ताज़ा खबर
 

‘हमारी लड़ाई इसी सोच के खिलाफ’, दलित पिटाई का वीडियो शेयर कर बोले राहुल गांधी; शिवराज ने अफसरों पर गिराई गाज, तीन का तबादला

राहुल गांधी ने घटना से जुड़ा वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, 'हमारी लड़ाई इसी सोच और अन्याय के खिलाफ है।'

dalit coupleवीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है। (फोटो सोर्स- ट्विटर)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश के गुना में एक दलित दंपति की पुलिस द्वारा कथित तौर पर पिटाई की घटना पर प्रतिक्रिया दी है। गुरुवार (16 जुलाई, 2020) को उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई इसी सोच व अन्याय के खिलाफ है। राहुल गांधी ने घटना से जुड़ा वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘हमारी लड़ाई इसी सोच और अन्याय के खिलाफ है।’ वीडियो में दर्जनभर पुलिसकर्मी दलित दंपत्ति को बुरी तरह पीटते हुए नजर आ रहे हैं।

इस घटना पर गंभीरता से संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार रात को गुना के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक सहित तीन अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने इस घटना के उच्च स्तरीय जांच के आदेश भी दिए गए हैं। मामले में प्रदेश जनसंपर्क आयुक्त डॉक्टर सुदाम पी खाडे ने को बताया कि गुना की घटना को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए मुख्यमंत्री ने गुना के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक सहित तीन अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि किसी भी प्रकार की बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जाएगी ।

इधर राहुल गांधी के ट्वीट पर ट्विटर यूजर जमकर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। अजीत पांडे @Ajitpan81693849 लिखते हैं, ‘देश विरोधी लोगों के खिलाफ कब लड़ाई लड़ोगे राहुल गांधी।’ एक यूजर @yippeekiyay_dk लिखते हैं, ‘ये सोच इनके आकाओं की सरपरस्ती का नतीजा है। गरीबों पर लाठी डंडे चलाने और अमीरों को बर्थडे केक सर्व करना ही इनकी जिम्मेदारी बनकर रह गई है… शर्मनाक। हाशिम @MD___hashim लिखते हैं, ‘शिवराज सरकार दलित मुस्लिम विरोधी है। मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार दलितों की जमीन हड़प रहीं हैं। दलितों पर अत्याचार कर रही है। याद रखे सरकार किसी एक की नहीं है। सरकार आती जाती रहती है। आने वाले उपचुनाव में दलित बीजेपी को सबक सिखाएंगे।

इसी तरह विनय कुमार @VinayDokania लिखते हैं, ‘4 साल पहले शिवराज ने मंदसौर के किसानों पर गोली चलवाई थी। अब वापिसी होते ही किसानों पर भाजपा सरकार ने फिर से पुलिसिया बर्बरता शुरू करवा दी है। जनता के मैनडेट के विरुद्ध एक चुनी हुई सरकार गिराने और अत्त्याचारी शिवराज को सत्ता में लाने के लिए जनता सिंधिया को कभी माफ नहीं करेगी। रुचिरा चतुर्वेदी @RuchiraC लिखती हैं, ‘शिवराज सरकार की वापसी और किसानों पर फिर से अत्याचार।’

उल्लेखनीय है कि प्रदेश कांग्रेस ने इस मुहिम की आलोचना करते हुए घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पुलिस कार्रवाई का विरोध करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट में कहा, ‘ये शिवराज सरकार प्रदेश को कहां ले जा रही है? ये कैसा जंगल राज है? गुना में कैंट थाना क्षेत्र में एक दलित किसान दंपति पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों द्वारा बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया।’

उन्होंने कहा, ‘यदि पीड़ित युवक का जमीन संबंधी कोई शासकीय विवाद है तो भी उसे कानूनी ढंग से हल किया जा सकता है लेकिन इस तरह कानून हाथ में लेकर उसकी, उसकी पत्नी की, परिजनों की और मासूम बच्चों तक की इतनी बेरहमी से पिटाई, यह कहां का न्याय है? उन्होंने कहा, ‘क्या यह सब इसलिए कि वो एक दलित परिवार से हैं, गरीब किसान हैं? क्या ऐसी हिम्मत इन क्षेत्रों में तथाकथित जनसेवकों और रसूखदारों द्वारा कब्जा की गयी हजारों एकड़ शासकीय भूमि को छुड़ाने के लिये भी शिवराज सरकार दिखाएगी? ऐसी घटना बर्दाश्त नहीं की जा सकती है। इसके दोषियों पर तत्काल कड़ी कार्रवाई हो, अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ..तो अब राजीव गांधी फाउंडेशन से जमीन वापस लेगी केंद्र सरकार? बीजेपी सांसद बोले- उनकी चिट्ठी पर पीएम ने दिया है निर्देश
2 अब सचिन पायलट और 18 बागियों की विधायकी पर भी खतरा, मिला नोटिस; गहलोत बोले- इनकी रगड़ाई नहीं हुई है
3 Reliance Jio AGM में Jio TV Plus और Jio Glass से उठा पर्दा, जानें खासियतें और जरूरी डिटेल्स
ये पढ़ा क्या?
X