। उसका ध्यान सिर्फ़ प्रचार पर है।

बता दें कि छठ पूजा के दौरान यमुना नदी में जहरीले पानी में लोग स्नान करने के लिए मजबूर हैं। गौरतलब है कि यमुना नदी पर तैरता हुआ खतरनाक झाग, अमोनिया के स्तर में वृद्धि और उच्च फॉस्फेट सामग्री के कारण होता है। यह झाग उन औद्योगिक कचरों से आता है जोकि यमुना नदी में छोड़े जाते हैं।

इसको लेकर बीजेपी नेता अमित मालवीय ने कहा था कि छठ पूजा कर रहे श्रद्धालु यमुना नदी के जहरीले पानी में डुबकी लगाने को विवश हैं। दिल्ली मेंछठ मनाने वालों की संख्या अधिक हैं। इस तरह की स्थिति शर्म की बात है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट