ताज़ा खबर
 

चीनी भाजपाई भाई-भाई! दिग्विजय सिंह ने गुजरात दंगे के बाद चीन यात्रा लेकर पीएम मोदी पर साधा निशाना

दावा किया गया है कि 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के समय चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे एक लेख के मुताबिक चीनी कंपनियां चाहती थीं कि गुजरात में बीजेपी की सरकार बने।

narendra modi xi jinping digvijaya singh bjp congress chinaचीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ पीएम नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो साझा किया है। इस वीडियो में दिग्विजय सिंह ने चीन और भाजपाईयों को भाई-भाई बताया है। वीडियो के कैप्शन में दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि ‘शी-मोदी भाई भाई।’ दिग्विजय सिंह द्वारा शेयर की गई वीडियो में बताया गया है कि गुजरात दंगों के बाद जब यूके, अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों ने तत्कालीन गुजरात सीएम नरेंद्र मोदी पर पाबंदी लगा दी थी, उस वक्त मोदी ने चीन का रुख किया था।

वीडियो में कहा गया है कि नरेंद्र मोदी के सीएम कार्यकाल के दौरान ही चीन गुजरात में सबसे बड़ा निवेशक बन गया था। वीडियो में दावा किया गया है कि 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव के समय चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे एक लेख के मुताबिक चीनी कंपनियां चाहती थीं कि गुजरात में बीजेपी की सरकार बने। इसमें उनका फायदा है।

वीडियो के अनुसार, नरेंद्र मोदी ने केन्द्र में सत्ता में आते ही चीनी निवेश को मंजूरी दी। चीन की कंपनियों को मुफ्त में जमीन दी गई। चीन की कंपनियों ने गुजरात में 45 हजार करोड़ का निवेश किया है।

यह भी दावा किया गया है कि चीनी कंपनियों ने गौतम अडानी के मुंद्रा पोर्ट में निवेश कर उसे अपना बना लिया है। यह भी कहा गया है कि पीएम मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से अब तक 18 बार मुलाकात की है। बता दें कि भारत और चीन के बीच इन दिनों लद्दाख में सीमा विवाद काफी गहराया हुआ है। चीन की सेना बीते कई महीनों से लद्दाख के पैंगोंग त्सो झील इलाके में जमे हैं। भारत की तरफ से बातचीत के जरिए विवाद को सुलझाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन अभी तक इसमें कोई सफलता नहीं मिली है।

चीन के साथ जारी सीमा विवाद के मुद्दे पर कांग्रेस केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ काफी आक्रामक है। कांग्रेस का दावा है कि चीन द्वारा लद्दाख में कई किलोमीटर भारतीय कब्जे वाली भूमि में घुसपैठ की गई है। गलवान घाटी में दोनों देशों की सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, इसके बाद से सीमा पर तनाव काफी बढ़ गया है। हालांकि कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर बातचीत से मामले को सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पत्र लिखने वालों का समर्थन करते हुए बोले चिदंबरम- असंतोष ही बदलाव लाता है, सभी बीजेपी विरोधी; सोनिया गांधी बोलीं- घटनाक्रम से आहत हूं
2 नरेंद्र मोदी ने 11 जुलाई को लॉंच किया था जॉब पोर्टल, 69 लाख रजिस्ट्रेशन, 7700 को मिला काम
3 दिल्ली मेरी दिल्ली
ये पढ़ा क्या?
X