ताज़ा खबर
 

‘मुस्लिम लीग से पहले सावरकर ने की थी दो राष्ट्रों की वकालत, बंटवारे की जिम्मेदार नहीं कांग्रेस’, शशि थरूर का तीखा हमला

शशि थरूर ने बताया कि 1940 में कांग्रेस के लाहौर सत्र में मुस्लिम लीग के इस मांग से बहुत पहले सावरकर इस सिद्धांत की बात कर चुके थे।

कांग्रेस नेता व सांसद शशि थरुर, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने शुक्रवार को देश के बंटवारे का विचार देने के लिए सावरकर को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि मुस्लिम लीग के प्रस्ताव से काफी पहले ही उन्होंने इस तरह की बात कही थी। उन्होंने कहा कि मुस्लिम लीग के पाकिस्तान नाम से अलग देश बनाने के प्रस्ताव पास करने के तीन साल पहले ही दक्षिणपंथी नेता सावरकर ने दो राष्ट्रों के सिद्धांत की बात कही थी। इस तरह की बात करने वाले वे पहले नेता थे। उन्होंने यह भी कहा कि बंटवारे के समय सबसे बड़ा सवाल था कि क्या धर्म राष्ट्रवाद का निर्णायक होना चाहिए।

बोले गांधी, नेहरू जैसे नेताओं ने इस सिद्धांत को अस्वीकार कर दिया था: जयपुर में एक कार्यक्रम में शशि थरूर ने बताया कि 1940 में कांग्रेस के लाहौर सत्र में मुस्लिम लीग के इस मांग से बहुत पहले सावरकर इस सिद्धांत की वकालत कर चुके थे। उन्होंने कहा कि “महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और अन्य लोगों के नेतृत्व में बड़ी संख्या में भारतीय पक्ष ने इसे अस्वीकार कर दिया था। इन नेताओं ने कहा था कि धर्म आपकी पहचान नहीं हो सकता है। यह आपके राष्ट्रीयता का निर्णय नहीं करता है। हमने सभी की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी है और सभी के लिए एक राष्ट्र बनाया है।”

Hindi News Live Hindi Samachar 25 January 2020: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

कहा हिंदुत्व आंदोलन ने संविधान को खारिज कर दिया था: थरूर बोले “सावरकर ने कहा कि हिंदू के लिए भारत उनकी पितृभूमि और पुण्यभूमि है। इसलिए हिंदू, सिख, बौद्ध और जैन के लिए ये दोनों भूमि है, लेकन मुस्लिम और ईसाई के लिए नहीं।” उन्होंने यह भी बताया कि हिंदुत्व आंदोलन ने स्पष्ट रूप से संविधान को खारिज कर दिया था। थरूर के इस बयान से एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है।

शिवसेना ने सावरकर को महान नेता बताया था : हाल ही में दिल्ली में एक रैली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सावरकर को राष्ट्रवादी मानने से इंकार करते हुए कहा था कि “मेरा नाम राहुल गांधी है, राहुल सावरकर नहीं है।” इसके ठीक बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा था कि सावरकर एक महान नेता थे। उनका अपमान पार्टी सहन नहीं कर सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिल्ली चुनाव: 25 साल में सबसे कम उम्मीदवार, BJP ने दिए सबसे कम महिलाओं को टिकट
2 बिहार में इस हफ्ते बरस सकते हैं बादल, जानिए अपने क्षेत्र के मौसम का हाल
3 टीआरएस ने किया क्लीन स्वीप, भाजपा-कांग्रेस बुरी तरह पिछड़ीं
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit