कोरोना और चुनावः राहुल गांधी ने रद्द कीं ‘सभी रैलियां’, बोले- बाकी नेता भी सोचें; आधे चुनाव के बाद बंगाल में रखी गई थीं रैलियां

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक रैलियों का संबंध कोरोना से जोड़े जाने की बात को गृह मंत्री अमित शाह नकार चुके हैं।

Author Edited By कीर्तिवर्धऩ मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 18, 2021 12:32 PM
Congress, Rahul Gandhiकांग्रेस नेता राहुल गांधी अब पश्चिम बंगाल में नहीं करेंगे राजनीतिक रैली। (एक्सप्रेस फोटो)

भारत में कोरोनावायरस के केस तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच पश्चिम बंगाल में जारी चुनावी रैलियों के खिलाफ कई आवाजें उठ चुकी हैं। अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ऐलान किया है कि कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर वे बंगाल में चुनावी रैली नहीं करेंगे। उन्होंने बाकी नेताओं से भी इस तरह के फैसले के बारे में सोचने को कहा है।

क्या बोले राहुल गांधी?: राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “कोरोनावायरस की स्थिति के मद्देनजर मैं पश्चिम बंगाल में सारी सार्वजनिक रैलियां रद्द कर रहा हूं। मैं सभी नेताओं को सलाह देता हूं कि वे मौजूदा स्थिति में बड़ी सार्वजनिक रैलियां करने के नतीजों के बारे में गहराई से सोचें।”

बंगाल चुनाव के सेकंड हाफ में ही थीं राहुल की रैलियां: गौरतलब है कि राहुल को बंगाल में आधा चुनाव निपट जाने के बाद भरपूर रैलियां करनी थीं। पार्टी में राज्य स्तर के नेतृत्व का कहना था कि वे ढेर सारी सीटें जहां से कांग्रेस लड़ रही है, वे आखिरी के चरण में आती हैं और गांधी का अब होने वाला दौरा बिल्कुल सही समय पर है। बता दें कि कांग्रेस ने पिछले चुनाव में दो जिलों (मुर्शिदाबाद और मालदा) की 44 सीटों में से आधे पर जीत दर्ज की थी, जबकि इन दोनों जिलों में आखिरी चरण में मतदान होगा।

अमित शाह कर चुके हैं भाजपा का चुनावी अभियान जारी रखने की बात: इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बंगाल में भाजपा का चुनाव अभियान जारी रखने की बात कह चुके हैं। इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में शाह ने बंगाल में भाजपा के जीतने का मौका देखते हुए कहा था कि कोरोना के बढ़ते केसों को चुनाव से जोड़ना गलत है। उन्होंने कहा, ‘देखिए महाराष्ट्र में चुनाव हैं क्या? इधर 60 हजार केस हैं। जबकि इधर (बंगाल में) 4 हजार केस हैं।”

उन्होंने आगे कहा था, “महाराष्ट्र के लिए भी मुझे अनुकंपा है और इसके लिए भी अनुकंपा है। इसको चुनाव के साथ जोड़ना ठीक नहीं है। किन-किन राज्यों में चुनाव हुआ? जहां चुनाव नहीं हुआ है, उधर ज्यादा बढ़े। अब आप क्या कहेंगे। आपने मुझसे सीएए के बारे में पूचा, बताइए क्या कोरोनाकाल में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन होना चाहिए था।”

Next Stories
1 ऑक्सीजन, रेमडेवेसिर के लिए पीएम को लगाया फोन तो जवाब मिला- चुनाव में व्यस्त हैं; उद्धव ठाकरे का आरोप
2 IPL 2021: MI से हारी SRH तो बोले लोग- केदार जाधव को 2 करोड़ में बेंच पर बिठाने को खरीदा था?
3 अस्पताल और श्मशान में फ़र्क़ मिट गया है- कोरोना के कहर के बीच रवीश कुमार की टिप्पणी
यह पढ़ा क्या?
X