ताज़ा खबर
 

VIDEO: हिंदू महासभा, सावरकर और मोहम्मद अली जिन्ना ने बोए थे विभाजन के बीज, कांग्रेस नेता चिंदबरम ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

वीडियो में चिदंबरम कह रहे हैं कि "हिंदू महासभा और सावरकर ने टू नेशन थ्योरी के बीज बोए थे और फिर मोहम्मद अली जिन्ना ने इसे अपनाया था।

Author Edited By नितिन गौतम नई दिल्ली | Updated: December 15, 2019 9:25 PM
कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम, (फाइल फोटो)

दिल्ली में आयोजित हुई कांग्रेस की देश बचाओं रैली में राहुल गांधी ने सावरकर को लेकर एक बयान दिया था, जिस पर जारी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब कांग्रेस ने पूर्व गृहमंत्री पी.चिदंबरम का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें चिंदबरम ने देश के बंटवारे के लिए हिंदू महासभा, सावरकर और मोहम्मद अली जिन्ना को जिम्मेदार ठहराया है। चिदंबरम ने कहा कि ‘हिंदू महासभा, सावरकर और जिन्ना ने टू नेशन थ्योरी के बीज बोए थे।’

वीडियो में चिदंबरम कह रहे हैं कि “हिंदू महासभा और सावरकर ने टू नेशन थ्योरी के बीज बोए थे और फिर मोहम्मद अली जिन्ना ने इसे अपनाया था। देश के बंटवारे के असली दोषी तीन हैं, पहला हिंदू महासभा का प्रस्ताव, सावरकर और मोहम्मद अली जिन्ना। कांग्रेस राजनैतिक पार्टियों में सबसे बाद में बंटवारे के लिए सहमत हुई। हमें भाजपा से इतिहास पर सबक लेने की जरूरत नहीं है।” कांग्रेस पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इस वीडियो को शेयर किया है।

बता दें कि शनिवार को दिल्ली में आयोजित हुई कांग्रेस की रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि ‘मैं माफी नहीं मांगूंगा। मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गांधी है।’ दरअसल राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए एक रैली के दौरान कहा था कि पीएम मोदी ने ‘मेक इन इंडिया’ का नारा दिया था, लेकिन आज देश में हर जगह ‘रेप इन इंडिया’ दिखाई दे रहा है। इस बयान पर भाजपा ने राहुल गांधी से माफी की मांग की थी।

वहीं राहुल गांधी ने सावरकर को लेकर जो बयान दिया, सत्ताधारी पार्टी भाजपा के नेताओं ने उसे लेकर राहुल को निशाने पर ले लिया। संबित पात्रा ने निशाना साधते हुए कहा कि ‘भले ही राहुल गांधी 100 जन्म ले लें, लेकिन वह सावरकर नहीं बन सकते।’

राहुल गांधी के बयान पर महाराष्ट्र की राजनीति भी गरमा गई है। दरअसल शिवसेना नेता संजय राउत ने राहुल गांधी के बयान पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि ‘वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं। सावरकर नाम गर्व और गौरव का देश है। नेहरू और गांधी की तरह सावरकर ने स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान दिया। ऐसे हर भगवान को सम्मानित किया जाना चाहिए। हम पंडित नेहरू, महात्मा गांधी में विश्वास करते हैं। वीर सावरकर का अपमान न करें। जय हिंद।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘दिल्ली में गोधरा कांड दोहराने की तैयारी हैं, ये आग अमानतुल्ला खान ने लगवाई है’, भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया दिल्ली में बस में आग का VIDEO
2 नागरिकता कानून: दिल्ली में भी तेज हुई विरोध की आग, छोड़ने पड़े आंसू गैस के गोले, हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारी
3 असम में नागरिकता कानून को लेकर विरोध के बीच ऑल असम स्टूडेंट यूनियन कर सकती है राजनीतिक दल की घोषणा
ये पढ़ा क्‍या!
X