ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी बोले- किसी भी BJP नेता का नाम बताइए जिसने पाकिस्तान में हिन्दुस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया हो, फिर सुनाई 33 साल पुरानी कहानी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) को निशाने पर लेते हुए राहुल गांधी ने कहा कि दोनों का मकसद समाज में नफरत फैलाना है, जो कांग्रेस ने कभी नहीं किया।

rahul gandhiदिल्ली की जंगपुरा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी तरविंदर सिंह मारवाह के साथ कांग्रेस नेता राहुल गांधी। (ANI)

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान में महज दो दिन का समय बचा है। ऐसे में प्रदेश की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी (AAP) सहित कांग्रेस और भाजपा ताबड़तोड़ प्रचार में जुटी हैं। भाजपा की तरफ से जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित और पार्टी के राष्ट्र अध्यक्ष जेपी नड्डा लगातार चुनावी रैलियों में जुटे हैं वहीं आप की कमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संभाल रखी है। अब कुछ दिनों की देरी के बाद आखिरकार कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी प्रचार में जुट गए और मंगलवार (4 फरवरी, 2020) को उन्होंने भाजपा को उसी की पिच घेरा।

कांग्रेस नेता ने कहा कि क्या भाजपा के किसी नेता ने पाकिस्तान में जाकर ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’ का नारा लगाया है? रैली के दौरान उन्होंने एक कांग्रेस नेता से जुड़ी घटना का उदहारण दिया जिन्होंने पड़ोसी देश में जाकर भारत का नारा बुलंद किया था। दिल्ली के जंगपुरा में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ‘कांग्रेस नेता तरविंदर सिंह मारवाह साल 1987 में पाकिस्तान गए और ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’ का नारा बुलंद किया।’

राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘भाजपा नेता देशभक्ति की बात करते हैं। मुझे एक ऐसे नेता का नाम बताइए जिसने पाकिस्तान में जाकर ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’ का नारा लगाया हो। जंगपुरा से कांग्रेस उम्मीदवार ने ऐसा किया है।’ राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भी निशाना साधा। कांग्रेस नेता ने कहा कि दोनों नेताओं की दिलचस्पी नौजवानों को नौकरी देने में नहीं है। इसके उलट वे सत्ता में रहने के लिए एक भारतीय को दूसरे भारतीय से लड़ाना चाहते हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) को निशाने पर लेते हुए राहुल गांधी ने कहा कि दोनों का मकसद समाज में नफरत फैलाना है, जो कांग्रेस ने कभी नहीं किया। आठ फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले अपनी पहली रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आर्थिक मंदी और बेरोजगारी के मुद्दे से नहीं निपटने और हिंसा को बढ़ावा देने के लिए भाजपा को आड़े हाथों लिया।

उन्होंने कहा, ‘वे (भाजपा) हिन्दू धर्म की बात करते हैं, वे इस्लाम की बात करते हैं, वे सिख धर्म की बात करते हैं। उन्हें धर्म का कोई ज्ञान नहीं है। हिन्दू धर्म, इस्लाम, ईसाई, सिख धर्म में — कहां लिखा है कि अन्य लोगों पर हमला करो, उनका दमन करो?’’ उन्होंने आगे कहा कि मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का यह कैसा ‘‘हिंदू धर्म’’ है। हिंदू धर्म में सबको साथ लेकर चलने की बात है। (भाषा इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Election 2020: कांग्रेस के लिए पंजाब से चुनाव प्रचार करने आए थे विधायक, कार ले उड़े चोर
2 Delhi Election 2020: चुनाव ऐलान के बाद बढ़ गए बीजेपी के वोट शेयर, करीब एक महीने में 8 फीसदी का इजाफा
यह पढ़ा क्या?
X