अब PK पर चन्नी से रारः सिद्धू बोले- हाईकमान करेगा चुनाव रणनीतिकार की सेवा लेने का फैसला, सीएम ने की थी वकालत

हालही में पंजाब के सीएम चरणजीत चन्नी ने संकेत दिए थे कि वह उस व्यक्ति की ओर रुख कर सकते हैं जिसने 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराने में मदद की।

Navjot Singh Sidhu
कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की सेवाएं लेने के मामले में बयान दिया है। (फोटो सोर्सः इंडियन एक्सप्रेस)

पंजाब कांग्रेस के अंदर मची खींचतान खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की सेवाएं लेने के मामले में बयान दिया है। उन्होंने शुक्रवार को कहा है कि ये फैसला तो पार्टी हाईकमान लेगा।

बता दें कि हालही में पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने संकेत दिए थे कि वह उस व्यक्ति की ओर रुख कर सकते हैं जिसने 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराने में मदद की और मई में बंगाल में तृणमूल की शानदार जीत की योजना बनाई।

वहीं सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि ये फैसला तो पार्टी ही करेगी। अगर सीएम उन्हें नियुक्त भी करना चाहते हैं, तो भी यह पार्टी आलाकमान ही तय करेगा।

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने अपना इस्तीफा वापस लिया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि वो पंजाब प्रदेश अध्यक्ष का चार्ज उसी दिन संभालेंगे, जिस दिन राज्य को नया एजी मिलेगा।

चन्नी के सीएम बनने के कुछ दिन बाद ही पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से सिद्धू ने इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद कांग्रेस आलाकमान ने उनका इस्तीफा नहीं स्वीकार किया था। एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए, सिद्धू ने कहा कि जिस दिन पंजाब को नया महाधिवक्ता (एजी) मिलेगा, उसी दिन वो कार्यभार ग्रहण करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि “जब आप सच्चाई के रास्ते पर होते हैं तो पोस्ट मायने नहीं रखते।”

चन्नी के सीएम बनने के बाद कुछ दिनों तक तो सिद्धू ठीक रहे थे, फिर उनका चरणजीत सिंह चन्नी के साथ भी विवाद हो गया था। बताया जाता है कि नई सरकार में मंत्रियों को विभागों के आवंटन से सिद्धू नाराज थे, इसलिए उन्होंने इसके बाद ही इस्तीफा दे दिया था।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे अपने त्याग पत्र में सिद्धू ने लिखा था, ‘मैं पंजाब के भविष्य और पंजाब के कल्याण के एजेंडे से कभी समझौता नहीं कर सकता। इसलिए मैं पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देता हूं। कांग्रेस की सेवा करता रहूंगा।’

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट