मणिशंकर अय्यर बोले- सोचा नहीं था मुसलमानों को पिल्‍ले बोलने वाला देश का पीएम बन जाएगा - congress leader mani shankar aiyar tagetes prime minsiter narendra modi about PM post - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मणिशंकर अय्यर बोले- सोचा नहीं था मुसलमानों को पिल्‍ले बोलने वाला देश का पीएम बन जाएगा

अय्यर ने कहा कि तब नरेंद्र मोदी से पूछा गया कि क्या उनको दुख है कि इतने मुसलमानों की जान की कुर्बानी देनी पड़ी 2002 में। उन्होंने कहा 'एक पिल्ला भी गाड़ी के नीचे आ जाए तो दिल में कुछ चोट लगती है।'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इससे पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं। (फोटो सोर्स एएनआई)

कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद मोदी पर निशाना साधा है। अय्यर ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा है कि उन्होंने 2014 के पहले सोचा नहीं था कि एक मुख्यमंत्री जो मुसलमानों को पिल्ले समझता है पीएम बन जाएगा। उन्होंने कहा, ‘तब नरेंद्र मोदी से पूछा गया कि क्या उनको दुख है कि इतने मुसलमानों की जान की कुर्बानी देनी पड़ी 2002 में।’

उन्होंने कहा ‘एक पिल्ला भी गाड़ी के नीचे आ जाए तो दिल में कुछ चोट लगती है।’ उन्‍होंने आगे कहा, ‘मैंने सोचा नहीं था कि जिस आदमी ने ऐसा कहा हो। जो 24 दिन तक मुसलमानों के रिफ्यूजी कैंप में नहीं गया, और अहमदाबाद मस्जिद उस दिन पहुंचा जब तब के पीएम वाजपेयी आए और उनके साथ मजबूरी था।’ अय्यर ने तंज भरे शब्दों में कहा कि सोचा ही नहीं था कि ऐसा एक व्यक्ति देश का प्रधानमंत्री बन सकता है।

बता दें कि अय्यर ने गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला। मोदी ने तब उनके ही शब्दों को गुजरात चुनाव प्रचार में इस्तेमाल किया था। 2014 के पहले लोकसभा चुनाव से पहले भी उन्होंने कहा कि मोदी कभी भारत के प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं। अगर वो चाहे तो कांग्रेस वर्किंग कमेटी में आकर चाय बेच सकते हैं।

मणिशंकर अय्यर ने इससे पहले कराची में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पाकिस्तान की नीतियों पर खुशी जाहिर की थी। तब अय्यर ने कहा, ‘भारत और पाकिस्तान के बीच मुद्दों को सुलझाने के लिए सिर्फ एक ही रास्ता है-निरंतर और निर्बाध बातचीत। मुझे बहुत गर्व है कि पाकिस्तान ने इस नीति को स्वीकार कर लिया है। मगर दुख भी है कि इस वार्ता को भारतीय नीति को तौर पर नहीं अपना गया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App