ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने PM केयर्स को बताया ‘आपदा में अवसर’, कहा- खयाली पुलाव था कोरोना को 21 दिन में हराना

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार को कोरोनावायरस और भारत-चीन के मुद्दे पर घेरते रहे हैं।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: September 16, 2020 9:56 AM
Rahul Gandhi, Congress, INC, WhatsApp-BJP Nexus, BJP, Narendra Modiकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी। (फाइल फोटो)

भारत को 2020 की शुरुआत से लेकर अब तक कई मोर्चों पर मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। कोरोनावायरस से लेकर गिरती अर्थव्यवस्था और भारत-चीन के मुद्दे पर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर रुख अख्तियार किए हुए है। इस बीच कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में भाजपा ने एक से एक ख़याली पुलाव पकाए। इसमें उन्होंने लॉकडाउन से लेकर आत्मनिर्भर भारत पैकेज और एलएसी विवाद के मुद्दे तक को उठा दिया।

राहुल ने अपने ट्वीट में कहा, “कोरोनाकाल में भाजपा ने एक से एक ख़याली पुलाव पकाए। 21 दिन में कोरोना को हरायेंगे। आरोग्य सेतु ऐप सुरक्षा करेगा। 20 लाख करोड़ का पैकेज। आत्मनिर्भर बनो। सीमा में कोई नहीं घुसा। स्थिति संभली हुई है।” राहुल ने ट्वीट के अंत में पीएम केयर्स फंड को निशाने पर लेते हुए कहा, “लेकिन एक सच भी था- आपदा में अवसर।”

मां सोनिया गांधी के साथ अमेरिका गए हैं राहुल: बता दें कि राहुल अब तक संसद सत्र में शामिल नहीं हुए हैं। वे अपनी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का चेकअप कराने के लिए अमेरिका गए हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि वे आधे सत्र में शामिल नहीं होंगे। हालांकि, इसके बावजूद वे ट्विटर के जरिए भाजपा नीत केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

चीन मुद्दे को लेकर रक्षा मंत्री पर लगाया गुमराह करने का आरोप: एक दिन पहले ही उन्होंने चीन मुद्दे को लेकर रक्षा मंत्री पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया था। अपने ट्वीट में उन्होंने कहा था, “रक्षामंत्री के बयान से साफ़ है कि मोदी जी ने देश को चीनी अतिक्रमण पर गुमराह किया। हमारा देश हमेशा से भारतीय सेना के साथ खड़ा था, है और रहेगा। लेकिन मोदी जी, आप कब चीन के ख़िलाफ़ खड़े होंगे? चीन से हमारे देश की ज़मीन कब वापस लेंगे? चीन का नाम लेने से डरो मत।”

एक दिन पहले ही केंद्र सरकार ने कहा था कि उसे प्रवासी मजदूरों की मौत के आंकड़े नहीं पता हैं। इस पर भी राहुल ने तंज कसते हुए कहा था, “मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गयीं। तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई, उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 फेक न्यूज के चलते हुआ था लॉकडाउन में मजदूरों का पलायन, गरीबों में बैठ गया था डर: गृह मंत्रालय
2 रेलवे ने किया 40 क्लोन ट्रेनें चलाने का ऐलान, देखें पूरी लिस्ट, जानें- कैसे मिलेगा फायदा
3 खुलासा: भारत-चीन के मंत्रियों की बातचीत से पहले भी हुई LAC पर गोलीबारी की घटना, पैंगोंग सो में हुई थी 200 राउंड फायरिंग
IPL 2020: LIVE
X