ताज़ा खबर
 

चीन कब्जा चुका है हमारी जमीन, ये भी ऐक्ट ऑफ गॉड है?- राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना

राहुल गांधी का यह ट्वीट विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मॉस्को में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) शिखर सम्मेलन के मौके पर अपने चीनी समकक्ष वांग यी से मुलाकात के बाद आया है।

Rahul Gandhi, Congress, India, China, Ladakh,राहुल गांधी ने एक बार फिर कृषि विधेयक पर ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। (फोटो- पीटीआई)

भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी जमीन पर चीन ने कब्जा कर लिया है। भारत सरकार इसे वापस हासिल करने की योजना बना रही है? या फिर ये भी ऐक्ट ऑफ गॉड है? राहुल गांधी का यह ट्वीट विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मॉस्को में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) शिखर सम्मेलन के मौके पर अपने चीनी समकक्ष वांग यी से मुलाकात के बाद आया है। दोनों नेताओं के बीच बैठक में, भारत और चीन लद्दाख में सीमा तनाव को कम करने पर पांच-सूत्री सर्वसम्मति पर पहुंचे थे।

राहुल गांधी के ट्वीट पर लोगो ने तरह तरह के रिप्लाई किए हैं। @go4avinash नाम के ट्वीटर यूजर ने लिखा चीन और उसके हमदर्दों की हताशा। @imanonymous नाम क यूजर ने लिखा प्लान ये है कि गवर्मेंट ऑफ इंडिया को जब कांग्रेस लीड करेगी तब इस हिस्से को वापस लिया जाएगा। एक यूजर ने लिखा, बस आपकी कमी है आर्मी में आपको कमांडर बनाकर भेजने जा प्रस्ताव है। आप बहादुर है तेज तर्रार है। चीनी को अच्छी तरह समझते है। कर पाएंगे। एक सुरेंद्र सिंह नरुका नाम के यूजर ने लिखा चीन वालों ने बोला होगा ये सब बोलने के लिए। क्योंकि सब को पता है LAC पर क्या हाल बना रखा है चीन वालों का हमारी फौज ने। एक आदित्य नाम के यूजर ने लिखा विदेशों के विपक्ष और भारत के विपक्ष में यही 1 सबसे बड़ा फर्क है के वहां का विपक्ष देश के मामलों में सरकार का साथ देता है और भारत का विपक्ष साथ देना तो दूर की बात उल्टा आलोचना करते नहीं थकते।

shy993490 नाम के यूजर ने लिखा कैसे पता चला सर कोई विडियो रिकॉर्ड या कॉल रिकॉर्ड कुछ तो या आप खुद वहां से घूमकर आये हैं। @vicky99715 नाम के यूजर ने लिखा, 1950 तक कोको द्वीपसमूह हमारा था, फिर नेहरू जी ने बर्मा(आज का म्यांमार) को दे दिया। बर्मा ने 1994 में चीन को दे दिया। अब चीन ने वहां अपनी मिसाइलें भारत के लिए तैनात कर रखी हैं। अंडमान-निकोबार से सिर्फ 20 किलोमीटर दूर है कोको द्वीपसमूह।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी ने किया था ‘जहां झुग्गी, वहीं मकान’ का वादा, अब सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर से 48000 झुग्गियों पर खतरा, SC गई कांग्रेस
2 हरभजन सिंह ने शेयर किया मॉर्डन थाली का ये फोटो, लोग मजे ले बोले- ये इनोवेशन और नई जेनेरेशन है
3 पुण्यतिथि विशेषः ‘मॉडर्न मीरा’ कही जाती थीं महादेवी वर्मा, जानें बापू ने क्यों विदेश जाने से कर दिया था मना
यह पढ़ा क्या?
X