यूपी चुनाव में अब मुगलों की एंट्री; कांग्रेस के मणिशंकर ने बाबर की शान में पढ़े कसीदे, कहा- अकबर को समझते हैं अपना, जहांगीर को बताया आधा राजपूत

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा, “हम अकबर को अपना समझते हैं, हम उनको गैर नहीं समझते हैं और उनकी शादियां राजपूतों से होती थीं। नतीजा ये है कि जहांगीर आधा राजपूत थे… और उनके बेटे शाहजहां 4 में से 3 हिस्सा तो हिंदू थे।”

UP Election, HIndutwa, Congess
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने हिंदुत्व के मुद्दे पर भाजपा को घेरा। (Photo- Indian Express Archive)

राजनीतिक दलों में मुगल बादशाहों और देश में उनकी मान्यता को लेकर नए-नए बयान दिए जा रहे हैं। इससे देश में एक बार फिर हिंदू-मुसलमान को लेकर राजनीति तेज हो गई। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले ताजा बयान कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर का आया है। नेहरू जयंती के अवसर पर राजधानी दिल्ली में उन्होंने कहा कि हम अकबर को अपना समझते हैं और जहांगीर आधा राजपूत था।

सियासती बयानों में मुगलों की इंट्री करते हुए उन्होंने उनकी शान में कसीदे पढ़े। अय्यर ने कहा कि “सत्ता में बैठे लोगों को सिर्फ देश के 80 फीसदी लोगों की चिंता है, बीस फीसदी लोगों की नहीं। उन्होंने बीजेपी पर घृणा फैलाने और देश में लोगों को बांटने का भी आरोप लगाया।”

उन्होंने इतिहास की नई जानकारी देते हुए कहा कि मुगलों ने देश को अपना बनाया। अंग्रेजों ने उनसे कहा कि हम तो राज करने के लिए आए हैं। कांग्रेस नेता ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के लोग अक्सर मुझको बाबर की औलाद नाम देते हैं। इन लोगों को मैं बताना चाहता हूं कि बाबर भारतवर्ष में सन 1526 में आया और 1530 में उसकी मौत हो गई। यानी वह भारत में मात्र चार वर्ष रहा।

अय्यर ने कहा कि मरने से पहले बाबर ने “हूमायूं को बताया कि अगर आप इस देश को चलाना चाहते हो….यदि आप अपने साम्राज्य को सुरक्षित रखना चाहते हो तो आप यहां के निवासियों के धर्म में दखल ना दीजिएगा।” कहा, उनके बेटे अकबर ने इस देश में पूरे पचास साल तक राज किए। इसी के मद्देनजर जहां मैं मंत्री होने के समय रहता था, उस सड़क का नाम अकबर रोड और हमारा जो कांग्रेस का ऑफिस है… वो भी अकबर रोड पर है।

अय्यर ने कहा कि “हमें तो कोई एतराज नहीं है। हम तो नहीं कहते हैं कि नहीं नहीं… हम कांग्रेसी हैं, हम अकबर रोड पर कैसे रह सकते हैं, इसको आप महाराणा प्रताप रोड बना दीजिए। हम अकबर को अपना समझते हैं, हम उनको गैर नहीं समझते हैं और उनकी शादियां राजपूतों से होती थीं। नतीजा ये है कि जहांगीर आधा राजपूत थे… और उनके बेटे शाहजहां 4 में से 3 हिस्सा तो हिंदू था।”

मणिशंकर अय्यर ने पुरानी जनगणना का हवाला देते हुए कहा कि 1872 में देश में 72 फीसदी हिंदू थे और 24 फीसदी मुसलमान थे। कमोबेश ये संख्या अब भी वैसी ही है, इसलिए मुसलमानों पर जनसंख्या बढ़ाने के आरोप पूरी तरह से गलत हैं।

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के इस बयान से सियासत में हिंदू-मुस्लिम को लेकर बयानबाजी और तेज होने की आशंका है। इस बीच यूपी, पंजाब समेत पांच राज्यों के चुनाव भी अगले कुछ महीनों में होने वाले हैं। इससे ऐसे बयानों से वोट की राजनीति भी बढ़ेगी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
आरटीआइ के तहत सूचना मांगने की वजह बताएं: मद्रास हाई कोर्ट1975 LN Mishra Murder Case